बिहार की झोली में 13 संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार

संगीत नाटक अकादमी अवार्ड में हृषिकेश सुलभ, सुमन झा, रंजना कुमारी झा, मैथिली ठाकुर और सुदीपा घोष प्रमुख दिसंबर में  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों ये पुरस्कार दिल्ली में दिए जाएंगे विशेष अलंकरण समारोह: छत्तीसगढ़ की तीजन बाई व ममता चंद्राकर को संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, राष्ट्रपति करेंगी सम्मानित संगीत, नाटक और नृत्य के क्षेत्र में पिछलेतीन साल के लिए घोषित संगीत नाटक अकादमी अवार्ड में बिहार के 13 कलाकारों का चयन हुआ है. इनमें चर्चित नाटककार और रंगकर्मी हृषीकेश सुलभ, ठुमरी गायिका कुमुद झा दीवान, लोकगायिका रंजना झा और मैथिली ठाकुर भी शामिल हैं. संगीत नाटक अकादमी (दिल्ली) के सचिव अनीश पी राजन ने शुक्रवार शाम साल 2019, 2020 और 2021 के अवार्ड की अधिसूचना जारी की. हृषीकेश सुलभ को नाट्य लेखन, नीलेश्वर मिश्र को अभिनय, मिथिलेश राय को निर्देशन के लिए अकादमी अवार्ड मिलेगा. 13 कलाकारों में पांच बेटियां हैं. वरीय पुरस्कारों में कुमुद झा दीवान और रंजना झा और बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार की सूची में भरतनाट्यम की कलाकार सुदीपा घोष, लोकनृत्य के सुपरिचित नाम जितेन्द्र चौरसिया, मैथिली ठाकुर व अभिनेत्री रूबी खातून शामिल हैं. 90 वर्षीय अभिनेता, निर्देशक गणेश प्रसाद सिन्हा, 75 वर्षके अभिनेता-निर्देशक सुमन कुमार, लोकगीतों के जाने-मानेनाम भरत सिंह भारती और ध्रुपद गायक रघुवीर मलिक का चयन अमृत अवार्ड के लिए किया गया है. युवा पुरस्कार के लिए 25 हजार जबकि संगीत नाटक अकादमी और अमृत अवार्ड धारियों को एक-एक लाख रुपये, ताम्र पत्र और अंगवस्त्र दिए जाएंगे. संगीत नाटक अकादमी ने 86 कलाकारों के लिए भारत की आजादी के

Read more

रिजल्ट जांच की मांग के बीच बीपीएससी ने जारी किया मुख्य परीक्षा का शेड्यूल

बिहार लोक सेवा आयोग ने 17 नवंबर को 67वीं लोकसेवा परीक्षा का रिजल्ट जारी किया था. उसके बाद से ही इस रिजल्ट के जांच की मांग अभ्यर्थी कर रहे हैं. बिहार लोक सेवा आयोग ने 21 नवंबर से 6 दिसंबर के बीच मुख्य परीक्षा के लिए आवेदन करने का शेड्यूल पहले ही जारी कर दिया था. आज मुख्य परीक्षा का शेड्यूल भी जारी हो गया है. 67वीं प्रारंभिक परीक्षा में सफल 11607 अभ्यर्थियों को 29 दिसंबर से 31 दिसंबर तक होने वाली मुख्य परीक्षा में शामिल होना होगा. 67वीं प्रारंभिक परीक्षा में लगभग 320000 अभ्यर्थी शामिल हुए थे. पीटी परीक्षा का रिजल्ट जारी होने के बाद से ही बीपीएससी अभ्यर्थी रिजल्ट में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए जांच की मांग कर रहे हैं. अभ्यर्थियों ने पिछले दिनों बिहार लोक सेवा आयोग के गेट पर प्रदर्शन भी किया था. क्या मांग कर रहे हैं अभ्यर्थी – 67वीं बीपीएससी प्रारंभिक परीक्षा का संशोधित रिजल्ट जारी किया जाए वर्षों से पद पर जमे आयोग के परीक्षा नियंत्रक को हटाया किया जाए 67वीं पीटी परीक्षा में प्रश्न पत्र लीक की सीबीआई से जांच करायी जाए परीक्षा में इस्तेमाल ओएमआर शीट से छेड़छाड़ की जांच हो पीडीएफ फॉर्मेट में जारी रिजल्ट के साथ छेड़छाड़ की जांच हो pncb

