BREAKING : पूर्व मेयर समेत दो को गोलियों से किया छलनी

मुजफ्फरपुर (ब्यूरो रिपोर्ट) | शहर के पूर्व मेयर और उनके ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मुजफ्फरपुर के बनारस बैंक चौक पर पूर्व मेयर समीर कुमार और उनके ड्राइवर की रविवार शाम करीब 6.30 बजे अपराधियों ने AK-47 से भून डाला. दोनों की मौत मौके पर ही हो गई. हत्या इतने खौफनाक ढंग से की गई कि समीर कुमार का शव पहचान में नहीं आ रहा है. उसके गर्दन और चेहरे पर कई गोलियां दागी गई. आगे की सीट पर बैठे समीर कुमार को करीब से एक दर्जन से अधिक गोलियां मारी गई. चालक को भी करीब इतनी ही गोलियां लगीं. किसी के कुछ समझ में आता, इसक पहले अपराधी घटना को अंजाम देकर आराम से भाग निकले. स्थानीय लोगों ने बताया कि घटना को अंजाम देकर दोनों बाइक सवार अपराधी बूढी गंडक नदी के बांध की ओर भाग निकले.
शाम करीब साढ़े छह बजे समीर कुमार अखाड़ाघाट स्थित अपने होटल से निकलकर घर आ रहे थे. बांध रोड होते हुए उनकी गाड़ी फायर ब्रिगेड कार्यालय से जैसे ही आगे बढ़ी, अपराधियों ने कार को चारों ओर से घेर कर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी. जिस कार में वे सवार थे, वह उनकी पत्नी वर्षा रानी के नाम से निबंधित है. हत्या के बाद इलाके में सनसनी फैल गई है. सैकड़ों की संख्या में लोग घटनास्थल जुट गए हैं. बड़ी वारदात के कारण पुलिस व प्रशासन अलर्ट पर है. सूचना मिलते ही नगर

समीर कुमार
फाइल फोटो

डीएसपी मुकुल रंजन और नगर थानेदार मो. सुजाउद्दीन समेत कई थानों की पुलिस छानबीन के लिए पहुंची. पुलिस दोनों शवों को एसकेएमसीएच ले गई और मौके से कार को हटा लिया है. नगर डीएसपी का कहना है कि इलाके में नाकेबंदी कर दी गई है और आरोपियों की तलाश के लिए छापेमारी की जा रही है.
मिली जानकारी के मुताबिक पूर्व मेयर समीर कुमार प्रॉपर्टी डीलिंग का भी काम करते थे. पुलिस का कहना है कि प्रॉपर्टी डीलिंग या राजनीतिक कारणों से उनकी हत्या हुई है. कहा जाता है कि पूर्व मेयर समीर कुमार इस बार लोकसभा चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहे थे. लोजपा से वे भाजपा में गए थे, मगर, इस बार कांग्रेस से चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहे थे.