रेलवे अभ्यर्थियों के विरोध प्रदर्शन से रेल परिचालन बुरी तरह प्रभावित

पटना में सोमवार को अचानक राजेंद्र नगर टर्मिनल पर जुटे हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों ने ट्रेनों का परिचालन बाधित कर दिया. ये सभी रेलवे एनटीपीसी परीक्षा में शामिल हुए अभ्यर्थी हैं जो रिजल्ट का विरोध कर रहे हैं. इसके अलावा ग्रुप डी की बहाली प्रक्रिया में हुए बदलाव का भी अभ्यर्थी जमकर विरोध कर रहे हैं. देर शाम पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे रेलवे अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस छोड़कर उन्हें रेलवे ट्रैक से हटाया. इस दौरान शाम से ही पटना के आसपास और कई अन्य जगहों पर कई ट्रेनें जहां-तहां फंसी रही और इन में सवार यात्री खासे परेशान दिखे. रेलवे को राजेंद्र नगर टर्मिनल स्टेशन पर प्रदर्शन के कारण ट्रेनों के परिचालन में बदलाव करना पड़ा है. पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने पटना नव को बताया की राजेंद्र नगर टर्मिनल पर हो रहे प्रदर्शन की वजह से कुछ ट्रेनें रद्द की गई हैं जबकि कुछ ट्रेनों के परिचालन में बदलाव किया गया है. 24.01.2022 को राजेंद्रनगर टर्मिनल/पटना से प्रस्थान करने वाली ट्रेन जिनका परिचालन रद्द किया गया है: 12309 राजेंद्र नगर टर्मिनल-नई दिल्ली तेजस राजधानी एक्सप्रेस। 12393 राजेंद्र नगर टर्मिनल-नई दिल्ली संपूर्ण क्रांति एक्सप्रेस । 13288 राजेंद्र नगर टर्मिनल-दुर्ग साउथ बिहार एक्सप्रेस । 12352 राजेंद्र नगर टर्मिनल-हावड़ा एक्सप्रेस । 13201 पटना-लोकमान्य तिलक टर्मिनस एक्सप्रेस । 🔸 परिवर्तित मार्ग से चलायी जाने वाली ट्रेन:- 24.01.2022 को भागलपुर से प्रस्थान करने वाली 12367 भागलपुर-आनंद विहार टर्मिनस विक्रमशिला एक्सप्रेस का परिचालन परिवर्तित मार्ग वाया किउल-गया-पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन के रास्ते । 24.01.2022

Read more

कोरोना पॉजिटिव हैं, तो कब ले सकते हैं कोविड वैक्सीन?

भारत में कोरोना संक्रमण एक तरफ तेजी से पांव पसार रहा है दूसरी तरफ देश भर में कोविड-19 वैक्सीनेशन का काम भी जोरों से चल रहा है. मुश्किल वक्त में एक सवाल जो सबके जहन में आता है और जिसका जवाब हर व्यक्ति जानना चाहता है कि अगर मैं कोरोना पॉजिटिव पाया गया हूं तो कितने दिन के बाद कोविड-19 की पहली दूसरी या बूस्टर डोज ले सकता हूं. एक और सवाल जिसका जवाब कोविड-19 वैक्सीन लेने वाले लोग जानना चाहते हैं वह यह कि कोई भी व्यक्ति बूस्टर डोज कब ले सकता है. केंद्र सरकार ने एक विज्ञप्ति जारी करके इस बारे में स्थिति स्पष्ट की है. केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति की कोरोना जांच लैब रिपोर्ट में पॉजिटिव पाई गई है तो वह व्यक्ति स्वस्थ होने के 3 महीने बाद ही कोविड-19 की कोई भी खुराक ले सकता है. आप अगर कोविड-19 वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके हैं तो दूसरे डोज लेने की तिथि से 9 महीने बाद ही आप बूस्टर डोज ले सकते हैं. बूस्टर डोज के लिए 9 महीने का अंतराल हर उस वैक्सीन के मामले में लागू होगा जो भारत में दी जा रही है. pncb

Read more

रजिस्ट्रेशन में गांव का नाम एडमिट कार्ड में पंचायत हो गया!

