किसने दिया इस्तीफा और कौन खोलेगा किसकी पोल ?

जद यू युवा के दो कद्दावर नेताओं का इस्तीफा
पार्टी के शीर्ष नेताओं पर भेदभाव करने का आरोप

आरा,26 दिसम्बर. राजनीति भी अजीब होती है. अपनी कुर्सी के लिए कौन, किसका और कब दोस्त से प्रतिद्वंद्वी बन जायेगा कहा नही जा सकता. यही कारण है कि जीत के समीकरण हर बार कुछ नया रंग दिखा जादुई असर का कारनामा से लेकर जनता तक को कटघरे में खड़ा कर देते हैं तो कभी सर पर भी बिठा देते हैं. राजनीतिक अखाड़े का एक चाल राजनीतिक गलियारे में भूचाल ला देता है.




ऐसा ही भूचाल मंगलवार को तब आया जब युवा जद यू के बिहार प्रदेश के दो कद्दावर नेताओं ने पार्टी के शीर्ष नेताओं पर भेदभाव का आरोप लगा इस्तीफा दे दिया. प्रदेश महासचिव नवीन कुमार तथा जनता दल यूनाइटेड बिहार प्रदेश के महादलित प्रकोष्ठ के उपाध्यक्ष मनु राठौर ने अपने-अपने पदों से इस्तीफा दे दिया है. दोनों नेताओं ने पार्टी के प्रदेश नेतृत्व पर पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ उपेक्षापूर्ण नीति का आरोप लगाते हुए प्रदेश के शीर्ष नेताओं को जिम्मेदार ठहराया है. मंगलवार को दोनों नेताओं ने जदयू की प्राथमिक सदस्यता के साथ- साथ अपने पदों से भी त्यागपत्र दे दिया. दोनों ने एक बयान जारी कर कहा कि पार्टी में कार्यकर्ताओं के मान-सम्मान पर कुठाराघात तथा दलितों-पिछड़ों के स्वाभिमान से भी खिलवाड़ की जा रही थी. उनके अनुसार पार्टी के शीर्ष नेताओं के अकुशल एवं अमर्यादित व्यवहार व रवैया के कारण पार्टी से इस्तीफा देना पड़ा है. इस्तीफा देने के साथ ही साथ यह भी कहा कि हिंदुस्तान की एक बहुत बड़ी राजनैतिक पार्टी की सदस्यता प्राप्त कर जल्द ही बड़ी जिम्मेदारी लेंगे और हीर प्राप्त कर सुशासन की पोल खोलने वाले हैं..

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट