बड़ौरा उर्दू प्राथमिक स्कूल के लिए होगा निर्णायक जनांदोलन

गड़हनी ब्लॉक परिसर में 17 अक्टूबर 19 को लगेगा स्कूल गडहनी ( भोजपुर ) आइसा-इंनौस और भगतसिंह युवा ब्रिगेड के नेतृत्व में बंद पड़े और जर्जर हो चुके बड़ौरा उर्दू प्राथमिक स्कूल के सवाल पर आगामी 17 अक्टूबर 2019 को गड़हनी ब्लॉक परिसर में विद्यालय लगाया जाएगा।गड़हनी ब्लॉक के बड़ौरा गाँव में स्थित उर्दू प्राथमिक विद्यालय का स्थापना 1947 में किया गया था।सुअरी ,शिवपुर ,सिकटी और बड़ौरा के बच्चे इस विद्यालय में पढ़ने आते थे। गाँव के मुस्लिम समाज के लोगों ने अपनी कब्रिस्तान की जमीन देकर इस स्कूल को बनवाया था।गांव के लोगों ने बताया कि 10 साल पहले यह स्कूल जर्जर हो गया और इस स्कूल को बंद कर दिया गया। ग्रामीणों ने नया भवन बनवाने के लिए BDO ,BEO ,DEO और अगिआंव विधानसभा के वर्तमान JDU विधायक माननीय प्रभुनाथ राम से मिले सभी आश्वासन देकर ही अपना पीछा छुडा लिया। यहाँ तक कि इस साल लोकसभा चुनाव में वोट मांगने आये BJP के उम्मीदवार और सांसद माननीय R.K Singh ने भी भरोसा दिलाया था पर अभी तक सरकार के शिक्षा विभाग , MLA और MP साहब के द्वारा कोई कदम नहीं उठाया गया।फिलहाल अभी यह स्कूल माननीय अरुण यादव के दालान में चल रहा है। भाकपा माले केंद्रीय कमिटी सदस्य मनोज मंज़िल ने कहा कि भाजपा सरकार इस देश के सभी प्राथमिक विद्यालयों को एक-एक कर बंद कर रही है। सरकार गरीब-दलित के बच्चों को शिक्षा से बेदखल उनके सपनों की हत्या कर रही। सरकारी स्कूल गरीब-वंचित पृष्ठभूमि के बच्चों के लिए सस्ती शिक्षा का स्रोत है।

Read more

प्रधानमंत्री आवास योजना मे आवास सहायक के द्वारा अनियमितता

गडहनी. गडहनी प्रखण्ड के काउप पंचायत मे प्रधानमंत्री आवास योजना मे पद स्थापित आवास सहायक मोहम्मद महफूज अली के द्वारा अनियमितता बरते जाने को लेकर पंचायत की जनता मे आक्रोश बना हुआ है।काउप पंचायत के मुखिया कलावती देवी ने अपने लिखित ब्यान मे कहा है कि आवास योजना मे सिरियल वाइज आवास योजना को न पास कर मनमाने ढंग से पैसे लेकर आवास योजना को चयनित कर पास किया जा रहा है।बताया जा रहा है कि अनुसुचित कोटि मे सिरियल नम्बर 13 को न देकर सिरियल नम्बर 74 और 127 को योजना का लाभ दे दिया गया।ठीक इसी प्रकार सामान्य कोटि मे सीरियल नम्बर 01, 89 , 90 , 91 और 119 को आवास का लाभ नही दिया गया और सिरियल नम्बर 93 एवं 133 और 171 को योजना का लाभ दे दिया गया। सिरियल नम्बर 71 को आवास का लाभ दे दिया गया जबकि उनका मकान फिलहाल पक्का का बना हुआ है और राज नाथ सिंह पिता बैकुण्ठ सिंह , गोरख राम पिता नगीना राम जैसे बहुत गरीबों को आवास योजना का लाभ नही मिल पाया है जबकि इनका नाम प्रधानमंत्री आवास योजना के लिस्ट मे मौजुद है।फिर भी बहुत से गरीब योजना के लाभ से वंचित रह गये है।इसकी शिकायत जिलाधिकारी एवं उप विकास आयुक्त को भी दी गई है।लेकिन अभी तक कोई कारवाई नही हो पाई है।आवास सहायक के लापारवाही और मनमानी के कारण बहुत से लाभूक लाभ से वंचित है।

Read more

प्रखण्ड कार्यालय मे बढते भ्रष्टाचार से जन जीवन अस्तव्यस्त

गडहनी. गडहनी प्रखण्ड क्षेत्र के ग्रामीण जनता बहुत से सरकारी योजना के लाभ से वंचित रह जा रहे हैं. इसके पीछे बहुत बडी राज छिपी हुई है।इसके कई कारण भी हो सकते हैं।ग्रामीण जनता की शिकायत लिखित और मौखिक रूप से प्रखण्ड विकास पदाधिकारी तेज बहादुर सुमन को आये दिन मिलती रहती है लेकिन किसी भी प्रकार का पहल प्रखण्ड विकास अधिकारी की ओर से नही किया जाता जिसका नतीजा यह होता है कि प्रखण्ड के कर्मचारी इसका फायदा उठाकर मनमाने ढंग से काम करने मे अपनी बहादुरी दिखा रहे है।अब सवाल यह उठता है कि ऐसा क्यों क्यों रहा है ? क्या यहाँ की बिधि ब्यवस्था मे कोई कमी है या फिर —— ? नल जल योजना शौचालय आवास सहित ऐसी कई योजनाएं है जिससे लाभूक वंचित है।आवास योजना शौचालय योजना मे खुलेयाम आवास सहायक एवं उत्प्रेरक द्वारा राशि लेकर योजनाओं को पास किया जा रहा है जिसकी शिकायत बीडियो को आये दिन मिलती है फिर भी बिडियो द्वारा कोई कारवाई नही की जाती।अब सवाल यह उठता है कि पदाधिकारी कारवाई करने से क्यों भागते हैं।क्या इस भ्रष्टाचार मे इनकी भी संलिप्तता है ? अगर ऐसा है तो सरकार को भ्रष्टाचार के खिलाफ लडाई अभियान को बन्द कर देनी चाहिए क्योंकि नीचे से उपर तक भ्रष्टाचारी ही बैठे है और ए जब तक हैं भ्रष्टाचार को मिटाया नही जा सकता।एक प्रखण्डस्तरीय कर्मचारी पदाधिकारी अपने जिला स्तरीय पदाधिकारी से नही डरता।प्रखण्ड स्तरीय कर्मचारी कहते हैं खबर निकालने से क्या होगा सब जानते हैं कि कहाँ क्या हो रहा है। गड़हनी

Read more

चलते….चलते ही….. चला गया

गडहनी. गडहनी थाना क्षेत्र के बगवाँ रिमझिम लाइन होटल मे काम करने वाले एक व्यक्ति की अचानक मौत हो गई।बताया जा रहा है कि मृतक होटल से काम करके वापस घर लौट रहा था इसी बीच बगवाँ युनियन बैंक के समीप पीपल वृक्ष के पास गिर पडा जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा गडहनी थाना को दी गई।सूचना मिलते ही गडहनी थानाध्यक्ष मोहम्मद साजिद हुसैन दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच शव को कब्जे मे ले पोस्टमार्टम हेतु आरा सदर भेज दिया।थानाध्यक्ष द्वारा बताया गया कि मृतक गडहनी ब्लॉक रोड निवासी दिनेश कुमार उर्फ सिंघानिया है जो रिमझिम होटल बगवाँ मे काम करता था।समाचार लिखे जाने तक मृत्यु का कारण पता नही चल पाया है हालांकि अनुमान लगाया जा रहा है कि हार्टअटैक के कारण मृत्यु हुई है।मृतक की पत्नी गडहनी थाना मे रसोइया का काम करती है।परिजनों द्वारा शव का अन्तःपरीक्षण नही कराया गया।शव को पुलिस से परिजनों को सौंप दिया। खाकी पर उठा सवाल,क्यों नही कराया अत्यंत परीक्षण,न दर्ज किया केस गड़हनी। स्थानीय थाना अंतर्गत बँगवा के समीप गड़हनी ब्लॉक रोड के स्थानीय निवासी दिनेश कुमार उर्फ सिंघानिया जो कि होटल का कामगार में से एक था,उसकी मृत्यु हो जाने पर बँगवा में शव पाया गया लेकिन स्थानीय थाना में शव मिलने का कोई साक्ष्य नही हैं।पुलिस ने न ही केस दर्ज की और न अत्यंत परीक्षण कराई वैसे में आम जन की सुरक्षा की दावेदारी करने वाले खांकि पहने उन पुलिसकर्मियों पर सवाल उठता हैं जो सारा काम काज में

