कलाकारों पर नगर निगम की दादागिरी का विरोध

पटना आयुक्त से मिलेंगे कलाकार और स्थानीय लोग 

आठ दिनों से हैं धरना पर हैं कलाकार 




कलाकारों को  हटाने का जबरन  प्रयास

स्थानीय नागरिक भी नहीं चाहते हैं डम्प हो कूड़ा 

प्रेमचन्द रंगशाला और प्रेमचन्द की प्रतिमा के पास डंप होता है कूड़ा 

029aae11-36f6-4a90-888d-7515acc1d34a bbc51d07-f5e5-454f-af60-e932a6696ab4

प्रेमचंद गोलंबर के सटे कूड़े के डंपिंग यार्ड को ख़त्म करने के लिए कलाकार साझा संघ (KSS) एवं नागरिक विकास समिति के तत्वावधान में लगातार आठवां दिन धरना जारी रहा.  सुबह 7:30 बजे एक दर्जन नगर निगम के पदाधिकारी अपने दल-बल के साथ ट्रैक्टर से कूड़ा गिराने के लिए पहुंचे. जब कलाकारों के द्वारा इसे रोक गया और आग्रह किया गया कि हमें नारकीय स्थिति से उबारें ना की हमारी जिंदगी को ही नरक बना दें।.उसपर नगर निगम के पदाधिकारियों द्वारा धमकी देते हुए कहा गया कि हम यहाँ कूड़ा गिराएंगे. 12 बजे के करीब पुलिस फोर्स के साथ EO, नगर निगम और एक दर्जन पदाधिकारी अपने दल-बल के साथ आ धमके. पुरे रोष में और कलाकारों पर हंगामा करने, सरकारी काम में दखल देने का आरोप लगाते हुए धमकाने लगे. कलाकारों को  वहां से हटाने का जबरन  प्रयास करने लगे.कलाकारों और नागरिकों ने उनके इरादे को धराशाही करते हुए आग्रह किया कि आपको जितनी इच्छा हो कूड़े का उठाओ कराएं. हम उसमे सहयोग करेंगे. लेकिन अब यहाँ कूड़ा गिराने नहीं देंगे. उतने में ही स्थानीय विधायक अरुण कुमार सिन्हा जी आगए और EO और कर्मचारियों से स्थिति का जायजा लिया. नगर आयुक्त से बैठक करने की बात किया और कलाकारों और नागरिकों से आग्रह किया कि कल 3 बजे नगर आयुक्त के साथ बैठ कर इस मामले को यथाशीघ्र निपटाएं.  धरना में अर्चना सोनी, सनत कुमार, अजित कुमार, मृत्युंजय प्रसाद, हीरा लाल, कुंदन कुमार, संतोष राजपूत, रत्नेश्वर प्रसद, प्रतुल्य कुमार, अभय शंकर आदि शामिल हुए.