जब दीपावली बन गयी ‘अमावस की काली रात’

दीपावली में निकला आरा के दो प्रतिष्ठानो का दिवाला आरा, 28 अक्टूबर. आज पूरा शहर दीवाली की खुशियों के बीच दीये और पटाखे जला के खुशियों को बांटने की कोशिश कर ही रहा था की शहर के बीचों बीच दो स्थानों पर आग ने अपना काम भी शुरू कर दिया और अग्नि ने भयानक रूप ले शहर के दो प्रतिष्ठित प्रतिष्ठानों पर अमावस्या की काली परत चढ़ा दी और पूरे व्यवसाय को अपनी कालिमा में निगल लिया . हम बात कर रहें है आज शहर में हुए दो प्रतिष्ठानों की जो शहर का हमेशा से नाक रहा है. पहली घटना हरि जी का हाता में tvs बाइक के सर्विस सेंटर में घटी और दूसरी बाबू बजकर स्थित आरा का सबसे पुराना बेकरी के दुकान केक प्लेस के. सुबह का 3:15 बज चुका है और आग पर काबू पका लिया गया है. लेकिन इन दोनों प्रतिष्ठानों में बैजे राख और बुझ चुकी आग से निकल रही धुँआ की लपटें अपने अस्तिव का बयान कर रही है. पूरे जिले को केक खिलाने वाला केक प्लेस में अभी धुँआ और गीली राख के अलावा कीच भी नही बचा है. आरा में बेकरी की यह वह पुरानी दुकान है जहां से निर्मित पावरोटी,बिस्किट और अन्य खाद्य सामग्रियों को स्कूल के बच्चे अपने स्कूलों में टिफिन में बड़े चाव से खाया करते थे. दूसरी घटना प्रताप TVS शो रूम की है जो पूरे जिले को TVS की बाइक मुहैया कराता था.बताते चलें कि प्रताप TVS पहले महिंद्रा की बाइक और स्कूटी का शऔ रूम हुआ

Read more

केक पैलेस में कैसी लगी आग …..

आरा का सबसे पुराना केक का दुकान स्वाहा आरा,28 कटुबर. शहर के बाबु बाजार स्तिथ केक पैलेस में आज रात 12:35 के आसपास शार्ट सर्किट के कारण भीषण आग लग गई, जिसमे लाखों का सामान धु-धु कर जल रहा है. रिपोर्ट लिखने तक दमकल की 7 गाड़ी भी आग पे काबू नही कर पा सकी हैं. हालांकि सिर्फ माल की हानि हुई है किसी के हताहत होने की खबर हमें अभी तक नही मिल सकी है. शहर में आग लगने की ये कोई नई घटना नही है. आये दिन इसका कोई न कोई शिकार हो ही जाता है लेकिन विडम्बना देखिए बिहार फायर सर्विस की. इनको जल्दी पहुचने के स्थान पर इनके नवनिर्मित भवन जो कि शहर के बाहरी इलाके में है वहाँ शिफ्ट कर दिया गया. दमकल विभाग अपना काम तो दुरुस्ती से कर रहा है लेकिन कहीं न कहीं इन सब के जिम्मेदार निगम के कर्मचारी भी है जिन्होंने शहर के सबसे व्यस्तम और सघन बस्ती में ही बेकरी फैक्ट्री का लाइसेंस दे रखा है. ये कोई मामूली घटना नही मानी जायेगी ,अगर समय रहते आग पर काबू नही पाने की कोशिश की गई होती तो आग ने बहुत भीषण रूप दिखाया होता,करीब करीब 4 हजार की आबादी वाला ये इलाका काफ़ी अहमियत रखता है इस शहर के लिए. केक प्लेस बाबू बाजार में जहां स्टीट है यहाँ दो +2लेवल का स्कूल, 1 सिनेमा हॉल और सटे ही कई सारे छोटे-मोटे डॉ के क्लीनिक का ये इलाका किसी भी बड़े हादसे को आमंत्रित कर सकता है. आरा से

