सीएम नीतीश कुमार LIVE

12 हजार से अधिक गरीबों के पक्के मकान का सपना साकारस्मार्ट सिटी की धीमी रफ़्तार से नाराज हैं CM नीतीशअधिकारियों से बोले काम में तेजी लाएंबेघर लोगों के लिए बनेगी बहुमंजिली इमारत -नीतीशमुख्यमंत्री ने 12352 लोगों को मकान की चाबी सौंपीफुटपाथ व पुल के नीचे रहने वालों को घर का तोहफा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कर-कमलों द्वारा राज्य के विभिन्न जिलों में नगर विकास एवं आवास विभाग की विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन तथा पटना स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन कार्यक्रम पटना स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन कार्यक्रम- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि शहरी क्षेत्र में फुटपाथ व पुल के नीचे रह रहे आश्रयविहीन लोगों के लिए सरकार की ओर से बहुमंजिली इमारत का निर्माण कराया जाएगा। इसके लिए जमीन को चिह्न‍ित किया जा रहा। सरकार जमीन का क्रय कर इसका निर्माण कराएगी। पटना स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट व नगर विकास विभाग की विभिन्न योजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास समारोह में कही। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि तीन अन्य स्मार्ट सिटी क्रमश: बिहारशरीफ, मुजफ्फरपुर और भागलपुर की योजनाओं का काम भी तेजी से कराएं। स्मार्ट सिटी की धीमी रफ़्तार हैं नीतीश ने अधिकारियों से कहा कि वे काम में तेजी लाएं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज शनिवार को पटना स्मार्ट सिटी लिमिटेड की चार परियोजनाओं का उद्घाटन व छह परियोजनाओं का शिलान्यास किया। संवाद भवन से वर्चुअल माध्यम से यह कार्यक्रम हुआ। 12 हजार से अधिक गरीबों के पक्के मकान का सपना

Read more

पपीता खाने से पहले यह जान लें फायदा और नुकसान

वजन घटाने में पपीता है बहुत फायदेमंद पपीते में पोषक तत्व हर किसी को फायदा नहीं पहुंचाते भ्रूण को सहारा देने वाली झिल्ली करता है कमजोर दिल की बीमारियां,डायबिटीज, कैंसर और ब्लड प्रेशर की समस्या में फायदेमंद पाचन को मजबूत करता है.बालों को झड़ने से रोकता है पपीता डेंगू में होता है बहुत फायदेमंद सालों भर मिलने वाले पपीता के सेवन कुछ लोगों के लिए रामवाण का काम करता है तो कुछ के लिए बहुत नुकसानदायक होता है. पपीता खाने का फायदे बहुत हैं तो कुछ नुकसान भी है  पपीता में फाइबर, मिनरल्स, विटामिन C और एंटी ऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं. यही वजह है कि वजन घटाने से लेकर शरीर को बीमारियों से दूर रखने तक में पपीते को बहुत फायदेमंद माना जाता है. हर दिन पपीता खाने से दिल की बीमारियां,डायबिटीज, कैंसर और ब्लड प्रेशर की समस्या दूर होती है. पपीता सेहत के लिए बहुत अच्छा हैलेकिन कुछ लोगों के लिए ये नुकसानदायक भी साबित हो सकता है. गर्भवती महिलाएं –गर्भवती महिलाओं को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए. पपीते में लेटेक्स और पैपीन होता है जो गर्भाशय को संकुचित कर देता है. इसकी वजह से लेबर पेन समय से पहले होने लगता है. यह भ्रूण को सहारा देने वाली झिल्ली को भी कमजोर कर सकता है.हालांकि, ज्यादातर अधपका पपीता खानेपर ये दिक्कतें आ सकती हैं. अनियमित दिल की धड़कन – पपीता खाने से दिल से जुड़ीं बीमारियों का खतरा कम हो सकता है, लेकिन पहले से ही अनियमित दिल की धड़कन की समस्या से जूझ रहे