Read more

1 दिसंबर से फेसबुक में हो जायेगा बड़ा बदलाव

प्रोफाइल से हट जाएंगी ये चार चीजें नहीं दिखेंगे राजनीतिक या धार्मिक विचार फेसबुक की मूल कंपनी मेटा ने पुष्टि की है कि वह 1 दिसंबर से प्रोफाइल्स से चार इंफर्मेशन सेक्टर को हटाना शुरू कर देगी. अगले महीने से, फेसबुक प्रोफाइल में एड्रेस, धार्मिक विचार, राजनीतिक विचार या किसी के सेक्सुअल ओरिएंटेशन को इंगित करने वाला “रुचि” फ़ील्ड शामिल नहीं होंगे. फेसबुक को नेविगेट करने और उपयोग करने में आसान बनाने के हमारे प्रयासों के तहत, हम कुछ प्रोफ़ाइल फ़ील्ड हटा रहे हैं: रुचि, धार्मिक विचार, राजनीतिक विचार और पता.” लोगों को बेहतर सुविधा देने की कोशिश की जा रही है, वहीँ दूसरी ओर इस महीने की शुरुआत में, मेटा ने 11,000 कर्मचारियों को उनके पे रोल से निकाल दिया, जो कुल कर्मचारियों की संख्या का 13% था. इसके तुरंत बाद मेटा इंडिया के प्रबंध निदेशक अजीत मोहन ने भी स्नैप इंक में शामिल होने के लिए चार साल के कार्यकाल के बाद फर्म छोड़ दी. 17 नवंबर को मेटा इंडिया के उपाध्यक्ष के रूप में संध्या देवनाथन की नियुक्ति की घोषणा की. देवनाथन, जो एशिया पैसिफ़िक बाज़ार में कंपनी के गेमिंग वर्टिकल का नेतृत्व करती हैं, 1 जनवरी, 2023 को अपनी नई भूमिका संभालेंगी और कंपनी की रणनीति का नेतृत्व करने के लिए भारत लौटेंगी. कंपनी ने कहा कि देवनाथन एपीएसी लीडरशिप टीम का हिस्सा होंगी और मेटा एपीएसी के उपाध्यक्ष डैन नियरी को रिपोर्ट करेंगे. फेसबुक इंडिया (मेटा) के निदेशक और पार्टनरशिप के प्रमुख मनीष चोपड़ा अंतरिम आधार पर कंपनी का नेतृत्व कर रहे हैं। मोहन के

Read more

खबर पर मुहर: शिक्षा विभाग ने ब्रिज कोर्स के लिए शुरू की प्रक्रिया

पटना नाउ की खबर पर एक बार फिर मुहर लगी है. ब्रिज कोर्स को लेकर हमने कुछ दिन पहले ही आपको पूरी जानकारी उपलब्ध कराई थी कि शिक्षा विभाग बहुत जल्द प्राथमिक स्कूलों में बीएड डिग्री धारकों के लिए ब्रिज कोर्स कराने की तैयारी कर रहा है. बुधवार को प्राथमिक शिक्षा निदेशालय की ओर से सभी जिलों को पत्र लिखकर यह जानकारी मांगी गई है कि ऐसे कितने शिक्षक हैं जिन्हें यह कोर्स करना है. प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश ने सभी जिला शिक्षा पदाधिकारी और जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना को पत्र लिखकर यह जानकारी मांगी है. पत्र के मुताबिक ब्रिज कोर्स के लिए शिक्षा विभाग ने एससीईआरटी से अनुरोध किया है. प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने सभी जिलों से शीघ्र यह जानकारी मांगी है कि ऐसे कितने b.ed योग्यताधारी सरकारी प्राथमिक शिक्षक हैं जिन्होंने अब तक ब्रिज कोर्स नहीं किया है. प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने स्पष्ट किया है कि छठे चरण के तहत नियुक्त ऐसे बीएड योग्यता वाले प्राथमिक शिक्षक और इससे पहले के भी b.ed योग्यता वाले सरकारी प्राथमिक शिक्षक की संख्या बताना है. संघर्षशील शिक्षक संघ ने और एनआईओएस डीएलएड संघ के अध्यक्ष पप्पू कुमार ने सरकार की इस पहल का स्वागत किया है. ये भी जानिए यहां यह बताना अनिवार्य है कि जो शिक्षक छठे चरण के तहत नियुक्त होने से पहले यह ब्रिज कोर्स कर चुके हैं और उनके पास सर्टिफिकेट है उन्हें दोबारा यह कोर्स करने की जरूरत नहीं है. पटना नाउ ने इस बारे में प्राथमिक शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश से सवाल किया था

Read more

ये गांव करेंगे पूरा स्वच्छता का सपना !

