आज है इंटरनेशनल इन्टरनेट डे

आज है इन्टरनेट डे

आज इंटरनेट ह्म सभी के लिए एक बहुत बड़ी आवश्यकता बन गया है,आज इन्टरनेट डे है और बगैर इन्टरनेट के जीवन आज अधूरा लगता है. इंटरनेट हमारी दुनिया का अहम हिस्‍सा बन चुका है. आज पूरी दुनिया में प्रतिदिन 182.9 अरब ई मेल भेजे जाते हैं. पहला ई मेल 46 साल पहले भेजा गया था . तब ARPANET के जरिए ‘LO’ संदेश के साथ पहला ई मेल भेजा गया था. ई मेल में Login की जगह ‘LO’ लिखा गया था क्‍योंकि कंप्‍यूटर क्रैश हो गए थे. ई मेल से बात करने वाले कंप्‍यूटर आज  UCLA, SRI इंटरनेशनल, UC सैंटा बारबरा और यूटाह यूनिवर्सिटी में रखे गए हैं. पहला ई मेल रात 10.30 बजे भेजा गया था. ई मेल भेजने के लिए ARPANET या एडवांस्‍ड रिसर्च प्रोजेक्‍ट एजेंसी नेटवर्क का इस्‍तेमाल किया गया, जो बाद में इंटरनेट का आधार बना और हमारी दुनिया बदल गई.अब तो तेजी से इन्टरनेट के जरिए सारे काम मिनटों में संपन्न हो रहे है . 1969 इंटरनेट अमेरिकी रक्षा विभाग के द्वारा UCLA के तथा स्टैनफोर्ड अनुसंधान संस्थान कंप्यूटर्स का नेटवर्किंग करके इंटरनेट की संरचना की गई।




imagestech-tree-petenice-1-7-12

  • 1979′ ब्रिटिश डाकघर ने पहला अंतरराष्ट्रीय कंप्यूटर नेटवर्क बना कर नये प्रौद्योगिकी का उपयोग करना आरम्भ किया.
  • 1980 बिल गेट्स का आईबीएम के कंप्यूटर्स पर एक माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम लगाने के लिए सौदा हुआ.
  • 1984 एप्पल ने पहली बार फ़ाइलों और फ़ोल्डरों, ड्रॉप डाउन मेनू, माउस, ग्राफिक्स का प्रयोग आदि से युक्त “आधुनिक सफल कम्प्यूटर” लांच किया.
  • 1989 टिम बेर्नर ली ने इंटरनेट पर संचार को सरल बनाने के लिए ब्राउज़रों, पन्नों और लिंक का उपयोग कर के वर्ल्ड वाइड वेब बनाया.
  • 1996 गूगल ने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय में एक अनुसंधान परियोजना शुरू किया जो कि दो साल बाद औपचारिक रूप से काम करने लगा.
  • 2009 डॉ स्टीफन वोल्फरैम ने “वोल्फरैम अल्फा” लांच किया.