काटजू ने किया बिहार का अपमान : पप्‍पू यादव

पाकिस्‍तान को कश्‍मीर के साथ बिहार को भी लेना होगा-काटजू 

तुरंत माफी मांगे काटजू




बिहार का इतिहास ही भारत का इतिहास है

पटना. जन अधिकार पार्टी (लो) के संरक्षक और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्‍यायाधीश मार्कंडेय काटजू ने बिहार का अपमान किया है और बिहार इसे बर्दाश्‍त नहीं करेगा. उन्‍होंने कहा कि काटजू को अपने बयान के लिए तुरंत माफी मांगनी चाहिए. उल्लेखनीय है कि  काटजू ने अपने फेसबुक पोस्‍ट में बिहार को लेकर अपमानजनक टिप्‍पणी की है, जिसमें उन्‍होंने लिखा है कि पाकिस्‍तान को कश्‍मीर के साथ बिहार को भी लेना होगा.

pappu-yadavसांसद पप्पू यादव ने कहा कि बिहार की अपनी सांस्‍कृतिक विरासत है. बिहार का इतिहास ही भारत का इतिहास है. वैशाली, बोधगया, विक्रमशीला व मगध का अपना इतिहास है. यह धर्म, संस्कृति से ले‍कर वैचारिक मनीषियों की धरती है.  उन्‍होंने कहा कि हनी-मनी में फंसे रहने वाले मार्कंडेय काटजू को पावर व ग्‍लैमर से फुर्सत नहीं मिलती है. निराधार व अपमानजनक बयानों को लेकर विवादों में रहना उनकी आदत है. इसका मतलब यह कदापि नहीं है कि उन्‍हें बिहार को गाली देने और अपमानित करने का अधिकार मिल गया है. सांसद ने कहा कि हम बिहार की ओर से उनके बयान की निंदा करते हैं.पप्पू यादव ने कहा कि मार्कंडेय काटजू के संस्‍कार में शोषण, अहंकार और नफरत है. लेकिन नफरत और अहंकार की भाषा बिहार को स्‍वीकार नहीं है. उन्‍होंने कहा कि बिहार को जिन लोगों ने मजाक का पात्र बनाया, उनके खिलाफ बिहार स्‍वयं लड़ने में सक्षम है . बिहार पर टिप्‍पणी करने का अधिकार  काटजू को नहीं है. सांसद ने कहा कि बिहार के संबंध में फैसला करने वाले काटजू कौन होते हैं. उनकी नफरत भरी नसीहत बिहार को बर्दाश्‍त नहीं है.