Read more

चलते….चलते ही….. चला गया

गडहनी. गडहनी थाना क्षेत्र के बगवाँ रिमझिम लाइन होटल मे काम करने वाले एक व्यक्ति की अचानक मौत हो गई।बताया जा रहा है कि मृतक होटल से काम करके वापस घर लौट रहा था इसी बीच बगवाँ युनियन बैंक के समीप पीपल वृक्ष के पास गिर पडा जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा गडहनी थाना को दी गई।सूचना मिलते ही गडहनी थानाध्यक्ष मोहम्मद साजिद हुसैन दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच शव को कब्जे मे ले पोस्टमार्टम हेतु आरा सदर भेज दिया।थानाध्यक्ष द्वारा बताया गया कि मृतक गडहनी ब्लॉक रोड निवासी दिनेश कुमार उर्फ सिंघानिया है जो रिमझिम होटल बगवाँ मे काम करता था।समाचार लिखे जाने तक मृत्यु का कारण पता नही चल पाया है हालांकि अनुमान लगाया जा रहा है कि हार्टअटैक के कारण मृत्यु हुई है।मृतक की पत्नी गडहनी थाना मे रसोइया का काम करती है।परिजनों द्वारा शव का अन्तःपरीक्षण नही कराया गया।शव को पुलिस से परिजनों को सौंप दिया। खाकी पर उठा सवाल,क्यों नही कराया अत्यंत परीक्षण,न दर्ज किया केस गड़हनी। स्थानीय थाना अंतर्गत बँगवा के समीप गड़हनी ब्लॉक रोड के स्थानीय निवासी दिनेश कुमार उर्फ सिंघानिया जो कि होटल का कामगार में से एक था,उसकी मृत्यु हो जाने पर बँगवा में शव पाया गया लेकिन स्थानीय थाना में शव मिलने का कोई साक्ष्य नही हैं।पुलिस ने न ही केस दर्ज की और न अत्यंत परीक्षण कराई वैसे में आम जन की सुरक्षा की दावेदारी करने वाले खांकि पहने उन पुलिसकर्मियों पर सवाल उठता हैं जो सारा काम काज में

Read more

मौत के 4 घण्टे के बाद पहुंची रेस्क्यू टीम

आरा सदर के अंतर्गत बलबतरा गांव के 14 वर्षीय युवक की हुई डूबने से मौत आरा. आरा क्षेत्र के अंतर्गत बलबतरा गांव में 14 वर्षीय युवक डूबने से मौत हो गई. मोहम्मद सना पिता मोहम्मद सहमद का पुत्र बताया जा रहा है. मोहम्मद सना सिन्ही पुल के पास अपने कुछ दोस्तों के साथ नहाने गया हुआ था नहाते-नहाते वह काफी दूर निकल गया और डूबने लगा स्थानीय लोगों ने बचाने की पूरी कोशिश की परंतु वह बच ना सका. बताया जा रहा है कि नदी पुल के पास पानी करीब 25 फीट गहरा है यह घटना शुक्रवार की सुबह 11:00 बजे घटित हुई. मोहम्मद सना आरा क्षत्रिया स्कूल में नौवीं कक्षा का छात्र था . गुरुवार को 2:00 बजे से उसके स्कूल में परीक्षा भी थी. दुर्भाग्यवश वह स्कूल ना जा सका और पानी के बीच धार में हमेशा के लिए समाहित हो गया. ग्रामीण लोगों का कहना है सभी अधिकारियों को करीब 12:00 बजे ही सूचना दे दी थी परंतु एनडीआरएफ की टीम करीब 3:00 बजे पहुंची. उस बच्चे की तलाश में एनडीआरएफ टीम लगी रही परंतु रात होने की वजह से वह शव को ढूंढ ना पाई. सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि यह रेस्क्यू अगली सुबह फिर से जारी रहेगी. आरा से सावन कुमार की रिपोर्ट

Read more

लापरवाह जिला प्रशासन बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचने में विफल, एक महिला की मौ’त

नाव के अभाव में गयी जान, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में फंसे लोगों की बिगड़ रही है तबियत आरा, 25 सितंबर. बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में पीड़ितों तक पहुंचने का दावा करने वाले जिला प्रशासन की सच्चाई मंगलवार को सामने आई जब नाव के अभाव में बाढ़ क्षेत्र में बीमार महिला इलाज के अभाव में दम तोड़ दी. तस्वीर खुद हक्कीकत बयान कर रही है, जहाँ पानी मे से पैदल कंधे पर एक लाश ढोते हुए कुछ लोग आते दिख रहे हैं. घटना आरा प्रखंड के पिरौटा पंचायत की है. मृतक आशा देवी, बिनोद प्रसाद की पत्नी थी,जो राजकीय अभ्यासार्थ बुनियादी विद्यालय पिरौटा में रसोईया के काम करती थी. मिली जानकारी के अनुसार आशा देवी की अचानक बहुत ज्यादा तबियत बिगड़ने लगी. लेकिन बाढ़ क्षेत्र में फंसे बदकिस्मत को क्या पता था कि उन्हें हॉस्पिटल पहुंचने के लिए इस बाढ़ क्षेत्र में जिला प्रशासन एक नाव तक मुहैया नही कराएगी. हुआ भी यही, नियति का खेल कहिए या उस महिला की बदकिस्मती, उसे पानी मे ही किसी तरह खटिया पर लाद कर ग्रामीण इलाज के लिए बाहर लाए ताकि उसका इलाज सदर अस्पताल में करा दिया जाएगा, लेकिन आरा हॉस्पिटल ले जाने से पूर्व ही वह चल बसी. ऐसा लगा मानो बाढ़ के किनारे मौत खड़ी हो उसका इंतजार कर रही हो. अगर इस बढ़ ग्रस्त इलाके में नाव की व्यवस्था होती तो समय से उसे हॉस्पिटल पहुँचाया जा सकता था,जहां उसकी जान बच जाती. बताते चलें कि 22 सितम्बर को भी पिरौटा पंचायत के ग्राम जगवलिया के स्व० द्वरिका चौधरी के

