नहीं रहे बिहार के पूर्व CM जगन्नाथ मिश्रा | मुख्यमंत्री ने जताया शोक

पटना, 19 अगस्त. लंबे समय से बीमार चल रहे बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा का आज दिल्ली में निधन हो गया. वे 82 वर्ष के थे. वे बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रहे. अपने राजनीतिक जीवन मे पहली बार 1975 में मुख्यमंत्री बने और अप्रैल 1977 तक रहे. उसके बाद 1980 में उन्होंने तीन साल के लिए मुख्यमंत्री पद की कमान संभाली. फिर 1989 में तीन महीने के लिए सीएम रहे. उनपर चारा घोटाले का भी दाग रहा जिसकी वजह से कई महीने उन्हें जेल में बितानी पड़ी. जगन्नाथ मिश्रा लंबे समय तक कांग्रेस में रहे. भाई एलएन मिश्रा की हत्या के बाद 80 के दशक में वह राजनीति के केंद्र में आए थे. उनका पुत्र नीतीश मिश्रा अब भारतीय जनता पार्टी में शामिल है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताया शोक
डॉ मिश्रा के निधन पर नीतीश कुमार ने गहरा शोक व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री ने अपने शोक-संदेश में कहा है कि डाॅ जगन्नाथ मिश्रा एक प्रख्यात राजनेता एव शिक्षाविद् थे. बिहार के साथ-साथ देश की राजनीति में उनका बहुमूल्य योगदान रहा है. उनके निधन से न केवल बिहार बल्कि पूरे देश की राजनीतिक, सामाजिक एव शिक्षा के क्षेत्र में अपूरणीय क्षति हुई है.
मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर-शान्ति तथा उनके परिजनों एव प्रशंसकों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है.
डाॅ जगन्नाथ मिश्रा के निधन पर राज्य में तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की गयी है. उनका अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जायेगा.