अब डेल्टा बना खतरा, 24 घंटे में 17 संक्रमित

विदेशों से पटना आए 12 लोग पॉजिटिव

ओमिक्रॉन का एक भी मामला नहीं




मास्क और गाइडलाइन का पालन जरूरी

डेल्टा वैरिएंट फिर से हुआ है एक्टिव

राजधानी में अब कोरोना पॉजिटिव बिहार में अब तक ओमिक्रॉन का एक भी मामला नहीं आया है, लेकिन डेल्टा वैरिएंट ने मुश्किलें बढ़ा दी है. डेल्टा कोरोना का वही वैरिएंट है, जो दूसरी लहर में भारत में लाशों की ढेर लगा दिया था. बिहार में 12,094 लोगों की मौत हो गई. 24 घंटे में 17 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, इसमें पटना में विदेश यात्रा से आए 3 लोग भी शामिल हैं. ओमिक्रॉन की दहशत के बीच डेल्टा वैरिएंट का फिर से एक्टिव होना खतरे की घंटी है. ऐसे में एक्सपर्ट की राय है कि कोरोना की गाइड लाइन का हर हाल में सख्ती से पालन कराया जाए. बिहार में लापरवाही हुई तो आंकड़े बता रहे हैं आने वाले दिनों में समस्या बढ़ सकती है.पटना में 11 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इसमें एक दो और एक पांच साल की मासूम के साथ इंग्लैंड से आए दो और अफ्रीका से आया एक संक्रमित भी शामिल है. पटना में 11 मामलों के बाद रोहतास में 2, समस्तीपुर में 2 और वैशाली में एक मामला आया है. एक अन्य व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, लेकिन वह बिहार में डिटेक्ट हुआ है.

17 नए मामलों को डिटेक्ट करने के लिए सरकार को 1,75,673 लोगों की जांच करानी पड़ी है. पिछले 24 घंटे में 17 नए मामले आए और एक संक्रमित की मौत का आंकड़ा है, जिससे अब संक्रमण से होने वाली कुल मौत का आंकड़ा बढ़कर 12,094 हो गया है. अब तक बिहार में कुल 7,26,396 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं, जिसमें 7,14,215 लोगों ने कोरोना को मात दी है. संक्रमण का आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है. कभी मामले बढ़ रहे हैं तो कभी अचानक से कमी आ जा रही है. ऐसे में लोगों को पूरी तरह से सावधान रहने की जरूरत है, नहीं तो संक्रमण की रफ्तार कभी भी काबू से बाहर हो सकती है.

24 घंटे में 11 संक्रमितों ने कोरोना को मात दी है, लेकिन 17 नए मामले आने के कारण एक्टिव मामलों की संख्या 77 से 86 पहुंच गई है. स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि रिकवरी रेट प्रभावित नहीं हो रही है. नए मामले आ रहे हैं लेकिन इसके बाद भी रिकवरी रेट नीचे नहीं आ रही है. मौजूदा समय में रिकवरी रेट बिहार में 98.32 पर स्थिर है. कोरोना का संक्रमण बढ़ने के बाद भी इसे मात देने वालों की संख्या अधिक है.

देशभर में ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली, मध्य प्रदेश, जम्मू और तेलंगाना ने बंदिशें लगाने शुरू कर दी हैं.