Read more

डबल इंजन ने किसानों को किया बर्बाद -लालू

लालू प्रसाद ने एक बार सरकार को आड़े हाथो लिया है उन्होंने ट्वीट करके किसानो की खस्ताहाल स्थिति पर टिप्पणी की है .लालू ने ट्वीट में लिखा है कि डबल इंजन सरकार के ट्रबलधारी रहनुमाओं, बिहार में कम से कम किसानों की तो दुर्दशा को जानिए, पहचानिए और समझिए!वैसे उनकी समस्याओं को दूर करने में ना आपमें सामर्थ्य है, ना समझ और ना इच्छाशक्ति।अगर आप किसान को बीज और खाद ही उपलब्ध नहीं करा पा रहे है तो किस बात का सरकार और डबल इंजन?? इस ट्वीट के बाद राजनीति एक बार फिर गरमाने लगी है. आपको बता दें कि कई जिलों में किसान बीज और खाद के लिए परेशान है ऐसे में राज्य सरकार की ओर से ठोस प्रबंध किये जाने का दावा किया जा रहा है. रबी फसल के लिए किसानों को बीज मुहैया नहीं कराने पर उनमें गुस्सा साफ़ दिख रहा है ऐसे में लालू प्रसाद ने बयान ने सियासी पारे को गरमा दिया है. PNCDESK #biharkikhabar ये भी पढ़ें –“ओमिक्रॉन” कोरोना के सबसे खतरनाक डेल्टा वैरिएंट से भी घातक

Read more

सासाराम के भू अर्जन पदाधिकारी भी अब नपे

11 लाख के सोने के जेवरात, 4 लाख 75 हज़ार नगद बरामद पटना में हैं जमीन के सात प्लॉट एलआईसी तथा सहारा इंडिया में लाखों रुपए के फिक्स्ड डिपॉजिट के कागजात मिले सासाराम के भू अर्जन पदाधिकारी राजेश कुमार गुप्ता के आवास पर हुए निगरानी की छापामारी में लाखों रुपए नगद, करोड़ों की जमीन, लाखों के आभूषण, फिक्स डिपाजिट के कागजात मिले हैं.. नगर निगम सासाराम के नगर आयुक्त के प्रभार में भी राजेश कुमार गुप्ता है. आज सुबह से ही निगरानी की टीम सासाराम के डीएम कॉलोनी स्थित राजेश कुमार गुप्ता के आवास के अलावे उनके पैतृक गांव किशनगंज के फारबिसगंज तथा पटना स्थित आवास पर छापेमारी कर रही है. जिसमें सासाराम के सरकारी आवास से 11 लाख के सोने के जेवरात, 4 लाख 75 हज़ार नगद, फारबिसगंज तथा पटना में जमीन के सात प्लॉट के अलावे एलआईसी तथा सहारा इंडिया में लाखों रुपए के फिक्स्ड डिपॉजिट के कागजात मिले हैं. निगरानी के डीएसपी एस.के. मौवार ने बताया कि जांच अभी भी जारी है. राजेश कुमार गुप्ता कि पिछले कई पोस्टिंग के दौरान आय से अधिक संपत्ति का आरोप लग चुका था जिसको लेकर निगरानी में मामला आया. निगरानी विभाग ने मामले की जांच पड़ताल शुरू की तथा आरोप को सही पाया है. सासाराम में भी भू- अर्जन पदाधिकारी तथा नगर निगम के नगर आयुक्त रहते हुए भी इन पर कई आरोप लग चुके हैं अब जबकि निगरानी की छापामारी के साथ ही जिले में भ्रष्ट अधिकारियों में हड़कंप मच गया है. रोहतास से बंटी

Read more

नीतीश जी जरा इस बच्चे को सुनिए …

पिता सारे पैसे की पी जाते हैं शराब, नहीं खरीदते किताब क्या प्राइमरी स्कूल के बच्चों को नहीं मिलती किताब ? रोहतास जिला के तिलौथू प्रखंड में एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें एक स्कूल में एक बच्चा रो रो कर बता रहा है कि उसके पिताजी सारा पैसा शराब में खर्च कर देते हैं। जिस कारण उन्हें पढ़ने के लिए किताब नहीं खरीद पा रहे हैं। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि शिक्षक बच्चे से पूछ रहे हैं कि पिछले 5 दिनों से कहे जाने के उपरांत भी तुमने किताब क्यों नहीं खरीदा? तो बच्चा कहता है कि उसके पिताजी सारा पैसा शराब में खर्च कर देते हैं और उसका किताब नहीं खरीद रहे हैं। बड़ी बात है कि वायरल वीडियो में बच्चे का पिता भी विद्यालय में मौजूद दिख रहा है। जिसके सामने बच्चा यह कबूल कर रहा है कि उसके पिता किताब खरीदने की जगह शराब में पैसा खर्च कर रहे हैं। यह वायरल वीडियो उत्क्रमित मध्य विद्यालय, पतलूका का बताया जाता है। इस वायरल वीडियो कि हम पुष्टि नहीं करते। लेकिन जिस तरह से बिहार में शराबबंदी है और एक बच्चा रो-रो कर बता रहा है कि उसके अभिभावक किताब की जगह शराब खरीद कर पी रहे हैं। जिस कारण उसे विद्यालय में शिक्षक की डांट खानी पड़ती है। सारे बच्चे किताब से पढ़ाई करते हैं, जबकि उसकी पढ़ाई किताब के बिना बाधित है। वायरल वीडियो में बच्चे की एक बहन भी दिख रही है। जिसने भी स्वीकार किया की सारा पैसा उसके पिताजी

Read more

भारत में 33 लाख से ज्यादा बच्चे कुपोषण का शिकार

आधे से ज्यादा गंभीर रूप से कुपोषित, RTI में हुआ खुलासा देश में 17,76,902 बच्चे अत्यंत कुपोषित ये आंकड़े सिर्फ एप्प आधारित है ,हकीकत है कुछ और  वैश्विक भुखमरी सूचकांक में बांग्लादेश और पाकिस्तान से भी पीछे भारत, 7 पायदान गिरा नीचे आरटीआई के तहत पूछे गये एक सवाल के जवाब में महिला और बाल विकास मंत्रालय ने बताया कि देश में 33 लाख से ज्यादा बच्चे कुपोषित हैं और इनमें से आधे से अधिक गंभीर रूप से कुपोषित की कैटेगरी में आते हैं, महिला और बाल विकास मंत्रालय ने आरटीआई के तहत पूछे गये एक सवाल के जवाब में बताया कि देश में 33 लाख से ज्यादा बच्चे कुपोषित हैं और इनमें से आधे से अधिक गंभीर रूप से कुपोषित की कैटेगरी में आते हैं. कुपोषित बच्चों वाले राज्यों में महाराष्ट्र, बिहार और गुजरात टॉप पर हैं. ये संख्या अपने आप में चिंताजनक है, लेकिन पिछले साल नवंबर की तुलना में ये और अधिक चिंता पैदा करते हैं. नवंबर 2020 से 14 अक्टूबर, 2021 के बीच गंभीर रूप से कुपोषित बच्चों की संख्या में 91 प्रतिशत की वृद्धि देखी गयी. हालांकि, इस संबंध में दो तरह के आंकड़े हैं, जो आंकड़ों के संग्रह के विविध तरीकों पर आधारित हैं. पिछले साल अत्यंत कुपोषित बच्चों (छह महीने से लेकर छह साल तक) की संख्या 36 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों द्वारा गिनी गयी और केंद्र को बताई गयी. ताजा आंकड़े पोषण ट्रैकर ऐप से लिये गये हैं, जहां आंकड़े सीधे आंगनवाड़ियों द्वारा दर्ज किये जाते हैं तथा केंद्र इन्हें प्राप्त करता

