लाल बालू के काला खेल पर चला प्रशासन का डंडा, बालू माफिया के बीच मचा हड़कम्प

कोइलवर | बुधवार को डीएम रौशन कुशवाहा, एसपी सुशील कुमार, एएसपी नितिन कुमार, एसडीओ अरुण प्रकाश, एसडीपीओ पंकज कुमार, डीटीओ माधव कुमार सिंह, खनन पदाधिकारी प्रमोद कुमार , कोइलवर थानाध्यक्ष रंजीत कुमार, चांदी कुंवर गुप्ता, संदेश सुदेह कुमार, बड़हरा प्रशान्त कुमार समेत सीओ संजीव कुमार व भारी संख्या में पुलिस बल अचानक कोइलवार थाना पहुँचे. थानाध्यक्ष के चैंबर में अधिकारियों के बीच बैठक हुई. डीएम के निर्देश मिलते ही सभी पदाधिकारी हरकत में आये और सारी गाड़िया थाना से निकल बबुरा की ओर दौड़ पड़ी. लोगो को समझ नही आ रहा था की अचानक इतनी संख्या में पुलिस फोर्स कहा छापेमारी में जा रही है. अचानक भारी संख्या में पुलिस बल व अधिकारियों की वाहनों को देख लोग सकते में आ गए. इसी बीच लोगो को सूचना मिली कि सुनहले बालू पर प्रशासन का डंडा चलने वाला है. सभी वाहन बड़हरा थाना क्षेत्र के फुहा में बालू घाट पर जा रुकी. जिसके बाद वहाँ अवैध खनन में लगे ट्रैक्टर को जब्त कर लिया. इस छापेमरी कि सूचना पूरे क्षेत्र में जंगल की आग की तरफ बालू माफिया ने फैला दी. जिसके बाद अधिकारी व पुलिस बल महादेव चक स्थित महुई घाट पहुँचे जहाँ एक सौ से ज्यादा ट्रैक्टर दियरा क्षेत्र में बालू की अंधाधुंध अवैध कटाई कर रहे थे. भारी संख्या में पुलिस बल आता देख सुनहले रेत के काला कारोबार कर रहे लोगो के बीच हड़कम्प मच गया. इधर अधिकारियों का इशारा मिलते ही पुलिस के जवान बालू माफियाओं को पकड़ने के लिए दौड़ पड़े.




जिनमे कुछ हाथ आये पांच दर्जन ट्रैक्टर को पकड़, अधिकारी आगे खदान की ओर बढ़े इसी बीच स्थानीय ट्रेक्टर चालक अपना जब्त ट्रैक्टर छोड़ने के लिए लाठी बल पर दबाव बनाने लगे और कई ट्रैक्टर चालक दियरा क्षेत्र में वाहन ले भागने लगे. इसी बीच हड़कम्प मच गया. जिसमें दो जवानों को हल्की चोट भी आई है.

कोईलवर से अमोद कुमार की रिपोर्ट