स्वच्छ मिशन के तहत चुने गए 25 गांव ! आरा, 22 नवम्बर. आये दिन शहर का हर जगह कचरे के अंबार सा देखने को मिलता है. हर घर से निकले कचरे को कैसे खत्म किया जाय ताकि शहर,गांव व कस्बा स्वच्छ रह सके यह एक चुनौती है. यह चुनौती न सिर्फ सरकार की है बल्कि हर नागरिक की है. क्योंकि सरकारी कार्यो के निष्पादन के लिए आम नागरिक की ही किसी न किसी रूप में भूमिका होती है और वह अगर उस कार्य का निष्पादन सही तरीके से न करे तो वह और भी बड़ी समस्या खड़ा कर देता है. खास कर कचरे को लेकर जब यहां बात हो तो काफी संवेदनशील हो जाता है. अधिकतर देखने को मिलता है कि नगर निगम, नगरपालिका या फिर सरकारी अस्पतालों से निकले अपशिष्टों को इक्कठे करने के लिए कई स्तर पर धन बल से लेकर यांत्रिक और जन-बल का उपयोग होता है लेकिन फिर भी इन अपशिष्टों का निष्पादन सही जगह और सही तरीके से नही हो पाता है, उसे सड़क किनारे तो कही गड्ढे और कहीं जंगल में फेंक दिया जाता है. पैसा तो सरकारी तंत्र का खर्च हो जाता है, लेकिन इस अधूरे कार्य से कुछ इसके निष्पादन से जुड़े लोगों की जेबें भी भर जाती हैं, लेकिन उन्हें नही पता कि वे चंद पैसे की वजह से न सिर्फ प्रकृति और लोगों को दुषित कर रहे हैं बल्कि वे भी इस दुषित वातावरण के शिकार हैं. प्रदूषण को लेकर सभी का सोचना कर्तव्य है क्योंकि आपके आसपास यदि प्रदूषण

Read more

बिहार के सभी उच्च शिक्षण संस्थान नैक से मूल्यांकित होंगे

बिहार के सभी उच्च शिक्षण संस्थानों को नैक से मूल्यांकित होना चाहिए. इसके लिए राज्य सरकार कृत संकल्पित है. नैक से शिक्षण संस्थानों को काफी फायदा मिलता है. इसके लिए राज्य स्तर पर कार्यशालाएं आयोजित की जा रही है. चरणबद्ध तरीके से काम किया जा रहा है. ई लाइब्रेरी के लिए इनफ्लिबनेट के साथ समझौता ज्ञापन किया जा रहा है. सुधार के उपाय पर लगातार प्रयास किया जा रहा है. इसके लिए नैक बेंगलुरु की टीम के साथ भी एक बैठक बुलाए जाने की योजना बनाई जा रही है. राज्य सरकार द्वारा नैक से मूल्यांकन हेतु एक कार्य योजना भी बनाई गई है. सभी संस्थानों को मिलकर प्रयास करना चाहिए कि अधिक से अधिक संस्थान मूल्यांकित हो सके. ये बातें आज उच्च शिक्षा के मदन मोहन झा सभागार में आयोजित कुलपतियों की नैक कराए जाने हेतु वीडियो कांफ्रेंसिंग में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने कही. आज अपर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बिहार के सभी उच्च शिक्षण संस्थानों के प्रमुख के साथ एक बैठक आयोजित की गई थी.कार्यक्रम में शिक्षा सचिव ने नैक करवाने हेतु चरणबद्ध तरीके से काम करने की आवश्यकता पर बल दिया. अल्पकालिक, मध्यकालिक, दीर्घकालिक योजना बनाकर कार्य करने को कहा. नैक के समन्वयक / नोडल अधिकारी को पूर्ण सक्रिय भूमिका निभाने की बात कही.शिक्षा सलाहकार प्रो एन के अग्रवाल ने पावर प्वाइंट के माध्यम से नैक से मूल्यांकन हेतु रोडमैप की प्रस्तुति दी. मूल्यांकन हेतु किए जाने वाले उपायों को बताया. कुलपति पाटलीपुत्र विश्वविद्यालय प्रो आर के सिंह ने भी अपने