Read more

नगर को छोड़ चली माँ

हमनी के छोड के नगरिया नू हो .… गडहनी ( भोजपुर ) 10 दिनों के उमंग और उल्लास के नवरात्रि के बाद मां दुर्गा नगर को छोड़ चलीं. अगले वर्ष फिर आने के लिए मन से ओकारने वाले भक्तों ने अश्रुपूर्ण नम आंखों से विदाई दी. हमनी के छोड के नगरिया नू हो, कहवा जईबू ए माई……. जैसे भाव विह्वल करने वाले गीतों व जय माता दी …………….. जय माता दी के जयघोष के बीच मां दुर्गा को यहां भावपूर्ण विदाई दी गई । प्रशासन द्वारा पुराने रूट से प्रतिमा विसर्जन जुलुस निकालने की अनुमति नहीं मिलने की स्थिति में इस बार दुर्गा की प्रतिमाओं को अलग अलग वाहनों से सहंगी रोड स्थित बनास नदी के लिए रवाना किया गया। इसके पूर्व गोला बाजार आरा सासाराम मुख्य मार्ग पर गडहनी मे स्थापित सभी प्रतिमाओं को जिसमे बिचली पट्टी गोला बाजार पुरानी बाजार शिव मंदिर सहंगी रोड स्थित प्रतिमाओं को लाया गया जहां बडी तादाद में लोग मां दुर्गा को विदाई देने के लिए उमड पडे।श्रद्धालु महिलाओं द्वारा परम्परानुसार मां दुर्गा को खोइछा देने की रस्म अदायगी की गई । तत्पश्चात पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में मां दुर्गा की प्रतिमाओं को सहंगी रोड स्थित बनास नदी तक पहुंचाया गया । प्रतिमाओं के साथ लोगों का हुजूम जयकारा लगाते आगे बढा । जबकि रास्ते में पडने वाले घरों की छतों पर महिलाएं और बच्चे मां के दर्शन के लिए काफी देर से जमे हुए थे।इस दौरान माहौल काफी गमगीन दिखा।वैसे यहां संवेदनशील स्थिति को देखते हुए बडी संख्या में पुलिस बल के

Read more

Exclusive – बाढ़ में दुरौंधा गाँव भगवान भरोसे, नहीं है किसी अधिकारी का ध्यान

आरा सदर के महुली पंचायत के दुरौंधा गाँव के ग्रामीणों का कहना है जिलाध्यक्ष ,जिला प्रशासन का ख्याल इस गाँव के लिए सबसे पीछे आता है, कॉल करने पर भी कोई कॉल नहीं उठाते, पिछले साल दो बच्चियां बाढ़ की चपेट में आई थी, उस समय भी कोई नहीं आया. घटना के पांच दिनों के बाद बाढ़ निरीक्षण वाले आये तब तक एक बच्ची को बाढ़ ने निगल लिया था . आरा सदर के महुली पंचायत के दुरौंधा गाँव में बाढ़ का कहर रातों -रात बढ़ गया है और इस पंचायत को जिलाअध्यक्ष ने अभी तक बाढ़ वाले इलाके से दूर रखा हुआ है . यहां के ग्रामीणों का कहना है कि जिलाध्यक्ष, जिला प्रशासन का ध्यान महुली पंचायत की तरफ कभी आता ही नहीं है और यहां के ग्रामीणों को किसी भी प्रकार की सरकारी सुविधा नहीं प्राप्त होती है. जिलाध्यक्ष से दुरौंधा गाँव के ग्रमीणों और वहां के वार्ड पार्षद की शिकायत है कि उनका ध्यान हमारी गाँव की तरफ सब से पीछे आता है, जब तक हम सभी बाढ़ की मार खा चुके होते है और वहां के ग्रामीणों का रोना है कि यह कोई डॉक्टर नहीं है, हम लोग तो इस बाढ़ में अपना जीवन-यापन किसी तरह कर लेते है पर गाय-गोरु का क्या होगा ? यहां गाय-गोरु के लिए भूसा नहीं प्राप्त हो पाता है और न ही कोई यहां मवेशी डॉक्टर है . बाढ़ में न जाने कितने घर पानी में बह गए, उजड़ गए, न जाने कितने घरों में बाढ़ का पानी बिन