39 परीक्षार्थियों पर संकट छाया, किया प्रैक्टिकल परीक्षा का बहिष्कार रजिस्ट्रेशन में बसडीहा एडमिट कार्ड में हो गया अमेहता कैसे? कहा – जल्द सुधार कर पुनः भेजे जाएंगे बच्चों के सही रजिस्ट्रेशन व एडमिट कार्ड आरा. बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कारनामे जग जाहिर हैं। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की गलतियों की वजह से इस बार फिर परीक्षार्थियों में कन्फ्यूजन है। कन्फ्यूजन इस बात से है कि बच्चे किस स्कूल के विद्यार्थी हैं। जी हां सुनते ही आप जिस तरह चौंके होंगे विद्यार्थियों में दिमाग में भी ऐसा ही कुछ हुआ होगा। दरअसल यह भौंचक करने वाला मामला पीरो प्रखंड के अगिआंव बाजार थाना क्षेत्र के बसडीहा गांव का है। गांव में स्थित मिडिल स्कूल अपग्रेड होकर हाई स्कूल में तब्दील हो गया। कोरोना काल में पढ़ाई तो नही हुई लेकिन इसमें नामांकन जरूर हुआ। अब जिन विद्यार्थियों ने मैट्रिक का फॉर्म भरा उनके रजिस्ट्रेशन कार्ड पर तो हाई स्कूल बसडीहा प्रिंट है लेकिन एडमिट कार्ड पर बसडीहा की जगह अमेहता प्रिंट हुआ है। बच्चे इसी वजह से परेशान हैं। उन्हे समझ में नहीं आ रहा है कि वे बसडीहा स्कूल के छात्र हैं या फिर अमेहता के! इसको लेकर बच्चों ने शिक्षकों से मुलाकात कर जब इस गलती को सुधारने के लिए कहा तो शिक्षकों ने अपना पलड़ा झाड़ते हुए इसे बोर्ड की गलती करार दिया। इस वजह से कुछ बच्चों ने एडमिट कार्ड लिया ही नही। गुरुवार से शुरू होने वाले बिहार बोर्ड के प्रैक्टिकल परीक्षा के दिन विद्यार्थियों का गुस्सा फूटा। विद्यार्थियों ने हंगामा करते हुए बहिष्कार

Read more

बड़ी खबर: बिहार में कोविड प्रतिबंध की अवधि बढ़ी

कोरोना संक्रमण की स्थिति के मद्देनजर बिहार सरकार ने कोविड-19 प्रतिबंध की अवधि बढ़ा दी है. 21 जनवरी तक जो प्रतिबंध बिहार में लागू हैं उन्हें अब 6 फरवरी तक के लिए बढ़ा दिया गया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी है और लोगों से सावधान रहने को कहा है. आज क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप ने कोरोना प्रतिबंध को 6 फरवरी तक बढ़ाने के अनुशंसा की है. ऐसे में शैक्षणिक संस्थान 6 फरवरी तक बंद रहेंगे और सरकारी कार्यालयों में 50 फ़ीसदी उपस्थिति ही मान्य होगी. राजेश तिवारी

