किसकी पढ़ाई से ‘भोजपुर का बेटा’ बना IAS ?

भोजपुरिया माटी के नीतीश ने मारी UPSC में बाजी, पूरे जिले में खुशी का माहौल

“पापा की पढ़ाई” ने बेटे को IIT से UPSC तक पहुंचाया




गड़हनी के बड़ौरा गांव का निवासी है नीतीश

गड़हनी,29 अप्रैल. कहा जाता है कि अगर हौसला और लगन हो तो किसी भी मंजिल को पाने की कोशिश अक्सर सफल हो जाती है. कुछ इसी तरह की कामयाबी जिले के बड़ौरा गांव निवासी कुंज बिहारी सिंह के पुत्र ने प्राप्त कर भोजपुर का परचम लहराया UPSC में लहराया है. संघ लोक सेवा आयोग(UPSC) का परीक्षा परिमाण घोषित होते ही जहां देश के उतीर्ण छात्रों के घर पर ख़ुशी का माहौल छा गया. वहीं भोजपुर के लाल नीतीश के पैतृक घर भी वही ख़ुशी का वही आलम दिखा. नीतीश ने इस परीक्षा में आल इंडिया में 671 वा स्थान लाकर बिहार के साथ-साथ भोजपुर का नाम रौशन किया है. जैसे ही नीतीश के गांव बड़ौरा में यह खबर मिली कि पूरा गांव ही ख़ुशी से झुमने लगा. घर वालों ने मिठाई बाँट अपने ख़ुशी का इजहार किया. विदित हो कि नीतीश ने अपनी इस कामयाबी से जिले का गौरव बढाया है. उनकी इस सफलता से घर के सभी सदस्य फुले नहीं समा रहे है.सबसे बड़ी बात यह है कि नीतीश ने यह कामयाबी महज 25 वर्ष की उम्र में ही हासिल किया है. नीतीश ने अपनी लगन और मेहनत से पहले ही प्रयास में सफलता पायी है.नीतीश के पिता कुंज बिहारी सिंह पटना जिले के संपतचक में बतौर प्रखंड विकास पदाधिकारी के रूप में कार्यरत हैं, उनकी मां बिंदु सिंह गृहिणी है तीन भाइयों में सबसे छोटे नीतीश ने चौथी बार में यह सफलता हासिल की है और उसे अच्छा रैंक मिला है.

नीतीश (फाइल फोटो)

पहली दफा UPSC की परीक्षा पास करने के दौरान नीतीश का सलेक्शन ITFO में हुआ था. तीसरी बार उन्हें इंटरव्यू में असफलता हाथ लगी थी. नीतीश का बड़ा भाई राकेश कुमार मर्चेंट नेवी में है. मांझिल भाई रवीश कुमार एमएस कर यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका के न्यूजर्सी में इंजीनियर है. नीतीश ने अपनी बोर्ड की पढ़ाई DAV पटना से की, उसके बाद BTech, IIT दिल्ली से किया.

नीतीश के पिता कुंजबिहारी सिंह ने पटना नाउ को बताया कि उन्होंने खुद नीतीश को फिजिक्स पढ़ाया, इसके बाद उसने BTech, IIT दिल्ली से किया, उन्होंने कहा कि उनका बेटा नीतीश काफी मेहनती है.

नीतीश के चाचा महेश सिंह आरा के एफिलेटेड कॉलेज में मैथमेटिक्स के प्रोफेसर हैं. वहीं एक अन्य चाचा मिथलेश सिंह आरा में व्यवसाय करते हैं. नीतीश की इस सफलता पर जिले के लोग काफी गौरवान्वित हैं. वही चाचा के लड़के असमंजस यादव भोजपुर के संदेश प्रखण्ड के पूर्व जिला पार्षद तो कृष्ण कुमार सिंह जिले के अनुमंडलीय अस्पताल प्रवन्धक जगदीशपुर में पदस्थापित हैं. तो दूसरी ओर भाई संजय सिंह के पत्नी पुष्पा कुमारी वर्तमान में सन्देश प्रखण्ड से जिला परिषद सदस्या निर्वाचित हुई हैं.नीतीश का पारिवारिक स्थिति भी समाज के कार्य और सरकारी कार्य मे महत्वपूर्ण योगदान दे रहा हैं. लोगो का कहना हैं कि नीतीश बड़े ही साफ छवि का और एक होनहार मेधावी छात्र रह चुका हैं.

गड़हनी से मूरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट