प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू

हो जाइए तैयार, जारी होने वाला है शेड्यूल बिहार के प्राथमिक और मध्य विद्यालयों में 92000 से ज्यादा शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया इसी महीने तीसरे हफ्ते में शुरू होने की संभावना है. विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक शिक्षा विभाग ने शेड्यूल तय कर लिया है और शिक्षा मंत्री की सहमति के बाद इसे जारी करने की तैयारी हो रही है. 20 जून के बाद छठे चरण के नियोजन की प्रक्रिया शुरू होगी जिसमें एनआईओएस से D.El.Ed करने वाले शिक्षकों को आवेदन के लिए 30 दिन का समय मिलेगा. जिन लोगों ने पहले से आवेदन कर रखा है उन्हें दोबारा आवेदन नहीं करना है. प्राथमिक शिक्षकों के नियोजन के लिए आवेदन की आखिरी तिथि 11 नवंबर 2019 थी. अप्रैल महीने में नियोजन पत्र बांटने के लिए 11 से 13 अप्रैल के बीच का समय तय किया गया था. लेकिन पटना हाईकोर्ट के आदेश के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था. पटना हाई कोर्ट ने जनवरी महीने में एनआईओएस डीएलएड शिक्षकों को लेकर एक महत्वपूर्ण आदेश जारी किया था. बिहार सरकार को एनआईओएस डीएलएड शिक्षकों को आवेदन का मौका देने के लिए 30 दिन का समय देने का आदेश पटना हाईकोर्ट ने दिया था. इसके बाद जब एनसीटीई ने बिहार सरकार के पत्र का जवाब देकर एनआईओएस डीएलएड शिक्षकों की डिग्री का मामला स्पष्ट किया उसके बाद शिक्षा विभाग ने पटना हाईकोर्ट में फाइल की गई अपनी याचिका को वापस लेते हुए इन शिक्षकों को नियोजन में मौका देने के लिए शेड्यूल जारी करने का फैसला किया. इस बारे में प्राथमिक

Read more

अब जैन स्कूल में भी होगी ऑनलाइन पढ़ाई

आरा,1 जून. बदलते जमाने के दौर में तकनीक से जुड़े स्कुलो की श्रेणी में अब जिले का सबसे चर्चित जैन स्कूल भी शुमार हो गया है. कोरोना महामारी के बाद ऑनलाइन वर्क जिस तरह से मददगार साबित हुआ उससे इसे हर तरफ लोग अपनाने की सोच रहे हैं. हालांकि इस पर विद्यालय सवर्ण जयंती के अवसर पर ही इसे अमलीजामा पहनाने का एलान कर चुका था. हर प्रसाद दास जैन स्कूल के प्रधानाध्यापक कमलेश जैन ने बताया कि अभिभावकों एवं छात्रों को अति प्रसन्नता होगी कि हमारा विद्यालय हर प्रसाद दास जैन स्कूल आरा अपने वर्ग 6 से 10 तककी पढ़ाई सोशल मीडिया व्हाट्सएप आदि के माध्यमों से शुरू करने जा रहा है.बता दें कि कोविड-19 वायरस से प्रभाव के कारण विद्यालय पिछले 3 माह से बंद है और अभी आगे भी बच्चों की पढ़ाई कक्षाओं में उपस्थित होकर करने में समय लगेगा.ऐसी स्थिति में स्कूल मैनेजमेंट का यह प्रयास है कि सरकारी निर्देश एवं विभागीय प्रावधानों के आलोक में सभी कक्षाओं की ऑनलाइन स्टडी कराने का प्रयास किया जाय. उन्होंने सभी अभिभावकों, छात्रों एवं शिक्षक बंधुओं का अपेक्षित सहयोग की अपील की.ऑनलाइन स्टडी का हमारा प्रयास संभवत इस जिले के सरकारी विद्यालयों में पहला प्रयास होगा. उन्होंने मीडिया से भी इस पहल का स्वागत एवं व्यापक प्रचार-प्रसार करने की अपील की. आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more