Read more

भारत विश्व का मैन्युफैक्चरिंग पावर हाउस भी बनेगा: पीएम

पीएम मोदी ने 71 हज़ार से ज्यादा नव नियुक्त कर्मियों को नियुक्ति पत्र दिया 10 लाख कर्मियों के लिए भर्ती अभियान ‘‘रोजगार मेला” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘रोज़गार मेला’ कार्यक्रम में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हिस्सा लिया.प्रधानमंत्री ने 71 हज़ार से ज्यादा नव नियुक्त कर्मियों को नियुक्ति पत्र वितरित किये. इस अवर पर पीएम मोदी ने कहा कि आज का ये विशाल रोज़गार मेला दिखाता है कि सरकार किस तरह सरकारी नौकरी देने के लिए मिशन मोड में काम कर रही है.पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत जैसे युवा देश में हमारे करोड़ों नौजवान इस राष्ट्र की सबसे बड़ी ताकत हैं. अपने युवाओं की प्रतिभा और ऊर्जा, राष्ट्र निर्माण में ज्यादा से ज्यादा उपयोग में आए, इसे केंद्र सरकार सर्वोच्च प्राथमिकता दे रही है. उन्होंने कहा कि भारत आज सर्विस निर्यात के मामले में विश्व की एक बड़ी शक्ति बन गया है। अब एक्सपर्ट भरोसा जता रहे हैं कि भारत विश्व का मैन्युफैक्चरिंग पावर हाउस भी बनेगा. प्रधानमंत्री ने युवाओं को राष्ट्र की सबसे बड़ी ताकत बताया और कहा कि युवाओं की प्रतिभा और उनकी ऊर्जा राष्ट्र निर्माण में ज्यादा से ज्यादा उपयोग में आये, इसे केंद्र सरकार सर्वोच्च प्राथमिकता देने में जुटी हुई है. यहां चर्चा कर दें कि प्रधानमंत्री ने इससे पहले अक्टूबर महीने में ‘‘रोजगार मेला” की शुरुआत की थी. पिछली बार जिन श्रेणियों में युवाओं को नियुक्ति दी गयी थी, उनके अतिरिक्त इस बार शिक्षक, व्याख्याता, नर्स, नर्सिंग अधिकारी, चिकित्सक, फार्मासिस्ट, रेडियाग्राफर और अन्य तकनीकी और पैरा मेडिकल पदों पर भी युवाओं की नियुक्ति

Read more

64 योगिनियों पर है आधारित अनिता की कलाकृति

पांच दिनों में दिखी योगिनी के विभिन्न स्वरूपसामाजिक संस्कृति की बहुस्तरीय भावना को दर्शाती एकल चित्र प्रदर्शनीश्याम शर्मा ,मिलन दास ,अनिल बिहारी अजय पाण्डेय चंद्रभूषण श्रीवास्तव ,मजहलाई ने आयोजन को सराहा राजधानी पटना में पांच दिनों अनीता कुमारी की चित्र श्रृंखला योगिनी को दर्शकों को खूब प्रशंसा मिली. चित्रकला में अपना स्थान ख़ास बनाने वाली अनीता कुमारी की एकल चित्र प्रदर्शनी में पौराणिक महत्ता की योगिनी को प्रस्तुत किया है. ललित कला अकादमी में आयोजित इस एकल चित्रकला प्रदर्शनी का में अब तक कई चित्रकार शिरकत कर चुके हैं. प्रसिद्ध कलाकार मिलन दास अनिल बिहारी दर्शक के रूप में आए इनके साथ-साथ पटना आर्ट कॉलेज के प्राचार्य अजय पाण्डेय ,सहायक प्रोफेसर चंद्रभूषण श्रीवास्तव और मजहलाई एवं कलाकार संजय सिंह अमित कुमार,और कॉलेज के छात्र छात्राएं भी शामिल हुए. मिलन दास एवं अन्य बिहारी ने प्रदर्शित चित्रों को सराहा और उसकी बारीकियों पर भी चर्चा की. वहीँ मिलन दास ने कहा कि इनकी पेंटिंग में जो सबसे ख़ास बात है वह है संयोजन जो किसी भी चित्रकार को अपनी ओर आकर्षित करता है. वहीँ आर्ट कॉलेज प्रोफेसर चंद्रभूषण श्रीवास्तव ने कहा कि समकालीन समाज की झलक इन चित्रों में दिखती है. अमरेश कुमार,रश्मि सिंह,जितेंद्र मोहन,रामू कुमार संजय कुमार,प्रमोद रजक समेत तारकेश्वर और संगीता सिन्हा  चित्रकारों ने अनीता की पेंटिंग को सराहा.   अनीता ने बताया कि योगिनी एक प्रतीकात्मक चिन्ह है जिस पर काम करते हुए मैं अपने कामों में आनंद की प्राप्ति करती हूँ. नारी समाज की पवित्र प्रतीक है क्योंकि पूरा समाज नारी के इर्द-गिर्द घूमती है. मेरी कला

Read more

पटना विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनाव के लिए मतदान शुरू

