नियोजित शिक्षकों का प्रदर्शन, पुलिस द्वारा लाठी चार्ज, माध्यमिक शिक्षक संघ ने की कड़ी निंदा

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | बृहस्पतिवार 18 जुलाई को नियोजित शिक्षकों द्वारा अपनी 13 सूत्री मांगों को लेकर पटना के गर्दनीबाग धरना स्थल पर प्रदर्शन किया गया. सुबह से ही नियोजित शिक्षक एकजुट हो रहे थे. हजारों की संख्या मे जुटे शिक्षकों ने लगभग 12 बजे अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी करना शुरू किया. गर्दनीबाग धरना स्थल होते हुए सैकड़ों शिक्षक हाथ में बैनर लिये विधानसभा की ओर बढ़ने लगे. सुरक्षा कर्मियों द्वारा धरना स्थल के मुख्य गेट पर प्रदर्शनकारी शिक्षकों को रोकने की कोशिश की गई. इस पर शिक्षकों ने मुख्य गेट को तोड़ने का प्रयास किया. इसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारी शिक्षक और शिक्षिकाओं पर पानी का छिड़काव करना शुरू किया. इधर कुछ शिक्षकों की पुलिस के साथ झड़प हो गई. शिक्षक जोर-जोर से नारेबाजी भी कर रहें थे. पुलिस एवं शिक्षकों में पत्थरबाजी भी होने लगी. इस पर पुलिस ने उग्र शिक्षकों पर आंसू गैस छोड़ दिया जिससे कुछ शिक्षक तितर बितर हुए. फिर भी शिक्षकों का एक ग्रुप गेट तोड़ने की कोशिश में जुटा रहा. इसके बाद पुलिस ने मुख्य गेट खोला और लाठीचार्ज शुरू किया. लाठीचार्ज से लगभग 50 शिक्षक घायल हो गये. इधर बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष सह विधान पार्षद केदार नाथ पांडेय ने राज्य के नियोजित शिक्षकों पर पटना में पुलिस द्वारा किये गए हमले की कड़ी निंदा की है. केदार पाण्डे के साथ संघ के महासचिव सह पूर्व सांसद शत्रुघ्न प्रसाद सिंह और मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता अभिषेक कुमार भी थे. इन सबों कहा कि नियोजित शिक्षकों द्वारा अपनी जायज मांगों

Read more

आरा की इस रेल परियोजना के लिए 6 रेलमंत्रियों ने दिया था आश्वासन, अब शुरू होगा काम

आखिर कब तक भारत सरकार रेलवे को लोगो से रखेगा दूर ??? इस बजट रेलवे लाईन से जगदीशपुर को जोड़े जाने की वर्षों की इच्छा हुई पूरी:अमन गुप्ता आरा/जगदीशपुर. बाबू कुंवर सिंह के नाम से भोजपुर जिले की पहचान है और जिस शख्सियत ने यह पहचान दिलाई उनके घर जगदीशपुर तक रेलखंड को चलाने की मांग वर्षो से चली आ रही है. यही नही आरा से मुंडेश्वरी धाम जाने के लिए आरा-भभुआ रेलखण्ड की भी मांग वर्षों से है जिसको लेकर के 6 रेलमंत्रियों ने आश्वासन दिया था. आजादी के बाद से ही लाल बहादुर शास्त्री और जगजीवन राम जैसी शख्सियतों ने भी इस रूट में रेल चलाने की इच्छा जताई थी लेकिन अभी तक संभव नही हुआ था. लेकिन इस वर्ष रेलवे के बजट में इन रूटो में रेलवे को चलाने की संम्भावनाये को लगता है मुहर लग गई है. केंद्र सरकार द्वारा पारित बजट जुलाई 2019 के जरिए पूर्व मध्य रेलवे के तहत नए रेलवे रुट निर्माण के लिए 448 करोड़ का आवंटन मिलने के साथ आरा-भभुआ नई रेललाइन निर्माण के साथ-साथ जगदीशपुर रेलवे स्टेशन के निर्माण की भी संभावना प्रबल हो गई है. वर्षों से लोग इस रेलवे रूट के निर्माण किये जाने के आस लागए बैठे थे.इस बजट के बाद से ही जगदीशपुर नगर समेत पूरे अनुमंडल के लोगों का उत्साह चरम पर है. इस बजट के आने के बाद नगर के कई लोगों ने खुशी व्यक्त करते हुए नरेंद्र मोदी के अगुवाई वाली केंद्र सरकार को बधाई दी है. वहीं युवा समाजसेवी अमन गुप्ता ने