Read more

मुखिया पद के लिए सास और बहु की भिड़ंत, किया नामांकन

नाम, पद और परिवार एक, लड़ने वाले दो अजीब नामांकन की गजब कहानी, सास बहू की भिड़ंत अब चुनावी संग्राम में आरा,26 अक्टूबर. महिलाओं को शक्तिरूपा कहा जाता है. वे कई रूपों में धार्मिक परंपराओं से लेकर आम जनजीवन में भी दिखती हैं. घर के चूल्हे चौकी से माउंट एवरेस्ट तक जाने वाली महिलाओं के बावजूद भी महिलाएं ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी अपने हक से वंचित हैं. लेकिन इस बार के पंचायत इलेक्शन में महिलाओं की अधिकतम भागीदारी ने यह साबित कर दिया है कि ग्रामीण परिवेश भी अब बदल रहा है. वैसे तो हर दिन पंचायत चुनाव के लिए लोगों का नामांकन जारी है. कई अपने परिवार में ही भाई,चाचा और गोतीया के खिलाफ चुनाव में खड़े हैं. लेकिन आज मुखिया पद के लिए रामापुर सनदिया पंचायत से खड़ी प्रत्याशी के रूप में दो महिलाएं चर्चा का केंद्र है. वजह है एक ही घर में सास और पुतोह का एक ही पद के लिए खड़ा होना. नामांकन के बाद ब्लॉक से लेकर शहर के कोने कोने में इस बात को लेकर चर्चा है. लोगों में अभी से ही यह जानने की उत्सुकता है कि सास बहू पर भारी पड़ेगी या बहू सास पर! यही नहीं इत्तफाक कहिए या संयोग प्रत्याशी का नाम भी एक है, लड़ने वाला पद भी एक ही है और परिवार भी एक.. जी हां सुनने में आपको अजीब सा जरूर लगेगा लेकिन सच्चाई यही है. रामापुर सनदिया पंचायत से खड़ी कुसुम तिवारी अपनी चचेरी सास कुसुम देवी के खिलाफ चुनावी मैदान में इस बार

Read more

पंचायत और जिला परिषद चुनाव में बन रहे हैं नए रिकॉर्ड

#ganvkisarkar बिहियाबिहियां प्रखंड के पीपरा जगदीश पंचायत से #मुखिया पद #सुभद्रादेवी लगभग 700 वोटों से शानदार जीत हासिल की। शानदार जीत के लिए सुभद्रा देवी को लोगों ने बधाई दी है । पंचायत और जिला परिषद के आ रहे रिजल्ट में बदलाव की लहर साफ़ दिख रही है . कही लोग निर्विरोध निर्वाचित हो रहे है तो कही कम अंतर से चुनाव हार जा रहे है .महिलाओं और युवाओं में लोगों का विस्वास दिख रहा है . यहाँ अब तक प्राप्त रिजल्ट यहाँ है . छपरा : इशुआपुर पुर प्रखंड से मुखिया पद पर इन चार लोगों ने जीत दर्ज की है।1-रामपुर अटौली से धनन्जय पांडेय2-लौवा धनन्जय साह3-इशुआपुर से अजमल रहमानी4-डटरा पुरसौली से अजय राय बक्सरमुखिया प्रत्याशीकेसठ के रामपुर पंचायत में अनामिका पांडे को कुल 1599 मत प्राप्त हुए। इनके निकटतम प्रतिद्वंदी पुष्पा देवी को कुल 1267 मत प्राप्त हुए। मतों का अंतर 332 रहा।मुखिया प्रत्याशीकेसठ पंचायत के अरविंद सिंह यादव को कुल 3339 मत प्राप्त हुए। इनके निकटतम प्रतिद्वंदी धनंजय कुमार को कूल 1569 मत प्राप्त हुए। मतों का अंतर 1770 रहा।मुखिया प्रत्याशीकेसठ प्रखंड के कतिकनार पंचायत के छठु राम को कुल 1609 मत प्राप्त हुए। इनके निकटतम प्रतिद्वंदी कलावती देवी को कुल 1179 मत प्राप्त हुए। मतों का अंतर 427 रहा है।: मुखिया प्रत्याशीनवानगर प्रखंड के सिकरौल पंचायत से मनोज कुमार सिंह को कुल 1662 मत प्राप्त हुए। इनके निकटतम प्रतिद्वंदी विभोर कुमार द्विवेदी को कुल 1419 मत प्राप्त हुए हैं। मतों का अंतर 243 रहा।मुखिया प्रत्याशीनावानगर प्रखंड के नावानगर पंचायत से हसबुन निशा को कुल 1145 मत

