एचडीएफसी बैंक का पूरा एटीएम मशीन उखाड़ कर ले भागे बदमाश, एटीएम में थे 21 लाख कैश

स्कॉर्पियो में लादकर ले गए एटीएम, मुंह ताकती रह गयी पुलिस

स्कॉर्पियो में रस्सा बांधकर उखाड़ डाला एटीएम मशीन




सैप के जवान के कंधे पर टंगी रह गई बंदूक और सामने से निकल भागे चोर

एसएसपी सीटी एसपी भी पहुंचे जाँच पड़ताल करने

खाली छोड़ गए एटीएम

फुलवारी शरीफ ,अजीत। राजधानी पटना हैरान कर देने वाली घटना को चोर बदमाशो ने अंजाम दिया है । फुलवारी शरीफ के गुलिस्तान मुहल्ला में स्थित एचडीएफसी बैंक का पूरा एटीएम मशीन ही उखाड़ कर स्कॉर्पियो पर लादकर चोर बदमाशों के गिरोह लेकर भाग गये। एटीएम मशीन को बदमाशो ने रस्सा लगाकर स्कॉर्पियो का सहारा लेकर उखाड़ डाला ।


इस घटना को आधी रात कई लोगो ने देखा और वहां गश्त कर रहे दो सैप जवानों को बदमाशो को पकड़ने के लिए बोले लेकिन पुलिस जवानों का साहस हथियार बन्द बदमाशो को रोकने की नही हुई । करीब 15 मिनट में ही बदमाशो ने पूरा एटीएम मशीन उखाड़ डाला , जिसमे करीब 21 लाख कैश था। 21 लाख कैश समेत पूरा एटीएम मशीन को लेकर भागने की घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कम्प मच गया। एसएसपी सिटीएसपी थानेदार समेत पूरा पुलिस प्रशासनिक अमला मौका ए वारदात पर गुलिस्तां मुहल्ला पहुंचे और तहकीकात में जुट गये। एटीएम मशीन उखाड़कर के भागने वाले बदमाशो ने सीसीटीवी कैमरा भी तोड़ डाले । इस घटना को शातिर अपराधियो द्वारा अंजाम दिया गया है। सिटी एसपी अशोक मिश्रा ने बताया कि करीब 21 लाख कैश एटीएम मशीन में था। स्कॉर्पियो सवार अपराधियों ने पूरा एटीएम मशीन को ही उखाड़ कर ले भागे हैं। पुलिस पूरे इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। इसके अलावा अन्य तरीके से बदमाशो का पता लगाया जा रहा है।

     जानकारी के मुताबिक बदमाशों ने ख़ानक़ाह मुजिबिया मोड़ के पास लगे मेला का फायदा उठाकर गुलिस्तां मुहल्ला में मो आरिफ के मकान में लगा एचडीएफसी का एटीएम मशीन को उखाड़ डाला। बताया जाता है कि खंती की मदद से अपराधियों ने एटीएम मशीन उखाड़कर ले भागे। इससे पहले स्कॉर्पियो से आए चोरों के इस गिरोह ने सीसीटीवी कैमरे को तोड़ एटीएम मशीन ही उखाड़ कर ले भागा । घटना से कुछ दूर पर खड़े सैफ के जवानों ने चोरों के इस घटना को अंजाम देते हुए देखा लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि सैफ के जवानों के कंधे पर बंदूक टंगी की टंगी रह गई । दो की संख्या में रहे सिपाहियों ने चार की संख्या में रहे हथियार बन्द अपराधियों से लड़ना मुनासिब नही समझा । इस सम्बंध में स्थानीय थानेदार ने दोनों पुलिस जवानो से जब पूछा कि अपराधियों को आपने पकड़ने के लिए एक्शन क्यों नही लिया तब दोनो जवानों की बोलती बंद हो गयी। पुलिस जवानों ने अपनी जान पर खतरा जान अपराधियों पर गोली नही चलाई । 

