भोजपुरी की वो पत्रिका जो 43 साल से हो रही है प्रकाशित

भोजपुरी के बढ़ते दायरे की साक्षी है पाती पत्रिकापाती भोजपुरी पत्रिका के सौवें अंक का लोकार्पण आरा, 23 मई. भोजपुरी को भले ही कोई 8वी अनुसूची में शामिल ना करे, भले ही इसे जाहिलों वाला भाषा समझे या इसे संवैधानिक मान्यता न दे लेकिन इसकी मजबूती का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इस भाषा में जहां 8 व्याकरण की किताबें और कई साहित्यकारों की सैकड़ों किताबें हैं वही एक पत्रिका ऐसी है जो लगातार 43 वर्षों से प्रकाशित होते आ रही है. पत्रिका 43 वर्षों से लगातार भोजपुरिया भाषा जानने वालों के बीच आ रही है. 43 साल से अनवरत प्रकाशित हो रही भोजपुरी की चर्चित पत्रिका पाती के सौवें अंक का लोकार्पण आज भोजपुरी विभाग के दुर्गा शंकर प्रसाद सिंह नाथ सभागार में सम्पन्न हुआ. मौके पर भोजपुरी के साहित्यकार और साहित्य प्रेमियों का जुटान हुआ जिनमें समाजशास्त्र विभागाध्यक्ष डॉ अवध बिहारी सिंह, साहित्यकार रामयश अविकल, सुमन कुमार सिंह, कथाकार कृष्ण कुमार के अलावे भोजपुरी विभाग के शोधार्थी राजेश कुमार, संजय कुमार, रवि प्रकाश सूरज, सोहित सिन्हा, धनन्जय कटकैरा आदि शामिल थे. समारोह की शुरुआत में पाती पत्रिका के लोकार्पण के बाद भोजपुरी विभागाध्यक्ष प्रो दिवाकर पांडेय ने कहा कि किसी भोजपुरी पत्रिका का सौंवां अंक प्रकाशित होना भोजपुरी भाषा के मजबूत होते जाने का परिचायक है. कथाकार कॄष्ण कुमार ने कहा कि पाती पत्रिका ने अनगिनत साहित्यकारों के निर्माण में योगदान दिया है जिसे भुलाया नहीं जा सकता. रसायनशास्त्र के शिक्षक संजय कुमार सिंह ने कहा कि साहित्य की रचना वैसी होनी चाहिए जैसा समाज

Read more

उमस भरी गर्मी से बच्चों में बढ़ सकता है डायरिया का खतरा

कुशल प्रबंधन नहीं हो तो डायरिया हो सकता है जानलेवा डायरिया के लक्षणों को जानकर एवं सही समय पर उचित प्रबंधन बेहद जरूरी आरा,14 मई. जिले के लोगों को हीट वेव से राहत तो मिल गई है, लेकिन अब बारिश के बाद तल्ख धूप के कारण उमस भरी गर्मी सताने लगी है. जिसके कारण लोगों का जीना दुभर हो गया है. ऐसे मौसम में जरा सी लापरवाही बीमारियों को न्योता दे सकती है. ऐसी स्थिति में लोगों और सावधान रहने की जरूरत है विशेष रूप से शिशुओं और छोटे बच्चों को. क्योंकि बदलते मौसम और उमस भरी गर्मी के दौरान बच्चों में डायरिया की शिकायत बढ़ जाती है. डायरिया के कारण बच्चों में अत्यधिक निर्जलीकरण (डिहाइड्रेशन) होने से समस्याएं काफी हद तक बढ़ जाती हैं. यहां तक कि इस दौरान कुशल प्रबंधन नहीं होने से यह जानलेवा भी हो जाता है. स्वास्थ्य संबंधी महत्वपूर्ण आंकड़े भी इसे शिशु मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक मानते हैं. सही समय पर डायरिया के लक्षणों को जानने के बाद यदि सही समय पर उचित प्रबंधन कर लिया जाय तो बच्चों को इस गंभीर रोग से आसानी से सुरक्षित किया जा सकता है. बच्चों को डायरिया से बचाया जा सकता हैअपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. केएन सिन्हा ने बताया, डायरिया के शुरुआती लक्षणों का ध्यान रख माताएं इसकी आसानी से पहचान कर सकती हैं. इससे केवल नवजातों को ही नहीं, बल्कि बड़े बच्चों को भी डायरिया से बचाया जा सकता है. लगातार पतले दस्त आना, बार-बार दस्त के साथ उल्टी का होना, प्यास

