परिवहन विभाग के विभिन्न योजनाओं की हुई समीक्षा|तीन डीटीओ को मिला सम्मान

ट्रैफिक में लगे पुलिस के जवानों को दिया जाएगा रेडियम जैकेट परिवहन सचिव ने कहा – वाहनों के प्रदूषण जांच के लिए हर जिले में खोले जाएंगे अधिक से अधिक प्रदूषण जांच केंद्रसहमति के आधार पर खोले जा सकेंगे प्रदूषण जांच केंद्रबिना पॉल्यूशन सर्टिफिकेट के चलने वाले वाहनों पर की जाएगी कार्रवाईओवर लोडिंग चलने वाली बस, ऑटो सहित अन्य वाहनों की होगी जांच, बिना परमिट के चलने वाली बसों पर विभाग की विशेष नजर, होगी कार्रवाईबिना रजिस्ट्रेशन चलने वाली वाहनों पर भी होगी कार्रवाईवाहनों के रजिस्ट्रेशन के समय ही परमिट का आवेदन देने की होगी व्यवस्था पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | परिवहन विभाग की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा के लिए सोमवार को पटना में बैठक आयोजित की गई. मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना, वाहनों के रजिस्ट्रेशन, परमिट, प्रदूषण जांच केंद्र, राजस्व वसूली सहित हेलमेट-सीट बेल्ट जांच अभियान आदि की समीक्षा की गई. कार्यक्रम का उद्घाटन परिवहन विभाग मंत्री माननीय संतोष कुमार निराला, परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल और राज्य परिवहन आयुक्त श्रीमति सीमा त्रिपाठी ने संयुक्त रुप से किया। परिवहन विभाग मंत्री संतोष कुमार निराला ने कहा कि परिवहन विभाग जनहित के योजनाओं को जमीन पर उतार कर बिहार में विश्वास का माहौल बनाया है. राजस्व वसूली में परिवहन विभाग ने बेहतरीन काम किया है. मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना से बिहार का देशभर में नाम रोशन हो रहा है.परिवहन विभाग सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने मुख्यमंत्री ग्राम परिवहन योजना को आगे बढ़ाने के लिए संबंधित पदाधिकारियों को लक्ष्य अनुरूप काम करने का निर्देश दिया। वहीं परमिट, फिटनेस और पॉल्यूशन पर विशेष ध्यान

Read more

ट्रेजरी लॉक खुलने के बाद भी शिक्षकों के वेतन पर ग्रहण, आवंटन की समस्या|अब है आवंटन की समस्या

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | ट्रेजरी लॉक के कारण राज्य के माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत नियोजित शिक्षकों का वेतन का मामला लटका हुआ था. अब जब ट्रेजरी लॉक खुला तो वेतन आवंटन की समस्या आ ख ड़ी हुए है. वेतन के अटक जाने का यही हाल राज्य के नियमित एवं व्यावसायिक शिक्षकों का भी है. नियोजित शिक्षक संघ के प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी अभिषेक कुमार ने बताया कि नवंबर माह से ही वेतन की आस के लिए टकटकी लगाये बैठे राज्य के जिला परिषद एवं नगर परिषद के माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षक अब आस लगाये बैठे थे कि उन्हें तीन महीने से वकाये वेतन उनके खाते में आ जायेगा मगर अधिकांश जिलों में एक माह की वेतन की राशि जिलों को उपलब्ध है जबकि अभी इस वित्तीय वर्ष में फरवरी माह तक का वेतन इन्हें मिलना है. नियमित शिक्षकों के लिए जिलों से जो राशि विभाग से मांगी गई थी उससे आधी या उससे कम राशि इन शिक्षकों के वेतन के मद में उपलब्ध कराई गई. इस बीच सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर विभाग द्वारा गणित व जीवविज्ञान शिक्षकों को विद्यालयों में पदस्थापित किया गया. साथ ही साथ शिक्षकों को प्रवर वेतनमान का लाभ तथा तृतीय व चतुर्थ वर्गीय कर्मियों को भी एसीपी का लाभ विभाग द्वारा दिया गया. इन सबों को विभाग द्वारा आवंटित वेतन मद की राशि से ही इन सब लाभों की राशि दी गई. अब इनके लिए भी वेतन की समस्या आन पड़ी है. उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षक सबसे मुश्किल में हैं

Read more

नन्हे फ़िल्म मेकरों से रौनक होगा भोजपुर

2 दिनों में बच्चों ने शूट किए 50 लघु फिल्में आरा, 19 जनवरी. लगता है आने वाले समय मे भोजपुर जिला नन्हे फ़िल्म मेकरों से देश-दुनिया मे छाने वाला है. बच्चों को मिट्टी का लोंदा कहा गया है,मतलब उन्हें जैसा गढ़िए वे वैसा बन जाते है. बच्चों में क्रिएटिविटी के जरिये उनके अंदर कुछ अनोखा करने का प्रयास किया पिछले दो दिनों में कुछ फ़िल्म मेकरों ने आरा में. क्रिएटिव कार्यशाला के जरिये 2 दिनों में 50 फ़िल्म बच्चों से बनवाने की उनकी पहल तो पहले ऐसा लगा कि क्रिएटिविटी की ही अग्निपरीक्षा हो लेकिन दो दिनों में जो रिजल्ट आया सचमुच वे इस अग्निपरीक्षा पर खरे उतरे. बच्चों ने इस अग्निपरीक्षा पार कर सबको अचंभित कर दिया है. फ़िल्म मेकिंग व कविता लेखन कार्यशाला के दूसरे दिन मशहूर कवि व लेखक निलय उपाध्याय ने प्रार्थना के बाद विद्यालय के समस्त बच्चों को सम्बोधित करते हुए जल संकट और गंगा जैसी पवित्र व जीवनदायिनी नदी के संकट और संरक्षण पर बल दिया. उन्होंने कहा कि अत्यधिक जल के दोहन ने जमीन के ऊपर के जल स्रोतों को खत्म कर अंदर के जमा जलों में भी सेंध कर दिया है और पृथ्वी के अंदर की परतों तक वहाँ पहुंच गए है जहाँ आर्सेनिक की चट्टानें है. RO का जल आर्सेनिक खत्म नही करता और लगातार चट्टानों को बढ़ने से ऑक्साइड इस जल के साथ मिलकर उसे जहरीला बनाता है और हम इसे ही पी रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर एक ब्यक्ति प्रतिदिन 3 बार शौच जाता है तो 36 लीटर

Read more

30 वां सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन 4 फरवरी से |लिखें स्लोगन या बनाएं डिजिटल पोस्टर, मिलेगा ईनाम

युवा या स्कूली छात्र छात्राएं सड़क सुरक्षा के संबंध में दे सकते हैं अपनी अभिव्यक्तिसड़क सुरक्षा सप्ताह के अवसर पर किया जाएगा ओपन कंपीटिशनप्रतियोगिता में कोई भी व्यक्ति या स्कूल-कॉलेज के छात्र छात्राएं ले सकते हैं भागसड़क सुरक्षा सप्ताह तैयारियों की परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने शुक्रवार को की समीक्षापरिवहन सचिव ने कहा स्कूल-कॉलेजों में चलेगा विशेष जागरूकता अभियानघोषणा पत्र के जरिए बच्चे अपने माता-पिता से सड़क सुरक्षा से संबंधित नियमों का पालन करने की करेंगे अपीलस्कूली बच्चे अपने माता-पिता से वाहन चलाते हेलमेट पहनने का भरवाएंगे घोषणा पत्रस्कूल में प्रार्थना के दौरान सड़क सुरक्षा की मिलेगी प्रैक्टिकल जानकारीई मेल पर स्लोगन, वीडियो या डिजिटल पोस्टर भेज जीत सकते हैं आकर्षक ईनामहोगा ओपन कंपीटिशन, ई मेल के जरिए स्लोगन, वीडियो या डिजिटल पोस्टर भेज सकते हैंबेस्ट फाइव को मिलेगा आकर्षक पुरस्कार और प्रमाण पत्रप्रतिभागियों के बेस्ट स्लोगन और पोस्टर की लगाई जाएगी प्रदर्शनी पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | 30 वां सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन 4 फरवरी से शुरू होगा. यह 10 फरवरी तक चलेगा. इस बार सड़क सुरक्षा सप्ताह का थीम सड़क सुरक्षा, जीवन रक्षा निर्धारित किया गया है. सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय, भारत सरकार के निर्देशानुसार सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है. सड़क सुरक्षा सप्ताह से संबंधित तैयारियों की समीक्षा बैठक शुक्रवार को परिवहन विभाग सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने किया. इस मौके पर राज्य परिवहन आयुक्त श्रीमति सीमा त्रिपाठी और बिहार सड़क सुरक्षा परिषद के विभिन्न स्टेक होल्डर- नगर विकास एवं आवास विभाग, शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य विभाग, पथ निर्माण विभाग, परिवहन विभाग, बीमा

Read more

2 दिन में 50 फ़िल्म ! रचनात्मकता की अग्निपरीक्षा या कलात्मक प्रयोग की ?

कार्यशाला से उपजेगा मैकाले शिक्षा का विरोध आरा, 17 जनवरी | गंगा जगाओ अभियान और जॉ पाल स्कूल आरा के तत्वावधान में कविता लेखन व फ़िल्म मेकिंग की दो दिवसीय कार्यशाला 18-19 जनवरी को धनुपुरा स्थित स्कूल में आयोजित की जाएगी. इसकी जानकारी प्रख्यात कवि व लेखक निलय उपाध्याय ने दी. बताते चलें कि वे विद्यालय-विद्यालय घूम रहे हैं जिनकी सारी चिन्ताऎ सिमट कर कविता-फ़िल्म की सोलह साल तक के बच्चों की कार्यशाला पर केन्द्रित हो गई है. यह कार्यशाला आगामी १८-१९ जनवरी को आरा के जॉ पाल,धनुपूरा स्कूल में होगी. इसमें पचास बच्चे ,छह सहयोगी( दो फ़िल्म निर्माण, दो एडिटिंग तथा दो म्यूजिक डायरेक्टर ) भाग लेंगे. इस कार्यशाला के माध्यम से बच्चों द्वारा तैयार की गई सामग्रियों को ४८ घंटों में ५० फ़िल्में और ५० कविताएं विद्यालय के प्राचार्य को सौपने की होगी. उन्होंने बताया कि इस कार्यशाला में प्रशिक्षक के रूप में वे खुद कविता लेखन व फ़िल्म स्क्रिप्ट लेखन का प्रशिक्षण, वरिष्ठ रंगकर्मी अजय शाह व ओ पी पांडेय फ़िल्म मेकिंग का प्रशिक्षण, फ़िल्म एडिटिंग का प्रशिक्षण अमन बाबा, कैमरा मैन के रूप में कन्हैया व रविकांत,वही वरिष्ठ पत्रकार नरेंद्र सिंह फ़िल्म पत्रकारिता के प्रशिक्षक के रूप में भाग लेंगे. जॉ पॉल स्कूल के प्राचार्य शम्भूनाथ मिश्रा ने बताया कि इस कार्यशाला में 50 बच्चे भाग लेंगे. कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य बच्चों में क्रिएटिविटी पैदा करना व मैकाले की शिक्षा पद्धति का विरोध करना है. इस कार्यशाला से बच्चों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रेरणा दी जाएगी. आयोजकों का मानना है कि आत्मनिर्भरता ही स्वपन को जन्म

Read more

मतदाता जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन | निर्वाचक साक्षरता क्लब

आरा (सत्यप्रकाश की रिपोर्ट) | आगामी लोकसभा चुनाव हेतु मतदाताओं को जागरूक एवं प्रेरित करने हेतु स्थानीय एसबी कॉलेज एवं जगजीवन कॉलेज में मतदाता जागरूकता कार्यक्रम एवं निर्वाचक साक्षरता क्लब के गठन एवं कार्य से संबंधित कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम का उद्घाटन जिलाधिकारी संजीव कुमार एवं उप विकास आयुक्त शशांक शुभंकर द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया. सभागार में युवा मतदाता एवं महिला मतदाताओं की संख्या अधिक देखी गई. उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि लोकतंत्र में चुनाव का महत्वपूर्ण स्थान है. इसके द्वारा योग्य प्रतिनिधि का जनता द्वारा चुनाव किया जाता है तथा सरकार का गठन किया जाता है. उन्होंने विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में निर्वाचन साक्षरता क्लब के गठन एवं क्लब के कार्य एवं गतिविधियों के संदर्भ में लोगों को अवगत कराया. उन्होंने कहा कि मतदाता सूची में नाम जोड़ने से लेकर चुनाव संबंधी सभी गतिविधियों के के बारे में मतदाताओं को जागरूक एवं प्रेरित करना क्लब का मुख्य उद्देश्य है ताकि देश का जागरूक मतदाता लोकतांत्रिक व्यवस्था में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष होकर अपने मताधिकार का प्रयोग कर अपनी इच्छा के अनुसार जनप्रतिनिधियों का चुनाव एवं सरकार का गठन कर सके. उन्होंने सार्वजनिक स्थलों पर क्लब द्वारा ईवीएम एवं वीवीपैट की जानकारी देने हेतु शिविर लगाने को कहा. साथ ही आगामी लोकसभा चुनाव में अधिकाधिक संख्या में युवा मतदाता एवं महिला मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करें. उन्होंने क्लब के माध्यम से जिला के विभिन्न समारोहों में तथा राष्ट्रीय मतदाता दिवस के शुभ अवसर पर जागरूकता कार्यक्रम चलाने को कहा.

Read more

कैंसर का इलाज अब संभव

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | कैंसर का डर लोगों के जेहन तक में बैठा हुआ है. कैंसर तेजी से फैलने वाली बीमारियों में शुमार है. अलग अलग कैंसर के कारण भी अलग होते हैं. गंगा के इलाकों में रहने वालों को कैंसर का खतरा अधिक होता है. शोध से पता चला है कि गंगा नदी के इलाकों में आर्सेनिक की अधिकता के कारण कैंसर होने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है. वहीं तंबाकू, गुटका, पान मशाला के सेवन से मुंह के कैंसर का खतरा और ज्यादा बढ़ गया है. मुंह का कैंसर सबसे तेजी से फैलने वाली बीमारी मानी जाती है और तीसरे चरण के मरीज की उम्र महीने में होती है. आईजीआईएमएस के ऑंकोलोजी ( दवा) विभाग के हेड डॉ अविनाश पांडे का कहना है कि कैंसर लाईलाज नहीं है, बस सावधानी की जरुरत है. उनका कहना है कि कैंसर का शुरुआत में पता चलने पर मरीज के ठीक होने की संभावना शत प्रतिशत होती है. डॉ पांडे ने बताया कि शरीर में सेल्स ग्रुप का अनियंत्रित वृद्धि हीं कैंसर है.ये सेल्स टिश्यू को प्रभावित कर शरीर के अन्य हिस्सों में फैलने लगते हैं और कैंसर बढ़ता चला जाता है. डॉ अविनाश के अनुसार गुटका पान मशाला से मुंह के कैंसर ने महामारी का रूप धारण कर लिया है. इसकी शुरुआत मुंह में लाल या सफेद धब्बा पाया जाता है. कुछ लोगों में ठीक नहीं होने वाला मुंह का छाला भी हो सकता है. डॉ अविनाश का कहना है कि मुंह के कैंसर को फैलने में देर नहीं लगती. शुरुआती

Read more

खसरा रूबेला टीकाकरण अभियान का हुआ आगाज

गड़हनी (मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट) | भोजपुर के गड़हनी प्रखंड में गड़हनी उर्दू मध्य विद्यालय के प्रांगण में खसरा रूबेला टीकाकरण अभियान के तहत आज मंगलवार 105 बच्चों का टीकाकरण किया गया. गड़हनी स्वास्थ्य केन्द्र चिकित्सा प्रभारी डॉ० रीता शर्मा ने बताया कि 9 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को ये टीकाकरण किया जाता है, जिसमें आज कुल 105 बच्चों को टीका लगाया गया. बता दें, इस टीकाकरण से अंधापन, बहरापन, कम दिमाग व सहित कई रोगों का बचाव होता है. इसलिये सभी बच्चों का टीकाकरण करने का अभियान केंद्र सरकार ने चलाया है. इस टीकाकरण का उद्धाटन स्वास्थ्य प्रभारी डॉ०रीता शर्मा व गड़हनी मुखिया तस्लीम आरिफ़ ने संयुक्त रूप से फीता काट कर किया. इस मौके पर मैनेजर अनिल कुमार फैज आलम डॉ०ब्रजेश समेत स्वास्थ कर्मी सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे.

