भारत को मिले अब तक 22 गोल्ड,हॉकी मेंस टीम को सिल्वर मेडल




कॉमनवेल्थ गेम 2022
बैडमिंटन में भारत ने जीते 3 गोल्ड मेडल, शरत कमल ने भी किया कमाल
क्लोजिंग सेरेमनी में भारत के ध्वज वाहक होंगे शरत कमल और निकहत जरीन

भारतीय टीम ने अब तक कॉमनवेल्थ गेम्स में शानदार प्रदर्शन किया है. आज गेम के आखिरी टीम भारत की नजर कई गोल्ड पदकों पर थी. पीवी सिंधु, लक्ष्य सेन, सात्विकसाइराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी बैडमिंटन में गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है. टेबल टेनिस में शरथ कमल ने भी गोल्ड मेडल जीता. वहीं हॉकी में इंडिया मेंस टीम ने सिल्वर मेडल जीता. कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के क्लोजिंग सेरेमनी में भारत के ध्वज वाहक टेबल टेनिस के सुपर स्टार शरत कमल और बॉक्सिंग में गोल्ड जीतने वाली विश्व चैंपियन निकहत जरीन होंगी.

11वें दिन की हाईलाइट
वीमेंस सिंगल्स मुकाबले में पीवी सिंधु ने जीता गोल्ड मेडल
मेंस सिंगल्स मुकाबले में लक्ष्य सेन ने जीता गोल्ड मेडल
सात्विकसैराज रंकीरेड्डी / चिराग शेट्टी ने जीता गोल्ड मेडल
टेबल टेनिस में शरत कमल ने जीता गोल्ड मेडल
हॅाकी फाइनल- ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 7-0 से हराया

भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु अपने गोल्ड मेडल मुकाबले 21-15 और 21-13 से मैच को सिंधु ने अपने नाम करते हुए पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स गोल्ड मेडल हासिल किया.मेंस सिंगल्स फाइनल गेम में अचंता शरथ कमल ने इंग्लैंड के लियाम पिचफोर्ड को हराकर गोल्ड मेडल जीत लिया. लियाम पिचफोर्ड के खिलाफ खेलते हुए कमल ने पहला गेम 11-13 से जीता लिया फिर कमल ने लगातार दूसरे गेम में लियाम पिचफोर्ड को 11-7, 11-2 से हराकर गेम में 2-1 की बढ़त बना ली थी. तीसरे गेम में कमल ने 11-6 और चौथे गेम को 11-7 से जीत लिया.
लक्ष्य सेन ने मेंस सिंगल्स मैच में गोल्ड मेडल जीत लिया. तीसरे और डिसाइडिंग गेम को लक्ष्य ने 21-16 से जीत लिया. मलेशिया के यंग एनजे के खिलाफ उतरे युवा सनसनी ने पहले गेम में अच्छी शुरुआत करते हुए 5-2 की बढ़त हासिल कर मैच आगे बढ़ाया. इसके बाद कुछ अपनी गलतियों की वजह से अंक गंवाया.


12 साल पहले नई दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स में जो हुआ था, बर्मिंघम गेम्स 2022 में भी वही नजारा दिखा. न नतीजा बदला, न हालत. ये कहानी है भारतीय पुरुष हॉकी टीम की, जिसे एक बार फिर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ करारी हार का सामना करना पड़ा और फिर सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा. जबरदस्त प्रदर्शन के दम पर फाइनल में पहुंची भारतीय टीम को विश्व की सबसे मजबूत टीमों में से एक ऑस्ट्रेलिया ने 7-0 से बुरी तरह हराया और लगातार सातवीं बार गेम्स में पुरुष हॉकी का गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया.

PNCDESK