Read more

32 जिप, 75 मुखिया समेत 717 लोगों ने किया नामांकन

आरा ब्लॉक में तीसरे दिन 717 लोगों ने किया नामांकन आरा, 26अक्टूबर. जिला परिषद पद के लिए आरा सदर अनुमंडल कार्यालय में तीसरे दिन कुल 32 प्रत्याशियों ने नामांकन किया. नामांकन के तीसरे दिन पंचायत समिति के लिए 62 और अबतक कुल 126, वही मुखिया पद के लिए 75 और अबतक कुल 143, सरपंच पद के लिए 50 और अबतक कुल 101,पंच पद के लिए 133 और अबतक कुल 328 तथा वार्ड सदस्य पद के लिए 365 और अबतक कुल 923 प्रत्याशियों ने नामांकन भरा. अनुमंडल कार्यालय, सदर आरा में सोमवार को जिला परिषद सदस्य के लिए 32 लोगों ने नामांकन किया. अलग – अलग क्षेत्रों से इन लोगों ने किया नामांकन : 1)प्रादेशिक क्षेत्र 19 अगिऑव से– मुकेश सिंह , अरविंद सिंह, रिंकू कुमारी ,अमित कुमार ,अमीष कुमार सिंह ,अखिलेश कुमार सिंह, अभिमन्यु सिंहकुल– 07 नामांकन. 2)प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र 20 अगिऑव– 00 कुल -00नामांकन. 3) प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र- 23 आरा – राम किशोर सिंह ,अरविंद कुमार सिंह, रितेश कुमार सिंह, प्रतिमा कुमारी, धनजी सिंह, बबलू सिंहकुल-06 नामांकन. 4) प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र 24 आरा- नीतू कुमारी ,खुशबू कुमारी ,सुनीता देवी, बेबी देवीकुल-04 नामांकन. 5) प्रादेशिक निर्वाचन क्षेत्र 25 आरा- भरत राय ,धनंजय कुमार सिंह, संतोष कुमार , धनंजय सिंह ,दीपक कुमार सिंह कुल-05 नामांकन. 6.) प्रादेशिक क्षेत्र 31 संदेश – पूनम सिंह, मंजू देवी, मुन्नी देवी , मोना देवी, आनीता देवी ,लक्ष्मीना देवीकुल- 06 – नामांकन. 7) प्रादेशिक क्षेत्र 09 गढहनी- रूपा कुमारी एवं राजकुमारी देवीकुल-02– नामांकन. 8) प्रादेशिक क्षेत्र 29 कोईलवर – महेश पासवान , रविंद्र कुमार (दो प्रति

Read more

गरीबों के लिए मसीहा बने डॉ दीपक अग्रवाल

पटना : प्रख्यात नेत्र रोग विशेषज्ञ  डॉक्टर दीपक अग्रवाल (MBBS , DNB( EYE)  का हरिहर आई केयर, नजदीक, मलाही पकड़ी चौक, पटना,  नेत्र चिकित्सा के क्षेत्र में ख्याति अर्जित कर रहा है, जहाँ नेत्र से संबंधित हर रोगों  का इलाज नवीनतम तकनीक के द्वारा किया जा रहा है. डाक्टर अग्रवाल ने अपनी शिक्षा अरविन्द आई हॉस्पिटल मदुरै  से की और FELLOWSHIP IN VITERO- RETINA भी आई हॉस्पिटल मदुरै  से ही किया। वे EX- CONSULTANT & HOD , DEPTT.  OF RETINA, IGERC LUCKNOW रह चुके हैं . पिछले दिनों नारायण भट्टाचार्य जिनकी उम्र 81 साल है और जिनकी आंखों की रोशनी नहीं  थी, उनके इलाज के दौरान 37000 रुपये  की कीमत के दो इंजेक्शनयानि 74000/रुपये डॉ अग्रवाल ने अपनी ओर से उपलब्ध कराया. एक गरीब और जरूरतमंद के मुफ्त इलाज के लिए डॉक्टर अग्रवाल की काफी प्रशंसा भी हो रही है. डॉ अग्रवाल सप्ताह में एक दिन यानि बुधवार को अपनी सेवा बक्सर में सदर अस्पताल के सामने भी देते हैं और फोन पे Appointment की सुविधा उपलब्ध है.

Read more