कहीं यह ‘मुजफ्फरपुर शेल्टर-होम’ जैसी घटना तो नही ? आज पीड़ितों से मिलेंगे पप्पू यादव

भोजपुर आरा में बेलौटी शाहपुर प्रखंड की घटना हु-ब-हु मुज्जफरपुर सेल्टर होम जैसा मामला है, CBI से हो जाँच हो




आरा,5 जुलाई. शाहपुर प्रखंड में कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय बिलौटी से फरार दो लड़कियों एवं ग्रामीणों द्वारा उनकी बरामदगी को लेकर जान अधिकार पार्टी ने जिला मुख्यालय आरा में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. प्रेस कॉन्फ्रेंस आरा के आई बी स्टेशन में किया गया जिसमें जाप के जिलाध्यक्ष डॉ ब्रजेश कुमार सिंह ने उक्त घटना को बहुत ही गंभीर बताया. जिलाध्यक्ष ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इस पर सीधा मुख्यमंत्री को संज्ञान लेना चाहिये. उन्होंने कहा कि कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राओं के साथ सफेदपोश और अधिकारी की संलिप्तता की बात सामने आ रही हैं.


जन अधिकार पार्टी ने चिंता करते हुए कहा कि भोजपुर में घटित यह मामला मुज्जफरपुर शेल्टर होम का हु-ब-हु दूसरा अध्याय लगता है,जिसकी सीबीआई जांच होनी चाहिए. बताते चलें कि भोजपुर जिला के अंतर्गत ऐसे 14 बालिका छात्रावास हैं. इन विद्यालयों में भी जाप ने ऐसी काली करतूत की आशंका ब्यक्त की और इसकी सघन जांच की मांग की.

इस मामले पर जाप ने किये ये सवाल :

  1. आखिरकार कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय बेलौटी में प्रताड़ना का मामला नहीं है तो लड़कियां और एक अन्य महिला रात को 1:00 बजे चाहरदीवारी फान कर क्यों भाग रही थी?
    2.जब 2014 में उदवंतनगर कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में दुर्व्यवहार का मामला उजागर हुआ तो प्रशासन ने इतने साल के बाद भी सावधानी क्यों नही बरती और इस पर क्यों त्वरित कार्रवाई क्यों नही हुई?
  2. जब ऑन रिकॉर्ड वीडियो में लड़की बोल रही है कि रात में मुखिया आता था तो अभी तक मुखिया पर FIR और कार्रवाई क्यों नहीं हुई?
  3. छात्रावास में CCTV कैमरे कैसे हो गए खराब? कहीं जानबूझकर तो इन्हें खराब नही किया गया? इसकी भी जांच होनी चाहिए.

जाप ने कहा कि अभी तत्काल में बालिका छात्रावास में बालिकाएं डर से सहमी हुई हैं उनसे भी को महिला पुलिस द्वारा सुरक्षा 24 घंटा देना चाहिए. 6 जुलाई को जाप के रास्ट्रीय अध्यक्ष राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय बेलौटी प्रताड़ित हुई छात्राओं से मिलने आ रहे हैं. जाप नेताओं ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि इस मामले पर उचित कार्रवाई नहीं हुयी तो उग्र आंदोलन होगा.

प्रेस वार्ता में प्रदेश सचिव मनोज सिंह, यूवा जिलाध्यक्ष रघुपति यादव, प्रखंड अध्यक्ष संतोष कुमार, विश्वविद्यालय अध्यक्ष सुजीत कुशवाहा,लड्डू यादव, रितेश कुमार , दीपक यादव सहित अन्य कार्यकर्ता भी मौजूद थे.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट