नहीं रहे जेटली | नरेंद्र मोदी, नीतीश, राशिद, सुशील मोदी ने व्यक्त की संवेदना

पटना / नई दिल्ली (ब्यूरो रिपोर्ट) | बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं देश के पूर्व वित्त मंत्री 66 वर्षीय अरुण जेटली का शनिवार को निधन हो गया है. उन्होंने दिल्ली के एम्स में दोपहर 12.07 बजे अंतिम सांस ली. वह लंबे समय से बीमारी से जूझ रहे थे तथा 9 अगस्त से ही दिल्ली एम्स में भर्ती थे. उन्हें दो सप्ताह पहले सांस लेने में तकलीफ होने के कारण एम्स में भर्ती कराया गया था. एम्स में अनुभवी डॉक्टरों की टीम की देखरेख में उनका इलाज किया जा रहा था. उनका अंतिम संस्कार रविवार को 2 बजे दिल्ली के निगम बोध घाट पर किया जाएगा.

दिल्ली के एम्स की विज्ञप्ति के अनुसार उनका निधन दोपहर 12 बजकर 07 मिनट पर हुआ. जेटली के निधन की खबर सुनने के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने अपने हैदराबाद दौरे को बीच में ही खत्म कर दिल्ली लौट गए.




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हुए दुखी
जेटली का निधन ऐसे वक्त में हुआ है जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विदेश दौरे पर अभी संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में है. प्रधानमंत्री ने यूएई से ही जेटली की पत्नी संगीता और बेटे रोहन से बात की और उन्हें सांत्वना दी. मोदी ने ट्वीट में लिखा कि “जेटली एक करिश्माई व्यक्ति थे जिनका समाज के सभी वर्गों में बहुत सम्मान था। अपने लंबे राजनीतिक करियर में उन्होंने कई मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली थी”.
पीएम मोदी 26 अगस्त को देश लौटेंगे. बताते चले कि अरुण जेटली के परिवार की ओर से किए गए आग्रह के बाद पीएम मोदी के विदेश दौरे में तत्काल कोई बदलाव नहीं किया गया है. जेटली के परिवार ने उनसे अपना विदेश दौरा जारी रखने का आग्रह किया था.

मुख्यमंत्री ने गहरी शोक संवेदना व्यक्त की
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व केन्द्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली के निधन पर अपनी गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने अपने शोक संदेश में कहा है कि अरूण जेटली जी विलक्षण प्रतिभा के धनी थे. उन्होंने भारत सरकार में कई महत्वपूर्ण मंत्रालयों की जिम्मेदारियों का कुशलतापूर्वक निवर्हन किया. वे एक उत्कृष्ट न्यायविद भी थे. उन्होंने उच्च राजनीतिक मूल्यों एवं आदर्शों की बदौलत सार्वजनिक जीवन में उच्च शिखर को प्राप्त किया. जेटली जी ने अपने व्यक्तित्व की बदौलत राजनीतिक सीमाओं के परे सभी विचारधारा के राजनीतिक दलों का आदर एवं सम्मान प्राप्त किया. नीतीश ने कहा कि अरूण जेटली जी से मेरा व्यक्तिगत संबंध था, उनके निधन से मैं काफी मर्माहत हूॅ. अरूण जेटली जी का निधन देश के लिये एक अपूरणीय क्षति है, जिसे कभी भरा नहीं जा सकता, उनकी कमी हमेशा खलेगी. मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.

बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति मो. हारुण रशीद ने जताया गहरा शोक
भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख नेता, राज्यसभा सदस्य एवं प्रसिद्ध अधिवक्ता माननीय अरुण जेटली के निधन पर बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति मो. हारुण रशीद ने गहरा शोक जताया है. उन्होंने अरुण जेटली के बारे में कहा कि वे एक असाधारण व्यक्तित्व के इंसान एवं कुशल राजनीतिज्ञ थे. वे एनडीए के शासन में केन्द्रीय रक्षा मंत्री, विधि मन्त्री, वित्त मंत्री के साथ-साथ कई बड़े पदों पर आसीन थे. जेटली एक कुशल खेल प्रशासक थे. उनके निधन से हमसब को अपार दु:ख है. उनका निधन भारतीय राजनीति में एक शून्यता हमेशा खलेगी और यह हमसब के लिए अपूरणीय क्षति है.