Read more

खंडग्रास चंद्र ग्रहण दिनांक 16 जुलाई 2019 विशेष

जय श्री महाकाल यह ग्रहण संवत 2076 आषाढ़ शुक्ल पक्ष पूर्णिमा मंगलवार तारीख 16 जुलाई 2019 के दिन सम्पूर्ण भारत में खंडग्रास के रूप में स्पर्श से मोक्ष तक दिखाई देगा. इस ग्रहण के स्पर्श-मध्य एवं मोक्ष (समाप्ति) काल आदि भारतीय समयानुसार इस प्रकार है. ग्रहण प्रारम्भ रात्रि 1 बजकर 32 मिनट. ग्रहण मध्य रात्रि 3 बजकर 1 मिनट. ग्रहण समाप्ति. प्रातः 4 बजकर 31 मिनट. ग्रहण का पर्वकाल. 2 घंटे 59 मिनट. परमग्रास समय 0.658 इस ग्रहण के समय भारतीय काल के अनुसार भारत में 16 जुलाई की मध्यरात्रि रहेगी. यह ग्रहण भारत में तो सर्वत्र स्पर्श प्रारंभ से मोक्ष (समाप्ति) तक ही दिखेगा. इसके अलावा यह ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, मलेशिया, ताइवान, जापान, चीन, इंडोनेशिया, पाकिस्तान, अफ़गानिस्तान, मंगोलिया, ईरान, टर्की, यूक्रेन, इराक, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, अंटार्टिका, कजाकिस्तान, उत्तरी अफ्रीका एवं दक्षिणी अमेरिका आदि देशों में भी दिखाई देगा.ग्रहण का सूतक इसे ग्रहण का सूतक नियम नियम दिनांक 16 साथ 2019 को दिन में 4:32 से मान्य होगा.यह ग्रहण धनु राशिस्थ उत्तराषाढ़ नक्षत्र में प्रारम्भ होकर मकर राशिस्थ उत्तराषाढ़ नक्षत्र में पूर्ण होगा. इसलिए 16 जुलाई वाला यह खंडग्रास चंद्रग्रहण उत्तराषाढ़ा नक्षत्र, धनु एवं मकर राशि वाले व्यक्तियों के लिए विशेष कष्टप्रद रहेगा. इन राशि वाले जातकों को ग्रहण दर्शन अतिअशुभ रहेगा ग्रहण के समय अपने इष्ट देव की आराधना, गुरुमंत्र जप एवं धार्मिक ग्रंथ का पठन तथा मेष, सिंह, वृश्चिक, मिथुन राशि के लिये यह ग्रहण सामान्य मध्यम फल. तुला, कर्क, मीन, कुम्भ राशि के लिये ग्रहण दर्शन करना शुभ सुखद फलदायक और धनु, कन्या, वृषभ, मकर राशि के

