पटाखे की चिंगारी ने जलाए 4 दुकान

दमकल की गाड़ी हुई फेल, स्थानीय लोगों ने बुझायी आग
पटना नाउ ने दी स्थानीय पुलिस को आग लगने की सूचना,
दमकल में भरा था पानी, फिर भी हो गया फेल

आरा/गड़हनी,9 मार्च. गड़हनी में बीती रात खुशियों के पटाखे ने 4 घरों के रोजी-रोटी ही उजाड़ दिए. आसमान में बिखरती पटाखों की रंगबिरंगी चिंगारियों को देख नीचे जश्न में डूबे लोगों ने कभी इसकी कल्पना भी नही की थी कि ये जश्न किसी के लिए अशुभ बन जायेगा.




गड़हनी में बीती रात एक बारात लगाने से पूर्व बारातियों द्वारा पटाखें छोड़ने के क्रम में उससे निकली चिंगारियों ने वहाँ पास के 4 दुकान को जलाकर खाक कर दिया. जश्न में डूबे बारातियों को आग लगने की भनक तब लगी जब आग ने अपना विकराल रूप ले लिया. इस भीषण आग ने एक के एक करके चार दुकानों को अपनी चपेट में ले लिया. आग की चपेट में आने से बिजय साह की आलू दुकान,कपड़ा दुकान,सहित कई दुकान जल कर राख हो गयी. उक्त घटना गड़हनी नया बाजार रोड के पूरब साइड लगे दुकान में घटी जिससे लाखों की संपत्ति जर कर खाक हो गयी. भीषण लगी इस आग की ऊंची उठी लपटों ने बिजली विभाग के तार को भी पिघला दिया. तार पिघलने की वजह से आग की वजह को लेकर लोगों में कन्फ्यूजन की स्थिति बनी हुई है. वही प्रत्यक्षदर्शियों और स्थानीय थाना ने घटना की वजह पटाखों की चिंगारी को ही बताया है.

ग्रामीणों के सूझबूझ से टला बड़ा हादसा
चिंगारी से बनी इस भीषण आग ने लोगों के होश उड़ा दिए. आग लगने वाली जगह के पास ही गैस की दुकान थी. बढती आग की लपटों ने लोगों की बेचैनी बढ़ा दी. आग के बढ़ते इस रूप से परेशान स्थानीय लोगों ने आपसी सहयोग से आग को बुझाना चालू किया. आग की सूचना होते ही सैकड़ो ग्रामीण घटना स्थल की ओर दौड़ पड़े. आसपास स्थित घरो से पानी लाकर ग्रामीणों ने बुझाई आग जिससे पास स्थित गैस की दुकान में आग पहुचने से पहले ही आग पर काबू पा लिया गया अन्यथा बहुत बड़ा हादसा हो सकता था.

फेल हो गयी अग्निशमन की गाड़ी

नया बाजार से महज आधा किलोमीटर की दूरी पर अवस्थित गड़हनी थाना, जहां फायर सेफ्टी के लिए अग्निशमन की छोटी गाड़ी की व्यवस्था है. पटना नाउ सवांददाता मुरली ने आग लगने की जानकारी होते ही गड़हनी थाने को सूचित कर अग्निशमन गाड़ी की घटना स्थल पर मांग की लेकिन जब कुछ देर में गाड़ी नही पहुंची. थाने पहुंचने पर पटना नाउ संवाददाता ने जो दृश्य देखा वो बड़ा ही हास्यास्पद था. गाड़ी को ठेल कर कुछ पुलिसकर्मी ला रहे थे.

लेट लतीफ ठेल ठाल कर मौके पर अग्निशमन गाड़ी घटनास्थल पर तो पहुंची लेकिन हद तो तब हो गयी जब मौके पर पहुंची इस मिनी अग्निशमन से पानी ही नही निकला. गाड़ी में पानी तो था मगर पानी फोर्स के साथ नही निकल पाया. प्रभारी थाना इंचार्ज की माने तो गाड़ी तकनीकी कारणों के कारण स्टार्ट नही हुआ.
थाना प्रभारी ने पटना नाउ को बताया कि सुबह गाड़ी नारायणपुर से आग बुझा कर आई थी, जो सही अवस्था मे थाने में आई जिसमे पानी भी भरकर लाया गया था. घटना स्थल पर नाकाम रहे दमकल गाड़ी को जब थाने वापस ले जाया गया और वहाँ चेक किया गया तो पानी आना चालू हो गया. पाइप में कुछ अवरोधी तत्व फँस गए थे जिससे वो जाम हो गया था.

बता दें कि गड़हनी थाना में किसी नये थानेदार की नियुक्ति नही हुई हैं. थानेदार के तबादले के बाद वर्तमान प्रभारी थानेदार को कई कार्यों के लिये काफी फजीहत का सामना करना पड़ रहा हैं. लगभग 3 सौ की संख्या में स्थानीय लोगों ने आपसी एकता और भाईचारा का परिचय देते हुए सूझबूझ से आग पर काबू पाया. आग लगने में नुकसान बिजय सह और जितेंद्र साह,गोपाल साह का सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचा हैं.

फायर ब्रिगेड की गाड़ी की बदहाल स्थिति देखने के बाद बँगवा पंचायत समिति पति निर्मल यादव ने फायर बिग्रेट आरा को फोन कर गाड़ी मंगाया. आरा फायर ब्रिगेड को और भी कई लोगों द्वारा फोन करने की सूचना है. लेकिन जब तक फायर ब्रिगेड की गाडी पहुँचती ग्रामीणों ने आपसी सहयोग से आग पर काबू पा लिया.

आरा से ओ पी पांडेय और गड़हनी से मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट