शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन

कोइलवर/भोजपुर (आमोद कुमार की रिपोर्ट) | कोईलवर प्रखंड के मध्य विद्यालय बालक कोईलवर में भव्य शिक्षक सम्मान-सह-विदाई समारोह का आयोजन बृहस्पतिवार 31 जनवरी को किया गया. इस समारोह में सेवानिवृत्त निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी, अंचल- कोईलवर -सह- प्रधानाध्यापक मध्य विद्यालय बालक कोईलवर, शंभूनाथ पाठक, विरेन्द्र सिंह, कन्या प्राथमिक विद्यालय, खनगांव, नन्द जी राम, उमवि कुंजन टोला, प्रमिला सिंन्हा, मवि सकड्डी, राम बली भारती, प्रावि टी.बी. सेंटोरियम, मो. मुस्तफा, उमवि देवरिया, सुरेश प्रसाद, कन्या मवि कोईलवर और सूर्य नारायण राय, कन्या मवि चांदी को अंगवस्त्र, अभिनन्दन पत्र, बैग और भारतीय संविधान सहित अन्य सामान देकर सम्मानित किया गया. इस आयोजन ने शिक्षकों की गरिमा और संकल्प को रेखांकित करने का मार्ग प्रशस्त किया है.

समारोह में जिले के सभी शिक्षक संगठनों के शिक्षक साथी, ने अपने वक्तव्य में शिक्षकों की भूमिका को रेखांकित किया और सेवानिवृत्त होने शिक्षकों का अनुकरण करने की बात कही. सर्वप्रथम, छात्राओं ने स्वागत गीत से सेवानिवृत्त शिक्षकों एवं आगंतुकों का स्वागत किया और शिक्षिका अर्चना कुमारी ने अंत में अपने विदाई गीत से भाव विभोर कर दिया. लोकगीत के मूर्धन्य कलाकार सुदर्शन तिवारी शाहबादी, विरेन्द्र ओझा विमल, अनिता कुमारी और साथियों ने अपने गीत-संगीत से कार्यक्रम में चार चांद लगाने का कार्य किया.




इस शिक्षक सम्मान समारोह की अध्यक्षता भोजपुर जिले के लिए एक आदर्श के रुप में प्रतिस्थापित प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी कोईलवर, हीरालाल सिंह तथा मंच संचालन जाने माने कवि, साहित्यकार, शिक्षक राजाराम सिंह “प्रियदर्शी” ने किया.

इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करने वालों में जिले के प्रतिष्ठित शिक्षकों में प्राथमिक शिक्षक संघ भोजपुर के अध्यक्ष, हरेंद्र राय, जिला सचिव, उमेश कुमार सिंह,राम भूषण उपाध्याय, नन्द जी सिंह, राजेंद्र ओझा, प्राथमिक शिक्षक संघ (गोपगुट) भोजपुर के जिला उपाध्यक्ष, कृष्ण सिंह विमल, जिला कोषाध्यक्ष, मनोज कुमार किरण, अस्दुल्लाह हैदर, प्रधानाध्यापक, कृष्ण कुमार सिंह, राम एकबाल सिंह, शाहपुर से पधारे भुनेश्वर पांडेय,हरेराम तिवारी प्रमुख रहे.

शिक्षक सम्मान समारोह के सफलतापूर्वक आयोजन में कोईलवर प्रखंड के सभी प्रधानाध्यापकों,संकुल संसाधन समन्वयकों, शिक्षक शिक्षिकाओं और प्रखंड साधनसेवियों का सराहनीय योगदान रहा. बीआरपी, मुस्ताक मुहम्मद, छेदी प्रसाद, प्रताप कुमार सहित सीआरसीसी, मकसूद जमाल, विजय कुमार,उदय कुमार सिंह, रामा शंकर शर्मा, संतोष कुमार ने इसे सफल बनाने में अपनी महती भूमिका अदा की.