Read more

ग्रहण में क्या करें, क्या न करें

(खग्रास चन्द्रग्रहण : 16 जुलाई ) भूभाग में ग्रहण–समय : 16-17 जुलाई की रात्रि 01:31 से प्रात: 04:30 तक ( पूरे भारत में दिखेगा, नियम पालनीय ) चन्द्रग्रहण और सूर्यग्रहण के समय संयम रखकर जप-ध्यान करने से कई गुना फल होता है. श्रेष्ठ साधक उस समय उपवासपूर्वक ब्राह्मी घृत का स्पर्श करके ‘ॐ नमो नारायणाय’ मंत्र का आठ हजार जप करने के पश्चात ग्रहणशुद्धि होने पर उस घृत को पी ले. ऐसा करने से वह मेधा (धारणशक्ति), कवित्वशक्ति तथा वाक् सिद्धि प्राप्त कर लेता है. सूर्यग्रहण या चन्द्रग्रहण के समय भोजन करने वाला मनुष्य जितने अन्न के दाने खाता है, उतने वर्षों तक ‘अरुन्तुद’ नरक में वास करता है. सूर्यग्रहण में ग्रहण चार प्रहर (12 घंटे) पूर्व और चन्द्र ग्रहण में तीन प्रहर (9) घंटे पूर्व भोजन नहीं करना चाहिए. बूढ़े, बालक और रोगी डेढ़ प्रहर (साढ़े चार घंटे) पूर्व तक खा सकते हैं. ग्रहण-वेध के पहले जिन पदार्थों में कुश या तुलसी की पत्तियाँ डाल दी जाती हैं, वे पदार्थ दूषित नहीं होते. पके हुए अन्न का त्याग करके उसे गाय, कुत्ते को डालकर नया भोजन बनाना चाहिए. ग्रहण वेध के प्रारम्भ में तिल या कुश मिश्रित जल का उपयोग भी अत्यावश्यक परिस्थिति में ही करना चाहिए और ग्रहण शुरू होने से अंत तक अन्न या जल नहीं लेना चाहिए. ग्रहण के स्पर्श के समय स्नान, मध्य के समय होम, देव-पूजन और श्राद्ध तथा अंत में सचैल (वस्त्रसहित) स्नान करना चाहिए . स्त्रियाँ सिर धोये बिना भी स्नान कर सकती हैं. ग्रहण पूरा होने पर सूर्य या चन्द्र, जिसका

Read more

लीजिए बिहार में टैक्स फ्री हुआ “सुपर 30”

पटना,15 जुलाई (पटना नाउ ब्यूरो रिपोर्ट) | लंबे समय से प्रतीक्षित बिहार की पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म सुपर-30 रिलीज होते ही चर्चा में है. 3 दिन पूर्व रिलीज हुई इस फ़िल्म ने जहां कलेक्शन में 50 करोड़ का आंकड़ा पर कर लिया है वही इस फ़िल्म को बिहार में सभी देख सकें इसके लिए सरकार ने टैक्स में रियायत बरतने की है. गणितज्ञ आनन्द कुमार की संस्था सुपर-30 पर केंद्रित हिंदी फिल्म “सुपर-30,”को लेकर बिहार सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जानकारी दी कि सरकार ने 16 जुलाई 2019 से पूरे बिहार में इस फ़िल्म को टैक्स फ्री करने का निर्णय लिया है. बताते चलें कि 16 जुलाई को फिल्म अभिनेता ऋतिक रौशन और सुपर 30 के आनंद कुमार का होटल मौर्य में 3 बजे एक पीसी भी रखा गया है.

Read more

साहिबगंज का मल्टी मॉडल टर्मिनल अगले महीने – मांडविया

अगले महीने तक तैयार हो जायेगा साहिबगंज का मल्टी मॉडल टर्मिनल : मनसुख मांडवियाराज्यसभा में सांसद महेश पोद्दार के प्रश्न का उत्तर देते हुए दी जानकारी रांची (ब्यूरो रिपोर्ट) | झारखण्ड के साहिबगंज में जलमार्ग विकास परियोजना (जेएमवीपी) के तहत मल्टी मॉडल टर्मिनल परियोजना के अगस्त 2019 तक पूरा हो जाने की उम्मीद है. साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल का अनुमानित ट्रैफिक वॉल्यूम 2020 – 21 तक 2.24 मिलियन टन प्रति वर्ष होगा. इस मल्टी मॉडल टर्मिनल के माध्यम से मुख्यतः स्टोन चिप्स, कोयला, सीमेंट, खाद्यान्न, रासायनिक खाद एवं चीनी की ढुलाई होगी. साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल 2500 से ज्यादा लोगों को रोजगार देने में सक्षम होगा. राज्यसभा में सांसद महेश पोद्दार के एक प्रश्न का उत्तर देते हुए पोत परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनसुख मांडविया ने यह जानकारी दी.मंत्री मांडविया ने बताया कि साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल राष्ट्रीय जलमार्ग – 1 में भारत के ईस्टर्न ट्रांसपोर्ट कॉरिडोर की लॉजिस्टिक्स चेन में महत्वपूर्ण स्थान पर स्थित है. राष्ट्रीय राजमार्ग – 80 और सकरीगली रेलवे स्टेशन इस मल्टी मॉडल टर्मिनल के समीप स्थित हैं. यह मल्टी मॉडल टर्मिनल क्षेत्र में कार्गो के आवागमन को बढ़ावा देगा जिससे इस क्षेत्र का व्यापक सामाजिक, आर्थिक और औद्योगिक विकास होगा. यह नेपाल को जानेवाले कार्गो को वैकल्पिक संपर्क भी उपलब्ध कराएगा तथा राष्ट्रीय जलमार्ग – 1 (गंगा नदी) के माध्यम से चारों ओर जमीन से घिरे झारखण्ड और बिहार के लिए समुद्री व्यापार हेतु अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों तक पहुंच बनाएगा. साहिबगंज मल्टी मॉडल टर्मिनल : एक नजर में 183.13 एकड़ भूमि पर निर्माण पहले चरण के

Read more

राजमार्गों के आसपास लगाइये पेड़ और करिए उनका रखरखाव

नितिन गडकरी ने एमएसएमई तथा उद्योगों से राजमार्गों के आसपास पेड़ लगाने और उनके रखरखाव का आग्रह किया केन्‍द्रीय सूक्ष्‍म, लघु, मध्‍यम उद्यम और सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने सभी उद्योग संघों तथा पंजीकृत सूक्ष्‍म, लघु, मध्‍यम उद्योगों से मानसून खत्‍म होने से पहले जितनी संख्‍या में पेड़ लगा सकते हैं, उतनी संख्‍या में पेड़ लगाने का आग्रह किया है। उनके सामूहिक संकल्‍प का आह्वान करते हुए श्री गडकरी ने अपने पत्र में सुझाव दिया है कि प्रत्‍येक छोटे उद्यम कम से कम पांच पेड़ लगा सकते हैं और उनकी देखभाल कर सकते हैं, प्रत्‍येक मध्‍यम उद्यम कम से 50 पेड़ तथा सूक्ष्‍म उद्यम संभव संख्‍या में पेड़ लगा सकते हैं और उनकी देखभाल कर सकते हैं। उन्‍होंने कहा कि पेड़ स्‍थानीय किस्‍म के होने चाहिए, जैसे फल के पेड़, नीम, पीपल वृक्ष आदि। ऐसे पेड़ राष्‍ट्रीय तथा राज्‍य के राजमार्गों और जिला सड़कों के आसपास लगाए जा सकते हैं। प्रत्‍येक उद्यम को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पेड़ जीवित रहें और बढ़ें।

Read more

17 जुलाई को इस दौरान रहेगा आंशिक चन्द्रग्रहण

17 जुलाई को होने वाला आंशिक चन्द्रग्रहण भारत में देखा जा सकेगा. चन्द्रग्रहण भारतीय समयानुसार 1 बजकर 31 मिनट से शुरू होगा और 4 बजकर 30 मिनट पर खत्म हो जाएगा. इस अवधि में चन्द्रमा पर पृथ्वी की छाया धीरे-धीरे बढ़ती जाएगी और सबसे ज्यादा आंशिक चन्द्रग्रहण 3 बजकर 1 मिनट पर देखा जा सकेगा. इस दौरान चन्द्रमा का आधे से थोड़ा ज्यादा हिस्सा पृथ्वी की छाया से पूरी तरह ढंक जाएगा. केन्द्र सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय से उपलब्ध जानकारी के मुताबिक अरुणाचल प्रदेश के सुदूर उत्तर-पूर्वी हिस्से को छोड़कर भारत के अन्य सभी स्थानों से पर आंशिक चन्द्रग्रहण देखा जा सकेगा. इसे ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका तथा दक्षिणी अमेरिका के ज्यादातर हिस्सों, सुदूर उत्तरी स्केंडिनेविया को छोड़कर पूरे यूरोप तथा पूर्वोत्तर को छोड़कर समूचे एशिया में भी देखा जा सकेगा. आंशिक चन्द्रग्रहण 2 घंटा 59 मिनट तक रहेगा।

Read more

जल ही जीवन है, इसका सदुपयोग करें : संजय

कोइलवर (आमोद कुमार) | “पानी को बर्बाद नहीं करे बल्कि जल संचयन के कुशल प्रबंधन एवं आधुनिक विकसित प्रणाली द्वारा पानी का सदुपयोग करे. जिससे सतही एवं भूगर्भ जल के स्तर को ठीक कर मानव जीवन के लिए सार्थक सदुपयोग किया जा सकता है”. ये बातें जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव संजय कुमार राकेश ने प्रखंड कार्यालय कोइलवर स्थित जनप्रतिनिधि भवन में एक कार्यक्रम के दौरान कही. जल संरक्षण का कार्य दो चरणों में किया जाना है – प्रथम चरण में 1 जुलाई से 15 सितंबर तथा द्वितीय चरण में 1 अक्टूबर से 30 नवंबर तक किया जाना है. वर्तमान स्थिति में अभी जल संरक्षण का कार्य के लिए कोइलवर एवं बिहिया प्रखंड को चयनित किया गया है. बैठक में जल संरक्षण से संबंधित तकनीकी विभागों द्वारा जल संरक्षण की अद्यतन स्थिति तथा भावी कार्य योजना, सोन नहर आदि के द्वारा संचालित जल संरक्षण के कार्यों के तहत तालाब, आहार, पाइन के निर्माण एवं उड़ाही, चापाकल के निर्माण एवं मरम्मति, ट्यूबवेल की स्थिति, नल जल की स्थिति आदि के बारे मे अवगत कराया गया. जल संरक्षण के तहत वृक्षारोपण कार्य को गति प्रदान करने हेतु वन विभाग एवं जीविका के सहयोग से कार्य कराने का निर्देश दिया गया. जल संरक्षण कार्य को गति प्रदान करने तथा इसे जन आंदोलन का स्वरूप देने हेतु जन जागरूकता का कार्य जीविका दीदियों के द्वारा किए जाएंगे साथ ही जल सेना एवं जल रक्षक के रूप में कर्मियों की तैनाती की जाएगी तथा इस अभियान को जनमानस से जोड़ने का प्रयास

Read more

राजनाथ सिंह के जन्मदिन पर व्हील चेयर डोनेट किया

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | बुधवार 10 जुलाई को भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का जन्मदिवस मनाया गया. इस अवसर पर इंडियन ऑयल श्रमिक संघ (पूर्वी क्षेत्र) के तत्वावधान में बिहार विधान पार्षद डॉ० संजय मयूख, सच्चिदानंद राय, श्रमिक संघ के महामंत्री विक्रम कुमार एवं मुकेश कुमार ने पटना के आईजीआईएमएस और पीएमसीएच में एक-एक व्हील चेयर प्रदान किया. उक्त अवसर पर आईजीआईएमएस के अधीक्षक डॉक्टर मनीष मंडल भी उपस्थित रहे.

Read more