Read more

बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में ऐसी होगी चिकित्सा की सुविधा, तैयारियों में अभी से जुटी सरकार

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में नौका पर होगी अस्थायी अस्पताल और औषधालय की व्यवस्था बाढ़ की संभावना को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने जारी किए निर्देश जिले में जलजनित बीमारियों की रोकथाम के लिए अभी से तैयारी शुरू करने का दिया निर्देश बक्सर,13 मई. जिला समेत पूरे राज्य में प्री-मानसून के कारण बीते दिन बारिश हुई. वहीं, मौसम विभाग ने इस बार मई में मानसून के आने की संभावना जताई है. जिसके कारण बाढ़ नियंत्रण विभाग के अलावा अन्य विभाग भी अपने अपने स्तर पर तैयारियां शुरू करने में जुट गए है. इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने सभी प्रमंडलीय आयुक्त, जिलाधिकारी और सिविल सर्जन को संभावित बाढ़ व उससे उत्पन्न होने वाली जलजनित बीमारियों की रोकथाम की तैयारियां पूरी कर लेने के निर्देश दिए हैं. जिसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग संभावित बाढ़ व उससे उत्पन्न जलजनित बीमारियों को रोकने की तैयारी में जुट गया है. ताकि, बाढ़ प्रभावित इलाकों में इलाज और दवाइयां आसानी से उपलब्ध कराई जा सके. नौका अस्पताल में होगी समुचित व्यवस्थाजिले में बाढ़ आने के पहले ही तमाम तैयारियां पूरी कर लेनी है. ताकि, बाढ़ आने पर प्रभावित इलाके के लोगों को आसानी से चिकित्सा सुविधा उपलब्ध हो सके. साथ ही, नौका अस्पताल के संचालन को लेकर भी रणनीति बनाई जाएगी. नौका पर अस्थाई अस्पताल और औषधालय की व्यवस्था रहेगी. जिसके माध्यम से बाढ़ के कारण सड़क का सम्पर्क टूट जाने और जलजमाव वाले इलाकों में स्वास्थ्य सुविधाओं व सेवाओं को लोगों तक पहुंचाया जाएगा. हालांकि, इस दौरान

Read more

मुक्केबाजी चैंपियनशिप का आयोजन कर दी गई स्व.नवीन सिन्हा को श्रद्धांजलि

भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ ने महिला एवं पुरूष मुक्केबाजी प्रतियोगिता का किया आयोजन पटना को विजेता एवं भागलपुर बनी उपविजेता खेल से समाज में एक सकारात्मक संदेश जाता है : पूर्व सांसद आर के सिन्हा जयंती पर महिला एवं पुरूष मुक्केबाजी चैंपियनशिप का आयोजन सच्ची श्रद्धांजलि –नितिन नवीन खिलाड़ियों को उचित प्लेटफार्म प्रदान करना ही भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ का एक मात्र लक्ष्य-सतीश के राजू भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ द्वारा प्रदेश संयोजक सतीश राजू के नेतृत्व में भाजपा के वरिष्ठ नेता सह पूर्व विधायक श्रद्धेय नवीन सिन्हा जी के जयंती पर पाटलिपुत्रा खेल परिसर में दो दिवसीय महिला एवं पुरुष मुक्केबाजी चैंपियनशिप का समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया. जिसमें बिहार सरकार के माननीय पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन एवं भाजपा के संस्थापक सदस्य सह पूर्व राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा जी बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए एवं खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया. बिहार सरकार के मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ ने श्रद्धेय नवीन सिन्हा जी के जयंती के अवसर पर महिला एवं पुरूष मुक्केबाजी चैंपियनशिप का आयोजन कर उन्हे सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करने का कार्य किया है. आज के खेल में सभी खिलाड़ियों ने उत्कृष्ट खेल का प्रदर्शन किया और काफी रोमांचक मुकाबला देखने को मिला. उक्त अवसर पर भाजपा के संस्थापक सदस्य सह पूर्व राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा जी ने कहा की स्व नवीन सिन्हा जी जनता के बीच काफी लोकप्रिय नेता थे हर जाति धर्म के लोग उन्हें अपना नेता मानते थे और आज उनके 72वें जयंती के अवसर पर भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ

Read more

आरा में मनाया गया भाकपा माले 53 वां स्थापना दिवस

शहीद साथियों की याद में 1 मिनट का मौन आज भाकपा माले 53 वां स्थापना दिवस आरा नगर निगम क्षेत्र के वार्ड नंबर 21 महादेवा मगहिया टोली में मनाया गया. सर्वप्रथम झंडा तोलन कर जनवादी क्रांति में शहीद साथियों को 1 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दिया गया और भाकपा माले जिंदाबाद, जनवादी क्रांति में शहीद साथियों अमर रहे, नक्सलबाड़ी नहीं मरा है नहीं मरेगा, नक्सलबाड़ी लाल सलाम जैसे नारे लागाये गए. स्थापना दिवस को संबोधित करते हुए भाकपा माले के नेता अधिवक्ता वार्ड पार्षद अमित कुमार गुप्ता और बंटी ने कहा कि भाकपा माले का 53 वां वर्षगांठ है और आज ही के दिन पार्टी का स्थापना हुआ था आज है विश्व के महान नेता कॉमरेड लेनिन का 152 वां जन्मदिवस की है. पार्टी स्थापना काल से हैं भाकपा माले गरीब गुरबा छात्र नौजवान किसान मजदूर व्यवसाई प्रगतिशील बुद्धिजीवी अल्पसंख्यक समुदाय महिलाओं के सम्मान के सवाल पर लगातार लड़ती रही है. गंगा जमुनी तहजीब के लिए सामाजिक न्याय के लिए समानता के लिए इसमें भाकपा माले के हजारों हजार कार्यकर्ता और नेता इसके लिए शहीद हो गए और आज लोकतंत्र विरोधी भाजपा सरकार के खिलाफ शिक्षा रोजगार खेती-किसानी  निजी करण के खिलाफ खड़ा होने की जरूरत है और भाकपा माले और वामपंथी ताकतों को मजबूत करने का आह्वान किया . स्थापना दिवस में शामिल प्रमुख लोगों में अमित कुमार गुप्ता उर्फ बंटी( वार्ड पार्षद) लाल बाबू, राम दीपू राम प्रेम कुमार,  रमेश राम, बिंदेश्वरी राम, रवि राम, हीरामन राम,शंभू कुमार सुनील कुमार राम, सुजीत कुमार राम, मोहम्मद दानिश, बिट्टू

Read more

आरा के लाल अनुराग ने बढ़ाया भोजपुर का मान

भारत में मौरिस की पार्टनर कम्पनी राम ग्रुप के सीईओ बने अनुराग भारत में पहली electric SUV लौन्च हुई मौरिस की नई कार प्रसिद्ध कार कंपनी मौरिस की भारत की कंपनी राम ग्रुप की ओर से सीइओ अनुराग सिन्हा ने भारत में पहली electric SUV मौरिस की नई कार हैदराबाद में लांच किया. आरा के पकड़ी के रहने वाले अनुराग वरिष्ठ पत्रकार गुंजन सिन्हा के छोटे सुपुत्र है जिन्हें मौरिस कम्पनी की भारत में पार्टनर कम्पनी है राम ग्रुप में अनुराग सिन्हा को सीईओ बनाया है .भारत की पहली इलेक्ट्रिक एसयूवी कार लांच किया, इस मौके पर अनुराग ने बताया कि अच्छी कार अगर लेना है तो मौरिस एक बेहतर आप्शन है जिसके साथ कई बेहतरीन फीचर हैं . PNCDESK

Read more

महंगाई से बचाने वाली ” वैक्सीन’!

‘अंगना’: हमारी- तुम्हारी कहानियां महंगाई से बचाने वाला ” वैक्सीन’ कब होगा इजाद ? ‘बाजार में गर्मी जेब में नरमी’ बढ़ती महंगाई कम हो,सिकुड़ती आमदनी बढ़े सुधि पाठकों, गुड मॉर्निंग,सुहानी सुबह हम सभी का स्वागत कर रही है. आलस मिटा हमारे पूरे शरीर में जोश, स्फूर्ति और शक्ति भर रही है.आइये, हम सभी सुहानी भोर का अभिवादन स्वीकार करें. नैन बिछाए, बाहें पसारे आज की सुबह बड़े प्यार से हमें आवाज दे रही है.. जागो, मोहन प्यारे, जागो ! जागो, उठकर देखो जीवन ज्योत उजागर है. वाकई, रात गई, फिर आयी नयी सुबह. ढेर सारी मुस्कराहट लिये, अथाह उमंग भरी ताजगी लिये. हमारी खुशी के लिए, हम पर मेहरबान होने के लिए, एक नयी ‘शुरुआत’ के लिए हमें ‘जागना’ ही होगा. ठंड भी अब नहीं, आहिस्ता-आहिस्ता साथ छोड़ रही है.वासंती बयार हिलोरे, मार रही है. करवट  बदल रहा मौसम पूरी तरह अनुकूल है. वाकई, कितनी अच्छी है आज की सुबह! ऐसे में क्यों न पवित्र मन, पवित्र हृदय से ईश को नमन कर शानदार शुरुआत की जाए ताकि पूरा दिन, रात इतना बेहतर बीते कि हम ‘तर’ हो जाएं. दोस्तों, दिल का भूले नहीं तो खुलकर कहें अपनी बात. कोई सुने, न सुने. परवाह नहीं. मैं हूँ ना! ‘हमारी-तुम्हारी कहानियाँ’  कहने- सुनने वाला. मन की गांठे खोल सुनाइये दिल की बात. हर वह बात जो अनिवार्य लगे, अवश्य कहें. वैसी सभी बातें भी बेझिझक सुना ही दें जिसे कह देने को आपकी तबीयत मचलने लगे. सुनने-सुनाने लिए ही तो मैं हूँ. हर कदम हर मोड़ पर पायेंगे मुझे,सदा देता, सदा

Read more

छोटी नदियों के आपस में जुड़ने से जल संरक्षित रहेगा-नीतीश

गाद प्रबंधन के लिए हो तेजी से काम नदियों को जोड़ कर हो जल संचय मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जल संसाधन विभाग की कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं की समीक्षा की। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान के अंतर्गत गंगा जल उद्वह योजना की शुरुआत की गई जिसके तहत राजगीर, गया, बोधगया एवं नवादा में सभी लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए तेजी से कार्य किया जा रहा है। इस योजना को निर्धारित समय में पूर्ण करें। जल संसाधन विभाग, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग तथा नगर विकास एवं आवास विभाग आपस में समन्वय बनाकर तेजी से इस योजना को पूर्ण करें।मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निश्चय-2 के अंतर्गत हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचाने के लिए योजनाबद्ध ढंग से कार्य करें। उन्होंने कहा कि छोटी-छोटी नदियों को जोड़ने की योजना बनाएं इसको लेकर व्यावहारिक आकलन कराएं। छोटी नदियों के आपस में जुड़ने से जल संरक्षित रहेगा और इससे लोगों को सिंचाई कार्य में भी सुविधा होगी। नदियों में गाद की समस्या के समाधान हेतु गाद प्रबंधन के लिए काम करें। उन्होंने कहा कि सभी परियोजनाओं को ससमय पूरा करें।जल संसाधन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने प्रस्तुतीकरण के माध्यम से जल संसाधन विभाग के कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं की कार्य प्रगति की जानकारी दी। उन्होंने सिकरहना नदी के दायें किनारे तटबंध निर्माण का कार्य, बख्तियारपुर में गंगा की धार का पुनर्स्थापन कार्य, टाल विकास योजना, कोसी-मेची लिंक योजना, उत्तर कोयल जलाशय परियोजना, उत्तर बिहार की बाढ़ एवं जलजमाव की समस्या, दक्षिण बिहार की सिंचाई एवं बाढ़

Read more

रजिस्ट्रेशन में गांव का नाम एडमिट कार्ड में पंचायत हो गया!