Read more

मंगलवार पड़ा भारी | जान से हाथ गवाई

कोइलवर/भोजपुर (अमोद कुमार की रिपोर्ट) | नगर पंचायत कोइलवर के वार्ड 8 में मंगलवार शाम ताड़ी के पेड़ पर चढ़ना जानलेवा साबित हुआ. हर बार की भांति मंगलवार को भी महंगू चौधरी ताड़ के पेड़ पर ताड़ी उतारने के लिए चढ़ा था. वः पेड़ के सबसे ऊपर पहुँच गया था. ताड़ी उतारते वक्त महंगू ने कमर पर रस्सी बांधा हुआ था ताकि पेड़ पर चढ़ने या उतरने के दौरान कुछ हादसा न हो जाये. परन्तु नियति को कुछ और मंजूर था. हुआ यूँ कि ताड़ी के पेड़ पर चढ़ने के बाद अचानक महंगू के हाथ से ताड़ का पेड़ छूट गया और कमर में लगे रस्सी पर लटक गया. वह ऊपर काफी देर लटका रहा. कुछ देर बाद वहां से गुजरते हुए राहगीरों की नजर उसपर पड़ी. उसे पेड़ पर लटका देख राहगीरों ने हल्ला मचाना शुरू किया. फिर काफी लोग घटनास्थल पर इकट्ठा हो गए. बड़ी मसक्कत के बाद महंगू को ताड़ के पेड़ से उतारा गया. पुलिस मौके पर पहुंच कोइलवर अस्पताल ले गई. अस्पताल में चिकित्सक ने मृत घोषित किया.

Read more

मॉब लीचिंग की घटना निकली अफवाह, पुलिस ने कहा अफवाह से बचे

कोइलवर/कुल्हड़िया (आमोद कुमार की रिपोर्ट) | बृहस्पतिवार दोपहर करीब तीन बजे कुल्हड़िया में एक अज्ञात व्यक्ति की मौत हो गई. कुछ लोगों के अनुसार मॉब लीनचिंग के शिकार इस युवक को लाठी-डण्डे से जम कर पिटाई की गई थी. यह घटना चांदी थाना क्षेत्र के कुल्हड़िया के दलित बस्ती की है. वहीं, कुल्हड़िया में एक तथाकथित चोर की पिटाई के मामले में भोजपुर एसपी ने कहा कि इस तरह की कोई घटना नही हुई है. कुल्हड़िया रेलवे स्टेशन से सटी बस्ती के समीप खेत में एक युवक बेसुध अवस्था मे पड़ा था. जिसे पुलिस इलाज के लिय पीएचसी कोईलवर लायी. जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गयी. हालांकि इस घटना को ग्रामीणों द्वारा अफवाह फैला दी गयी थी कि भीड़ ने पिट पिट मार डाला. लेकिन इसकी पुष्टि नही हो पाई है. वही चिकित्सक डॉ उमेश कुमार सिंह ने बताया कि जिस जख्मी को पुलिस ने पीएचसी में भर्ती कराया था. उसके इंटरनल पार्ट में गंभीर चोट लगी थी. जिसे तत्काल बेहतर चिकित्सा की जरूरत थी. लेकिन पुलिस जख्मी को अस्पताल में छोड़ चली गईंइधर अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि 102 एम्बुलेंस हड़ताल पर होने के कारण गभीर रूप से जख्मी को सदर अस्पताल भेजने के कोई साधन नही था. जिस कारण इलाज के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गयी. चांदी पुलिस ने बताया पोस्टमार्टम के बाद मौत के कारणों का खुलासा हो पायेगा.

Read more

विधायक की गाड़ी दुर्घटनाग्रस्त, बाल बाल बचे

कोइलवर/भोजपुर (आमोद कुमार)| बड़हरा विधानसभा क्षेत्र के विधायक सरोज यादव सोमवार को अपराह्न करीब तीन बजे कोइलवर थाना क्षेत्र के नेशनल हाइवे पर कुल्हड़िया के पास हुए एक सड़क हादसे में बाल-बाल बच गए. विधायक यादव अपने स्कॉर्पियो से पटना के तरफ से आरा जा रहे थे.अपराह्न तीन बजे के करीब कुल्हड़िया के पास राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर एक ऑटो से उनकी स्कॉर्पियो गाड़ी की पीछे से टक्कर हो गई. हालांकि इस दुर्घटना में किसी तरह का कोई अनहोनी नही हुआ और नाही किसी को चोट लगी. परन्तु विधायक की गाड़ी का लुकिंग ग्लास टूट गया. घटना की सूचना मिलने के साथ ही कोइलवर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और मामले को शांत कराया. हादसे के बाद सड़क पर आवागमन अस्थायी रूप से थोड़े समय के लिए प्रभावित हुआ. मौके पर स्थानीय मुखिया सुरेन्द्र यादव भी पहुंच मामले को शांत कराया.