Read more

आपदा से बचाव के लिये प्रशिक्षण सम्पन्न

गड़हनी (मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट)। भोजपुर जिले के गड़हनी प्रखंड के सभागार में चल रहे तीन दिवसीय आपदा से बचाव को ले पंचायत प्रतिनिधियों का प्रशिक्षण कल विधिवत सम्पन्न हुआ. पिछले 12 जनवरी से प्रारंभ पंचायत प्रतिनिधियों को आपदा प्रबंधन के सम्बंध चल रहे प्रशिक्षण में गडहनी के सभी नौ पंचायतो के प्रतिनिधीयो का प्रशिक्षण मास्टर ट्रेनर गडहनी पंचायत के सरपंच लव कुमार एवं बराप पंचायत मुखिया अरुण सिंह ने दिया.प्राकृतिक आपदा एवं मानव जनित आपदा के कारणों एवं बचाव के उपायों पर विस्तार से चर्चा करते हुए मास्टर ट्रेनर लव कुमार ने बताया कि सांप काटने (सर्पदंश) की स्थिति में भूलकर भी झाडफूँक के चक्कर में नही पड़ना चाहिए और तत्काल स्वास्थ्य केन्द्र पहुँचना चाहिए. इसके अलावे भूकंप, बाढ़, वज्रपात(ठनका), लू, शीतलहर जैसी प्राकृतिक आपदा के साथ सड़क दुर्घटना,पानी में डूबने से बचाव,अगलगी एवं भगदड जैसी मानव जनित आपदाओं से बचाव की विस्तृत जानकारी दी गई. प्रशिक्षण में बराप, काउप, बगवाँ, हरपुर, ईचरी सहित सभी नौ पंचायतों के मुखिया, सरपंच, वार्ड सदस्य तथा पंच सदस्यो ने बढचढ कर हिस्सा लिया. समापन में प्रखंड प्रमुख अनिता देवी ने सभी को धन्यवाद ज्ञापन किया.

Read more

गुनगुने पानी के साथ अपना दिन क्यों शुरू करें ?

लगातार बदलते जीवन शैली के साथ सभी के लिए फिट रहना बहुत कठिन हो गया है. इसलिए, लोग लगातार वैसे स्वास्थ्य युक्तियों की तलाश कर रहे हैं जो उन्हें अपने स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकें. और लगभग 80% लोगों द्वारा किया जाने वाला एक सामान्य टिप यह है कि वे अपने दिन की शुरुआत एक गिलास गर्म या गुनगुने पानी से करते हैं. इस गुनगुने पानी में थोड़ा नींबू का रस और शहद का जोड़ना इसे उन लोगों के लिए और भी बेहतर बनाता है जो अपने वजन पर नियंत्रण रखने की कोशिश कर रहे हैं. दुनिया भर के लोगों द्वारा इस टिप का अनुसरण करने का कारण यह है कि गर्म पानी पीने के लाभ इतने स्पष्ट हैं कि यह कुछ ही समय में यह उनके लिए एक नियमित आदत बन जाती है. विभिन्न शरीर प्रणालियों पर इस आदत के कुछ सुपर-आश्चर्यजनक लाभों को नीचे जान सकते हैं: पाचन तंत्र : हम रोज जो भी खाते हैं, उसके कुछ अवशेष पचने के बाद भी भोजन नली में रह जाते हैं. अतः नए दिन की शुरुआत एक गिलास गर्म पानी से करना एक अच्छे फ्लश का काम करता है, जो इन सभी अवशेषों को हटा देता है. गर्म या गुनगुना पानी जंक फूड खाकर रहने वाले लोगों के लिए भी बहुत मददगार है क्योंकि यह जंक फ़ूड की चिकनाई को दूर करने में मदद करता है. मेटाबोलिक प्रणाली : जो लोग अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें हर भोजन के साथ गर्म या

Read more