Read more

कई साल से अधूरा पड़ा था ये पुल, अब फिर जगी उम्मीद

पटना।। पिछले कई वर्षो से अधूरे पड़े पटना के मीठापुर फ्लाईओवर की गया रेल गुमटी से पुनपुन लेग की तरफ काम जल्द पूरा होने की उम्मीद बढ़ गई है. कोर्ट केस की वजह से कई वर्षों तक काम पेंडिंग रहा . इसके बाद स्थानीय लोगों के विरोध की वजह से भी काम रोकना पड़ा जिसके कारण मीठापुर फ्लाईओवर अब तक गया रेल गुमटी की तरफ से पूरा नहीं बन पाया है. लेकिन अब जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए पुल निर्माण में बाधा बन रहे मकानों को तोड़ने का काम शुरू कर दिया है. पटना जिला प्रशासन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक मीठापुर रेलवे ओवर ब्रिज के पुनपुन लेग के लिए भू अर्जन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है. मार्गरेखन में 27 भू-धारियों के 77 डिसमिल जमीन का अर्जन किया गया है जिसकी प्राक्कलित राशि 21.72 करोड़ रूपये है. इस संबंध में भू- धारियों को तीन बार नोटिस दिया गया. पहला नोटिस 4 अगस्त 2021 को, दूसरा नोटिस 24 नवंबर 2021 को एवं तीसरा नोटिस 17 दिसंबर 2021 को दिया गया, परंतु कुछ लोग नोटिस नहीं लिए तथा कुछ लोग नोटिस लेकर भी भुगतान प्राप्त करने के लिए बैंक खाता आदि काग़ज़ात जमा नहीं किए. कई बार शिविर का आयोजन भी किया गया तथा अंत में 29.12.2021 को दैनिक समाचार पत्रों में भी नोटिस का प्रकाशन किया गया परंतु लोग विरोध स्वरूप संज्ञान नहीं लिये. इसलिए विहित प्रक्रिया के तहत सभी जानकारी देने एवं अपेक्षित कार्रवाई करने के उपरांत एलाइनमेंट में आनेवाले घरों को तोड़ने की

Read more

बिहार में तब पीक पर होगा कोरोना

पटना एम्स ने लोगों को चेताया,कोरोना गाइड लाइन का सख्ती से करें पालन 24 जनवरी से 26 जनवरी के बीच बिहार में पीक पर होगा कोरोना एक दिन में 18 से 20 हजार नए संक्रामित सामने आने की आशंका फुलवारी शरीफ ,अजीत।। बिहार एक बार फिर कोरोना की चपेट में हैं । तीसरी लहर में नए केस मिलने की रफ्तार दूसरी लहर से काफी तेज है. इस बीच पटना एम्स ने लोगों को कड़ी चेतावनी देते हुए हर हाल में सख़्ती कोरोना गाईड लाइन का पालन करने की अपील की है।अनुमान के मुताबिक , जब बिहार में कोरोना पीक पर होगा तो रोजाना करीब 18 से 20 हजार मामले आ सकते हैं । हालांकि पटना एम्स और सरकार का पूरा मेडिकल सिस्टम इससे लड़ने के लिए तैयार है . पटना एम्स नोडल कोरोना ऑफ़िसर डॉ संजीव कुमार ने बताया कि आम लोग काफी हद तक खुद से घर में इलाज कर ले रहे हैं , लेकिन ऐसे में यह समझ लेना कि लक्षण गंभीर नहीं होंगे या यह परेशानी नहीं बढ़ेंगी , यह गलत है । हमारे पास अब तक 60 से अधिक मरीज भर्ती हो चुके हैं , जिसमें से 5 की मौत भी हुई है. उन्होंने बताया कि लोग यह मान बैठे हैं कि तीसरी लहर के लक्षण बर्दाश्त किए जा सकते हैं और इसके लिए जांच कराने की जरूरत नहीं है । यही सोच हमारे लिए बड़ी परेशानी बन सकती है , क्योंकि इसकी वजह से संक्रमण दर तेजी से बढ़ेगी । लोग संक्रमित होने के बावजूद

Read more

कोविड से उबरने को लेकर क्या हैं ताज़ा गाइडलाइंस!