Read more

सिने स्टार…. सांसद… और अब ‘रियल हीरो’

सांसद रवि किशन ने दिखाई दरियादिली, नन्हे बच्चों की बचाई जान पटना, 3 अगस्त. फिल्मी पर्दे पर जब हीरो का अवतरण होता है तो दिल खुशी से झूम उठता है और यह खुशी इसलिए होती है कि हीरो यानि नायक अच्छा काम करने वाला होता है. अब वह काम घर के लिए हो मुहल्ले के लिए हो या समाज और देश के लिए. लेकिन यह पर्दे पर जो नजर आता वैसा सचमुच कोई करने लगे तो समाज का रियल हीरो बन जाता है. लेकिन पर्दे का नायक वास्तविक जीवन मे भी वैसा करने लगे तब? क्यों…अब तो आपके दिमाग मे कौन है यह शख्स ऐसा सवाल चल रहा होगा. तो लीजिए देर न करते हुए मैं नाम बता ही दे रहा हूँ. यह शख्स कोई और नही बल्कि गोरखपुर के नव निर्वाचित सांसद और बॉलीवुड के फेमस कलाकार रवि किशन हैं. दरअसल रवि किशन शुक्रवार को अपने घर से संसद के लिए जा रहा थे कि रास्ते में उन्हें बच्चों की चीख-पुकार सुनाई दी. उन्होंने अपनी गाड़ी रोकी और बाहर देखा तो स्कूल के मासूम बच्चो का स्कूल वाहन दुर्घटना ग्रस्त हो गया था. सांसद रवि किशन ने बिना समय गंवाए तुरन्त गाड़ी से निकले और बच्चों के सहयोग में लग गए. बच्चों को सुरक्षित स्थान और लाया. इस दौरान बारिश भी हो रही थी लेकिन उन्होंने बारिश में भीगते हुए बच्चों को सुरक्षित किया. छोटे बच्चे काफी घबराए हुए थे और डर से रो रहे थे. सांसद ने बच्चों को दिलासा देते हुए शांत कराया. तब जाकर बच्चों को

Read more

बिहटा में मोबाइल दुकानदार की हत्या

बिहटा में मोबाइल दुकानदार की गोली मारकर हत्या, बाइक पर पिस्तौल लहराते फरार हुए अपराधीआक्रोशित लोगों ने बिहटा चौराहा पर शव को रख किया कई मार्गों पर यातायात ठप, आगजनी, हंगामाबिहटा (सन्तोष चौहान की रिपोर्ट)| बिहटा चौराहे के निकट मंगलवार की रात करीब साढ़े 8 बजे अपराधियों ने विमल एंटरप्राइजेज मोबाईल के दुकान में घुसकर दुकानदार विमलेश की गोली मारकर हत्या कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी बाइक पर सवार होकर आरा की ओर भाग निकले. घटना से आक्रोशित लोगों ने मृतक के शव को बिहटा चौरस्ता पर रखकर कई मार्गों का यातायात जाम कर दिया. लोगों ने सड़क पर आगजनी कर पटना-आरा एनएच 30,खगौल और अरवल पालीगंज मार्ग पर यातायात ठप कर दिया है. साथ ही अपराधियो के अविलंब गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. मृतक विमलेश भोजपुर जिले के गड़हनी थाना के शिवपुर निवासी स्व रामानुज सिंह का माँझील पुत्र था. विमलेश बचपन से अपने मामा के घर रहता था. बताया जाता है कि रात 8बजे के करीब एक बाइक पर सवार होकर आए 2 अपराधियों ने उसके दुकान पर घुसकर दो गोली मार दी .एक गोली तो ऊपर से निकल गई . लेकिन दूसरी गोली उसके सीने में जा लगी. बाहर निकलकर उसने तीसरी गोली हवा में फायर किया और फिर हाथ में पिस्टल लहराते आरा की ओर भाग निकले. मौत की सूचना पर आक्रोशित लोगों का चौराहा पर हंगामा विमलेश की मौत पर आक्रोशित व्यवसायियों का गुस्सा सड़क पर फूट पड़ा. शव को बिहटा चौराहा पर रखकर लोगों ने सड़क को चारों तरफ

Read more