अध्यक्ष पद के लिए सात उम्मीदवार मैदान में देर रात आएगा चुनाव का रिजल्ट सबसे ज्यादा मतदाता पटना वीमेंस कॉलेज से सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था पटना विश्वविद्यालय में आज छात्र संघ चुनाव के लिए मतदान हो रहा. सुबह 8 बजे वोटिंग शुरू हो गई है. जो दोपहर 2 बजे तक चलेगी. छात्र संघ चुनाव को लेकर यूनिवर्सिटी में कुल 51 बूथ बनाए गए हैं. जहां कुल 24395 छात्र-छात्राएं मतदान करेंगे. चुनाव में कुल 306 बैलट बॉक्स का इस्तेमाल किया जा रहा. छात्रों में मतदान को लेकर भरपूर उत्साह नजर आ रहा. पटना वीमेंस कॉलेज में छात्रों की लंबी कतारें नजर आ रही हैं. वहीं, रिजल्ट देर रात तक आने की उम्मीद है.पटना यूनिवर्सिटी में करीब 50 से 55 फीसदी संख्या छात्राओं की है और इसमें पटना वीमेंस और मगध महिला जैसे अहम गर्ल्स कॉलेज हैं. इस बार के चुनाव में सबसे ज्यादा मतदाता पटना वीमेंस कॉलेज से है. पटना वीमेंस कॉलेज में 5355, मगध महिला में 3488, बीएन कॉलेज में 3209 वोटर, पटना कॉलेज में 2452, पीजी सोशल साइंस में 2243, वाणिज्य महाविद्यालय में 2008, पटना साइंस कॉलेज में 1863, पीजी साइंस में 1288, मानविकी में 989 वोटर्स, पीजी कॉमर्स, एजुकेशन और लॉ में कुल 561 वोटर्स, पटना लॉ कॉलेज में 387, कॉलेज ऑफ आर्ट्स एंड क्राफ्ट्स में 221, वीमेंस ट्रेनिंग कॉलेज में 199, पटना ट्रेनिंग कॉलेज में 192 मतदाता है. इसके साथ ही सभी कॉलेज को मिला कर इस बार के चुनाव में कुल 24395 वोटर्स है. PNCDESK

Read more

आज शिक्षकों से रूबरू होंगे मंत्री, कई संगठनों को मिला बातचीत का न्योता

पटना।। शिक्षा मंत्री प्रोफेसर चंद्रशेखर आज पहली बार कई शिक्षक संगठनों से रूबरू होंगे. इस दौरान बिहार के स्कूली शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण के लिए शिक्षा मंत्री प्रो. चन्द्रशेखर शिक्षक संगठनों के प्रतिनिधियों से बात करेंगे. शिक्षा मंत्री जिन शिक्षक संगठनों से बात करेंगे, उनके प्रतिनिधियों को न्योता दिया जा चुका है. शिक्षा मंत्री और स्कूली शिक्षक संगठनों के बीच होने वाली बातचीत में शिक्षा विभाग अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह के अलावा प्राथमिक शिक्षा निदेशालय एवं माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के संबंधित अधिकारी भी होंगे. बातचीत में प्राथमिक से लेकर उच्च माध्यमिक स्तर तक के स्कूली शिक्षकों की परेशानियां सुनी जायेंगी और उसका निराकरण कैसे हो, इसका रास्ता निकाला जायेगा. शिक्षकों ने बताई परेशानी पटना नाउ से अपनी परेशानी बताते हुए एक शिक्षिका माया राज ने कहा वर्षों से हम लोग कई किलोमीटर की यात्रा कर ड्यूटी निभा रहे हैं. एक अन्य शिक्षिका प्रियंका ने बताया कि सरकार की घोषणा के बावजूद अब तक ट्रांसफर की प्रक्रिया शुरू नहीं हुई जिससे कई तरह की परेशानियां झेलने को हमलोग मजबूर हैं. कई शिक्षक संगठनों से जुड़े शिक्षकों ने मांग की है कि सबसे पहले दिव्यांग एवं महिला शिक्षकों के ऐच्छिक स्थानान्तरण के लिए बनी नीति को कार्यान्वित किया जाय. पुरुष शिक्षकों को भी बिना शर्त ऐच्छिक स्थानांतरण की सुविधा देने की मांग की गई है. इसके अलावा,शिक्षकों को सेवा की निरंतरता का लाभ नियुक्ति की तिथि से मिले. प्रारंभिक से लेकर उच्च माध्यमिक विद्यालयों तक की अवकाश तालिका एक हो. यह मामला भी उठा है कि माध्यमिक एवं उच्च

Read more