कोरोना की नई गाइडलाइन के बारे में आप कितना जानते हैं. बिहार सरकार ने जो गाइडलाइंस जारी की है उसके बारे में आपको जानना जरूरी है क्योंकि समय समय पर कोविड गाइडलाइंस और कोविड वैक्सीनेशन को लेकर गाइडलाइंस में परिवर्तन होता रहा है. जो नई गाइडलाइंस हैं उसके बारे में आपको पटना नाउ पूरी जानकारी दे रहा है. केंद्र सरकार की नए कोरोना प्रोटोकॉल के मुताबिक अगर आप कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं लेकिन कोई लक्षण नहीं है तो होम आइसोलेशन में रहना है. होम आइसोलेशन में भी परिवार वालों से अलग कमरे में रहना है. संक्रमित व्यक्ति के साथ-साथ परिवार के अन्य सदस्यों को भी मास्क लगाना जरूरी है. अगर 7 दिन में 3 दिनों तक लगातार बुखार नहीं हुआ तो खुद को निगेटिव मानकर आप सामान्य हो सकते हैं. 7 दिन के बाद कोई टेस्ट कराने की जरूरत नहीं है. अगर आपकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है और कोई अन्य बीमारी भी है तो सावधान रहें. कोई लक्षण है तो ऑक्सीजन की मॉनिटरिंग करते रहें और अगर ऑक्सीजन का लेवल गिरता है तो तत्काल डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं. सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई टेलीमेडिसिन की सहायता से आप अपना उपचार कर सकते हैं. pncb #covidprotocol

Read more

तमाम कोचिंग और स्कूल- कॉलेज तत्काल प्रभाव से बंद

बिहार सरकार ने अपने पूर्व के आदेश में संशोधन करते हुए 6 जनवरी को एक नया आदेश जारी किया है जिसके अनुसार राज्य के सभी स्कूल, कॉलेज और कोचिंग समेत तमाम शिक्षण संस्थान को तत्काल प्रभाव से बंद करने का आदेश दिया गया है. कोविड-19 संक्रमण की बेलगाम रफ्तार को देखते हुए सरकार को अपने पूर्व के निर्णय में संशोधन करना पड़ा है. स्कूल कॉलेज और शिक्षण संस्थानों में कार्यालय में शिक्षकों और कर्मियों की 50 फ़ीसदी तक उपस्थिति सीमित रखने का निर्देश भी जारी किया गया है. बता दें कि बिहार में गुरुवार को एक बार फिर संक्रमण में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है. कुल 2379 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं. पटना में 1407, गया में 177 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं. यही वजह है कि सरकार को अब हाई स्कूल और कॉलेज के साथ तमाम शिक्षण संस्थानों को तत्काल प्रभाव से बंद करने का निर्णय लेना पड़ा है. 6 जनवरी से ही बिहार में कई तरह के प्रतिबंध लागू हुए हैं जिनमें रात 10:00 से सुबह 5:00 तक नाइट कर्फ्यू और बाजार शाम 8:00 बजे तक बंद करने का आदेश शामिल है. इसके पहले कक्षा 1 से 8 तक के सभी स्कूल और शिक्षण संस्थान भी बंद हो चुके हैं. पटना जिला प्रशासन ने स्पष्ट किया है कि जिन संस्थानों/ विद्यालयों में टीकाकरण की तिथि निर्धारित है, उनमें टीकाकरण का कार्य जारी रहेगा. विद्यालय खुलेंगे , बच्चे भी आएंगे. टीकाकरण होने तक परिवहन के साधन भी अनुमान्य होंगे. राजेश तिवारी