Read more

मौत के 4 घण्टे के बाद पहुंची रेस्क्यू टीम

आरा सदर के अंतर्गत बलबतरा गांव के 14 वर्षीय युवक की हुई डूबने से मौत आरा. आरा क्षेत्र के अंतर्गत बलबतरा गांव में 14 वर्षीय युवक डूबने से मौत हो गई. मोहम्मद सना पिता मोहम्मद सहमद का पुत्र बताया जा रहा है. मोहम्मद सना सिन्ही पुल के पास अपने कुछ दोस्तों के साथ नहाने गया हुआ था नहाते-नहाते वह काफी दूर निकल गया और डूबने लगा स्थानीय लोगों ने बचाने की पूरी कोशिश की परंतु वह बच ना सका. बताया जा रहा है कि नदी पुल के पास पानी करीब 25 फीट गहरा है यह घटना शुक्रवार की सुबह 11:00 बजे घटित हुई. मोहम्मद सना आरा क्षत्रिया स्कूल में नौवीं कक्षा का छात्र था . गुरुवार को 2:00 बजे से उसके स्कूल में परीक्षा भी थी. दुर्भाग्यवश वह स्कूल ना जा सका और पानी के बीच धार में हमेशा के लिए समाहित हो गया. ग्रामीण लोगों का कहना है सभी अधिकारियों को करीब 12:00 बजे ही सूचना दे दी थी परंतु एनडीआरएफ की टीम करीब 3:00 बजे पहुंची. उस बच्चे की तलाश में एनडीआरएफ टीम लगी रही परंतु रात होने की वजह से वह शव को ढूंढ ना पाई. सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि यह रेस्क्यू अगली सुबह फिर से जारी रहेगी. आरा से सावन कुमार की रिपोर्ट

Read more

मेले में ली बाल विवाह नहीं करने की शपथ

गड़हनी में पोषण मेला में योजनाओं की दी गई जानकारी गड़हनी. प्रखण्ड के गड़हनी अवस्थित समेकित बाल बिकास परियोजना द्वारा राष्ट्रीय पोषण मिशन के तहत मनाए जा रहे राष्ट्रीय पोषण माह के दौरान पोषण मेला का विधिवत आयोजन कर विभाग द्वारा कुपोषण मुक्ति के लिए चलाई जा रही है. विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी आम लोगों को दी गई . गड़हनी बाल बिकास परियोजना कार्यालय परिसर में आयोजित पोषण मेला का उद्घाटन प्रखण्ड प्रमुख अनीता देवी प्रखण्ड विकास पदाधिकारी धीरज सिन्हा, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी मधुरिमा प्रसाद, चिकित्सा प्रभारी पदाधिकारी डाॅक्टर रीता शर्मा व सामाजिक कार्यकर्ता निर्मल यादव ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया. इस मौके पर अपने संबोधन में बाल विकास परियोजना पदाधिकारी मधुरिमा प्रसाद ने कहा कि कुपोषण की वजह से तमाम तरह की बीमारियां उत्पन्न होती है. खासकर बच्चों व महिलाओं में कुपोषण की समस्या सबसे अधिक देखी जा रही है. इसका एक मुख्य कारण बाल विवाह भी है. इसको ध्यान में रखकर समेकित बाल विकास परियोजना द्वारा कुपोषण मुक्ति के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है. ।अधिकारियों द्वारा लाभुकों एवं किशोरियों को पोषण मेहंदी लगाकर पोषण संबंधी जानकारी दी गई. चिकित्सा प्रभारी डॉ रीता शर्मा द्वारा बताया गया कि गर्भावस्था से लेकर बच्चे को 2 साल तक होने तक बच्चों का अस्सी प्रतिशत शारीरिक और मानसिक विकास होता है. इस अवधि में हमें गर्भवती प्रसूति एवं बच्चो के कुपोषण एवं एनीमिया से मुक्ति हेतू पौष्टिक एवं संतुलित आहार पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है. वही बाल विकास परियोजना पदाधिकारी मधुरिमा प्रसाद द्वारा