39 परीक्षार्थियों पर संकट छाया, किया प्रैक्टिकल परीक्षा का बहिष्कार रजिस्ट्रेशन में बसडीहा एडमिट कार्ड में हो गया अमेहता कैसे? कहा – जल्द सुधार कर पुनः भेजे जाएंगे बच्चों के सही रजिस्ट्रेशन व एडमिट कार्ड आरा. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कारनामे जग जाहिर हैं। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की गलतियों की वजह से इस बार फिर परीक्षार्थियों में कन्फ्यूजन है। कन्फ्यूजन इस बात से है कि बच्चे किस स्कूल के विद्यार्थी हैं। जी हां सुनते ही आप जिस तरह चौंके होंगे विद्यार्थियों में दिमाग में भी ऐसा ही कुछ हुआ होगा। दरअसल यह भौंचक करने वाला मामला पीरो प्रखंड के अगिआंव बाजार थाना क्षेत्र के बसडीहा गांव का है। गांव में स्थित मिडिल स्कूल अपग्रेड होकर हाई स्कूल में तब्दील हो गया। कोरोना काल में पढ़ाई तो नही हुई लेकिन इसमें नामांकन जरूर हुआ। अब जिन विद्यार्थियों ने मैट्रिक का फॉर्म भरा उनके रजिस्ट्रेशन कार्ड पर तो हाई स्कूल बसडीहा प्रिंट है लेकिन एडमिट कार्ड पर बसडीहा की जगह अमेहता प्रिंट हुआ है। बच्चे इसी वजह से परेशान हैं। उन्हे समझ में नहीं आ रहा है कि वे बसडीहा स्कूल के छात्र हैं या फिर अमेहता के! इसको लेकर बच्चों ने शिक्षकों से मुलाकात कर जब इस गलती को सुधारने के लिए कहा तो शिक्षकों ने अपना पलड़ा झाड़ते हुए इसे बोर्ड की गलती करार दिया। इस वजह से कुछ बच्चों ने एडमिट कार्ड लिया ही नही। गुरुवार से शुरू होने वाले बिहार बोर्ड के प्रैक्टिकल परीक्षा के दिन विद्यार्थियों का गुस्सा फूटा। विद्यार्थियों ने हंगामा करते हुए बहिष्कार

Read more

कहीं आप भी तो नहीं करते हैं ये काम ….

पहचानिए और जानिये कैसे है आपके आप पास के लोग नाभि से जुड़ा है 72 हजार से अधिक नसों का नेटवर्क चेहरे की सूजन और सफेद धब्बे से छुटकारा शरीर के अन्य भाग  की तरह ही नाभि को लोग बेहद सामान्य समझने लगे हैं. जन्म के बाद गर्भनाल द्वारा छोड़े गए निशान के अलावा और कुछ नहीं है तो आप गलत हैं. वास्तव में यह आपके शरीर का एक चमत्कारिक स्थान बिन्दु के रूप में है. शरीर के विभिन्न भागों से जुड़ी 72 हजार से अधिक नसों का घना नेटवर्क है. अगर नाभि में हर दिन तेल की कुछ बूंदे डाली जाएं तो इससे कई तरह की हेल्थ व स्किन केयर प्रॉब्लम्स से बेहद आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है. सर्दियो में सूखे व फटे होंठों की समस्या को दूर करने के लिए महिलाएं हर थोडी-थोड़ी देर में लिप बाम लगाती है. लेकिन अगर आप इससे भी आसान तरीका ढूंढ रही हैं तो ऐसे में आप रात को थोड़ा सा सरसों का तेल लें और इसे अपने नाभि पर लगाएं. यह आपके फटे होंठों को ठीक करता है और उन्हें अधिक मुलायम बनाने में मदद करता है.अगर आप अपनी स्किन पर पिंपल्स के कारण परेशान हैं तो आपको चेहरे पर पिंपल्स और मुंहासों के निशान से छुटकारा पाने के लिए अब और परेशान होने की जरूरत नहीं है. बस अपनी नाभि पर नीम का तेल लगाएं. यह आपकी स्किन को अधिक क्लीयर बनाएगा. साथ ही साथ इससे आपको चेहरे की सूजन और सफेद धब्बे से छुटकारा पाने में भी

Read more