Read more

आ गया है आदेश, 6 जनवरी से लागू होंगे ये प्रतिबंध

बिहार में दिनांक 06.01.2022 से 21.01.2022 तक निम्नांकित प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया : सभी सरकारी कार्यालय एवं गैर सरकारी कार्यालय 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ खुलेंगे. सरकारी कार्यालयों में आगंतुकों का प्रवेश वर्जित होगा अपवाद :- आवश्यक सेवाओं यथा जिला प्रशासन, पुलिस, होमगार्ड कारा सिविल डिफेंस, विद्युत आपूर्त्ति, जलापूर्ति, स्वच्छता, फायर ब्रिगेड स्वास्थ्य, पशु स्वास्थ्य आपदा प्रबंधन दूर संचार डाक विभाग से संबंधित कार्यालय, कोषागार एवं उनसे सम्बन्धित वित्त विभाग के कार्यालय, खाद्यान्न की अधिप्राप्ति से संबंधित कार्यालय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की अत्यावश्यक गतिविधियों से सम्बन्धित कार्यालय यथावत् कार्य करेंगे. 2. न्यायिक प्रशासन के संबंध में माननीय उच्च न्यायालय के द्वारा लिया गया निर्णय प्रभावी होगा. सभी दुकानें एवं प्रतिष्ठान 08.00 बजे रात्रि तक ही खुल सकेंगे. अपवाद : (क) बैंकिंग, बीमा, एवं ए.टी.एम. संचालन से संबंधित प्रतिष्ठान, गैर बैंकिंग वित्तीय कम्पनियों के कार्यालय / गतिविधियाँ . (ख) औद्योगिक एवं विनिर्माण कार्य से संबंधित प्रतिष्ठान . (ग) सभी प्रकार के निर्माण कार्य (Construction Works)। (ET) E-commerce से जुड़ी सारी गतिविधियाँ एवं कुरियर सेवायें।(27) E-commerce से जुड़ी सारी गतिविधियाँ एवं कुरियर सेवायें. (ड) कृषि एवं इससे जुड़े कार्य . (च) प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (छ) टेलीकम्यूनिकेशन, इंटरनेट सेवाएँ, ब्रॉडकास्टिंग एवं केवल सेवाओं से संबंधित गतिविधियाँ (ज) पेट्रोल पम्प एल.पी.जी., पेट्रोलियम आदि से संबंधित खुदरा एवं प्रतिष्ठान . (झ) कोल्ड स्टोरेज एवं वेयर हाउसिंग सेवाएँ । (ञ) निजी सुरक्षा सेवाएँ. (ट) ठेला पर फल एवं सब्जी की घूम-घूम कर बिक्री. दुकानों / प्रतिष्ठानों का संचालन निम्नलिखित शर्तों के साथ किया जाएगा: दुकानों / प्रतिष्ठानों में सभी के

Read more

कहीं आप भी तो नहीं करते हैं ये काम ….

पहचानिए और जानिये कैसे है आपके आप पास के लोग नाभि से जुड़ा है 72 हजार से अधिक नसों का नेटवर्क चेहरे की सूजन और सफेद धब्बे से छुटकारा शरीर के अन्य भाग  की तरह ही नाभि को लोग बेहद सामान्य समझने लगे हैं. जन्म के बाद गर्भनाल द्वारा छोड़े गए निशान के अलावा और कुछ नहीं है तो आप गलत हैं. वास्तव में यह आपके शरीर का एक चमत्कारिक स्थान बिन्दु के रूप में है. शरीर के विभिन्न भागों से जुड़ी 72 हजार से अधिक नसों का घना नेटवर्क है. अगर नाभि में हर दिन तेल की कुछ बूंदे डाली जाएं तो इससे कई तरह की हेल्थ व स्किन केयर प्रॉब्लम्स से बेहद आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है. सर्दियो में सूखे व फटे होंठों की समस्या को दूर करने के लिए महिलाएं हर थोडी-थोड़ी देर में लिप बाम लगाती है. लेकिन अगर आप इससे भी आसान तरीका ढूंढ रही हैं तो ऐसे में आप रात को थोड़ा सा सरसों का तेल लें और इसे अपने नाभि पर लगाएं. यह आपके फटे होंठों को ठीक करता है और उन्हें अधिक मुलायम बनाने में मदद करता है.अगर आप अपनी स्किन पर पिंपल्स के कारण परेशान हैं तो आपको चेहरे पर पिंपल्स और मुंहासों के निशान से छुटकारा पाने के लिए अब और परेशान होने की जरूरत नहीं है. बस अपनी नाभि पर नीम का तेल लगाएं. यह आपकी स्किन को अधिक क्लीयर बनाएगा. साथ ही साथ इससे आपको चेहरे की सूजन और सफेद धब्बे से छुटकारा पाने में भी

Read more