देश तानाशाही की ओर बढ़ रहा – लालू

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | 106 दिन प्रोविजनल बेल पर रहने के बाद बुधवार दोपहर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव रांची के लिए प्रस्थान कर गए. उन्हें बृहस्पतिवार को रांची में सीबीआई की विशेष अदालत में सरेंडर करना है. ज्ञातव्य है, पिछले शुक्रवार को झारखंड उच्च न्यायालय द्वारा लालू के प्रोविजनल बेल की अवधि बढ़ाने की मांग को खारिज कर दी गई थी, जिसके बाद उन्हें 30 अगस्त तक सरेंडर करने को कहा गया था.
रांची प्रस्थान करने के पहले उन्होंने मीडिया से कहा कि मेरी तबीयत अभी पूर्ण रूप से ठीक नहीं है, मुझे किडनी, शुगर, ब्लड-प्रेशर इत्यादि की बीमारी है. लालू को देखने से वह बीमार प्रतीत हो रहे थे.

106 दिनों बाद लालू यादव ने मीडिया से खुल कर बात की




लालू ने कहा कि उन्हें न्यायालय पर पूरा भरोसा है, और उन्हें विश्वास है कि उन्हें जल्द से जल्द न्याय मिलेगा. लालू ने बताया कि अस्पताल में आराम करना उनका शौक नहीं है. मुझे न्याय मिलेगा, आज नहीं तो कल मिलेगा और मुझे न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. उन्होंने कहा कि अदालत मुझे जहां भेजेगी, मैं जाऊंगा. मुझे कोई जोर जबरदस्ती नहीं है.
पांच मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के मामले में लालू ने कहा कि आज हमारा देश तानाशाही की ओर बढ़ रहा है. लालू का कहना था कि मोदी जी डर गए हैं कि उनकी हत्या हो जाएगी. यह देश के प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता. उन्होंने आगे कहा कि आज देश में किसके साथ कब, कैसे और कहां गिरफ्तारी हो जाएगी या किसी के साथ क्या हो जाएगा, किसी को मालूम नहीं. देश में आज हालत इमरजेंसी की तरफ बढ़ चला है.

देश तानाशाही की ओर बढ़ रहा – लालू

लालू ने कहा कि उनके व उनके परिवार के ऊपर जितने भी मुकदमे दर्ज हैं, वे सब झूठे हैं. मुझे और मेरे परिवार को किस तरह घेरे में रख कर तनाव में रखा जाए, इसकी पूरी कोशिश की जा रही है, ताकि अगले चुनाव में औरों के लिए काम आसान हो जाए.
बिहार की स्थिति के बारे में लालू ने एक कहावत कही, जब रोम जल रहा था, तब नीरो बंसी बजा रहा था. उन्होंने कहा कि आज बिहार में रोज हत्या, बलात्कार, महिलाओं के साथ अत्याचार आदि हो रहे हैं. यहां कानून का कोई राज नहीं रह गया है. उनके अनुसार नीतीश कुमार तानाशाह हो गए हैं.

लालू ने कहा- जब रोम जल रहा था, तब नीरो बंसी बजा रहा था