Read more

समस्याएं बहुत हैं, क्या-क्या बताऊं | गांव से बाहर जा नहीं पा रहे हैं

भोजपुर/आरा (ब्यूरो रिपोर्ट) | जनसमस्या समाधान केन्द्र (24×7 हेल्पलाईन) बबुरा के निदेशक डा० अनिल कुमार सिंह “अनल” ने बाढ़ पीड़ित बडहरा क्षेत्र का भ्रमण अपनी टीम के साथ किया. कई गांवों , टोलों तक पहुंचने का कोई साधन नहीं था परन्तु प्रशासन द्वारा तुरंत नावें उपलब्ध कराई गई. डा० सिंह द्वारा जब लोगो से उनकी समस्याओं के सम्बंधित जानकारी लिया तो लोगों ने बताया कि समस्याएं बहुत हैं, क्या-क्या बताऊं. गांव से बाहर जा नहीं पा रहे हैं. बाढ की स्थिती के कारण सारा कारोबार ठप्प है. भोजन की समस्या के अलावा, बिमारी की समस्या भी मुंह बाये खडी है. इधर बाढ पीडित लोग सरकार से तत्कालिक सहायता की आशा कर रहे हैं पर उन्हे अभी तक किसी प्रकार की सहायता नहीं मिली है. किसानों की हजारों हेक्टेयर कृषी भूमि जलमग्न होने के कारण उनका भारी नुक्सान तो हुआ ही हैं साथ में आने वाले समय में कोई फसल‌ नहीं होने के कारण उन्हे अत्यधिक आर्थिक विपन्नता का सामना करना पडेगा. डा० अनिल कुमार सिंह “अनल” द्वारा सभी की समस्याओं का पूर्णत: निराकरण कराने का आस्वासन दिया गया. लगभग सभी पंचायतों के सैकडों बाढ पीडित ऐसे हैं जिनका नाम प्रशासन द्वारा जारी लिस्ट में नही है, डा० अनल द्वारा उनके नाम को भी शामिल करने के लिये प्रशासन से उचित संशोधन करने के लिये आग्रह किया गया और यह आस्वासन दिया गया कि वह सम्पूर्ण भोजपुर के किसानों और आम जनता की हक की आवाज उठाने के लिये तत्पर हैं. प्रशासन के कदमों की तत्परता की बात भी लोगों को

Read more

गांव में योगा के लिए उत्सुक ग्रामीण, लग रहे हैं शिविर

पांच दिवसीय योग शिविर का समापन आरा, 25 सितंबर. योगाभ्यास को जीवन में अपनाकर शारीरिक और मानसिक रूप से फिट रखने के लिए इस पुरानी पद्धति के दिवाने ग्रामीण भी हो चले हैं. टीवी से लेकर अख़बारों और सोशल मीडिया में फिट होनेके क्रेज और उसके लिए उपलब्ध एप्प को भी लोग अपनाने लगे हैं. ऐसे में ग्रामीण भी अपने आप को फिट रखने के लिए योग का सहारा ले रहे  हैं. योग गुरू के सानिध्य में कुशल तरीके से सीखने की इच्छा लिए ग्रामीणों ने योग शिविर मा आयोजन योग सीखने के लिए किया जहाँ पांच दिनों तक योगाभ्यास किया. आगिआंव बाजार थाना क्षेत्र के अमेहता पंचायत के बसडीहा ग्राम में पांच दिवसीय निशुल्क योग शिविर का आयोजन किया गया है. इसमें पतंजलि योग प्रचारक योगेंद्र सिंह द्वारा ग्रामीणों को योग का प्रशिक्षण दिया गया. इस योग शिविर में बसडीहा ग्रामवासी और आसपास के गांव से लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया. योग को अपने दैनिक जीवन में  लाने को प्रयासरत लोगो ने योगा की विभिन्न मुद्राओं को सीखा. 19 सितंबर से प्रारंभ इस का शिविर  का समापन 23 सितंबर को हुआ.  इस शिविर के आयोजन में मुख्य रूप से मुकुल आनंद, मनन तिवारी, पवन कुमार नवीन, अध्यात्म पांडे, निर्मल तिवारी, कमला सिंह, राकेश सिंह, भरत तिवारी, नीतीश, नरेश, मुरारी, रितिक, लाला, प्रदीप, शैलेश और आयुष सहित अन्य ग्राम वासियों का भरपूर योगदान रहा. ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more