आसपास के लोगों से मिली जानकारी के अनुसार फुलवारी शरीफ के ईसापुर में एचडीएफसी बैंक का एटीएम स्थित है । बुधवार की रात्रि लगभग सवा एक बजे स्कॉर्पियो से सवार 4 की संख्या में चोर एटीएम के पास पहुंचे और पूरा एटीएम उखाड़ कर गाड़ी में रख लिया । चोरों के इस दुस्साहस को महज कुछ दूर पर खड़े थाना के पैदल गस्ती कर रहे सैफ के जवानो ने चोरों के इस दुस्साहस को देखा । इसके बावजूद भी सैफ के जवान और अधिकारी ने गोली चलाना या उन्हें रोकना उचित नहीं समझा और चोरों का यह गिरोह आराम से एटीएम को उखाड़ कर अपने गाड़ी में लोड कर सामने से निकल भागा । यह पूछे जाने पर कि सैफ के जवानों ने गोली क्यों नहीं चलाई छूटते ही सैफ के जवान ने कहा कि गोली चला देते तो इसकी जिम्मेवारी कौन लेता । साथ ही बदमाशो के पास भी हथियार था जिससे उनलोगों को अपनी जान का खतरा था।

जानकारी के मुताबिक इस एटीएम में बुधवार की दोपहर लगभग 3:00 बजे 12 लाख रुपए स्टॉल करने की बात बताई जा रही । चोरी के वक्त एटीएम में कितने पैसे थे यह पूछे जाने पर एक अधिकारी ने बताया कि पूरी काउंटिंग के बाद ही यह स्पष्ट होगा कि एटीएम में कितने पैसे थे ।
मकान मालिक मोहम्मद आरिफ ने बताया कि रात्रि लगभग सवा 1:00 बजे एक स्कॉर्पियो पर 4 लोग सवार एटीएम के नजदीक तेजी से आए । सभी ने अपने चेहरे को गमछे से ढक रखा था । चोरों ने मास्क और गमछा भी लगा रखा था सबके पास हथियार था। मकान मालिक ने जब बदमशों को ललकारा तब गोली मार देने की धमकी देकर चुप करा दिया गया। लोगो ने बताया कि उस वक्त मकान मालिक मोहम्मद आरिफ की मां जोर से कौन है , कौन है कह कर चिल्लाने लगी । छत से देखा तो पाया कि चार लोग अपने चेहरे पर गमछी लपेट एटीएम को उखाड़ कर गाड़ी में रख कर भाग रहे हैं । हो हल्ला और शोर-शराबे के बीच रात्रि के वक्त कुछ लोग वहां पहुंचे तब तक चोर अपना काम करके भाग चुके थे ।

घटना को काफी कम समय में जिस तरह से अंजाम दिया गया है उससे यह साफ स्पष्ट है कि सभी अपराधी एटीएम उखाड़ने के लिए पहले से पूरी तरह से प्रशिक्षित थे। बताया जाता है कि एटीएम में घुसने के साथ ही महज 10 से 15 मिनट के अंदर ही मशीन को उखाड़ कर अपने गाड़ी में लोड किया और तेजी से थाना के सामने से होते हुए भाग निकला । घटना के बाद फुलवारी थाना के कई पुलिस अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए और इसकी जानकारी थाना प्रभारी को दी गई । सूचना पाकर घटना स्थल पर पहुंचे थाना प्रभारी ने सैफ के जवानों को जमकर फटकार लगाते हुए कहां की उन्होंने गोली क्यों नहीं चलाई । इस पर सैफ के जवानों ने थाना प्रभारी को दो टूक शब्दों में जवाब देते हुए कहा कि अगर वह गोली चला देते तो इसकी जिम्मेवारी कौन लेता ।
एटीएम प्रभारी राजू सिंह से बात करने पर उन्होंने बताया कि सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है । सीसीटीवी फुटेज के बाद ही मामले के अस्पष्ट जानकारी मिल सकेगी ।

थानाध्यक्ष ने बताया कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है। वहीं अपराधियों का पता लगाने के लिए इलाके में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है। अपराधियों ने एटीएम मशीन को रस्सा लगाकर उखाड़ा और गाड़ी में लोडकर निकल भागे।