टेली परिचर्चा कर 10 दिवसीय रोजगारपरक प्रशिक्षण का लिया निर्णय

आरा, 31 मई . नेशनल साइंटिफिक रिसर्च एंड सोशल एनालिसिस ट्रस्ट ने रविवार को अपराह्न 2 बजे एक टेलीफोनिक मीटिंग अपने सदस्यों कार्यकर्ताओं व बुद्धिजीवियों के साथ समाज के वर्तमान स्थिति पर परिचर्चा को लेकर किया. परिचर्चा देश मे कोरोना महामारी से लॉक डाउन के अंतर्गत लाखों बिहारी श्रमिक लोगों का परदेस उजड़े आशिया को लेकर किया गया. ऐसे बेबस श्रमिक तमाम कठिनाइयों के बावजूद अपने प्रदेश को चल पड़े. आज उनके पास विकराल भुखमरी की समस्या आ खड़ी हुई है क्योंकि उनके पास रोजगार का कोई रास्ता नही दिख रहा ,ऐसी विसम परिस्थिति में आज ट्रस्ट ने पहल करते हुए सर्व सम्मति से निर्णय लिया है कि जो भी श्रमिक महिलाएँ अपने जिला में आई हैं अपने स्वास्थ्य जांच के उपरांत यहाँ हमारे ट्रस्ट में आकर 10 दिनों का रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण प्राप्त कर हमारे यहाँ उत्पादन से खुद को जोड़कर अपने पैरों पर खड़ी हो सकती हैं और स्वाभिमान पूर्वक अपने समाज और परिवार को मजबूती प्रदान कर सकती हैं.ट्रस्ट के अध्यक्ष श्याम कुमार ने बतलाया कि हमारा ट्रस्ट हमेशा से महिलाओं के उत्थान के लिए तत्पर रहा है और अपने कर्तव्य पथ से कभी पीछे नही हटेगा.सरकार पर सारा बोझ छोड़ देना एक बहुत बड़ा सामाजिक अपराध है ,जो भी विस्थापित श्रमिक हैं वो हमारे अपने अंग हैं उनकी देखभाल हम सभी का पहला कर्तव्य है.इस कार्यक्रम में रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण चर्चित युवा हस्तशिल्पी विभूति कुमारी द्वारा महिलाओं को प्रशिक्षण दे उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जाएगा. ट्रस्ट अध्यक्ष श्याम कुमार ने सभी महिला श्रमिकों के लिए अपना व्यक्तिगत मोबाइल नंबर

Read more

अटेंशन प्लीज… बिहार में क्वारंटाइन सेन्टर्स की वैलिडिटी होने वाली है समाप्त

बिहार सरकार ने जारी किया आदेश बिहार के प्रखंड स्तर तक बनाए गए क्वारंनटीन सेंटर्स को लेकर आपदा प्रबंधन विभाग ने महत्वपूर्ण आदेश जारी किया है. रविवार 31 मई को जारी आदेश के मुताबिक देश भर से आ रहे प्रवासी मजदूरों के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 3 जून के बाद समाप्त हो जाएगी. बिहार सरकार की ओर से सभी राज्यों को पत्र लिखकर यह जानकारी दी गई थी कि बाकी बचे प्रवासी मजदूरों को 1 जून तक भेज दिया जाए. 1 जून से सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था और ट्रेनों का परिचालन भी शुरू हो रहा है इस लिहाज से 1 जून के बाद प्रवासी मजदूरों का कोई नया रजिस्ट्रेशन राज्य में नहीं होगा. यही नहीं प्रखंड स्तर तक चलाए जा रहे क्वारंनटीन सेंटर भी 15 जून के बाद बंद कर दिए जाएंगे. ये आदेश बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग की तरफ से 31 मई को जारी किया गया है. राजेश तिवारी

Read more

1 जून से कुछ ऐसी होगी बिहार की परिवहन व्यवस्था

बस, टैक्सी, कार, ऑटो के परिचालन पर आदेश जारी 1 जून से राज्य के अंदर चलेंंगी सार्वजनिक परिवहन की गाड़ियां बसों एवं सभी पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन का परिचालन एक सीट एक व्यक्ति के सिद्धांत के अनुसार किया जा सकेगा. राज्य में ई – रिक्शा, ऑटो रिक्शा का परिचालन कंटोनमेंट क्षेत्र को छोड़कर अनुमान्य होगा. टैक्सी ओला उबर का परिचालन भी कंटेनमेंट क्षेत्र को छोड़कर अनुमान्य होगा. भाड़े में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं होगी. Lock down से पूर्व का भाड़ा ही मान्य होगा. 1 जून से राज्य के अंदर बस एवं सभी पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन का परिचालन शुरू हो जाएगा। 31 मई को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था को सुचारू रूप से लागू कराने के लिए सभी डीएम, एसएसपी और एसपी को निर्देश दिया है. परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि बसों एवं सभी पब्लिक ट्रांसपोर्टेशन का परिचालन एक सीट एक व्यक्ति के सिद्धांत के अनुसार किया जा सकेगा. भाड़े में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं होगी. लॉक डाउन से पूर्व का भाड़ा ही मान्य होगा. राज्य में ई – रिक्शा, ऑटो रिक्शा, टैक्सी, ओला, उबर का परिचालन कंटोनमेंट क्षेत्र को छोड़कर अनुमान्य होगा. बसों के परिचालन के क्रम में परिवहन सचिव ने निम्नलिखित व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने का निर्देश जारी किया है :- (क) वाहन मालिक द्वारा वाहन को प्रतिदिन धुलवाने, साफ-सुथरा रखने एवं समय-समय पर हरेक ट्रिप के पश्चात सेनिटाइज कराना सुनिश्चित करवाएँगे. ड्राइवर एवं कण्डक्टर को साफ कपड़े एवं मास्क, ग्लब्स पहनने

Read more

देख लीजिए अनलॉक 1.0 की खास बातें

अब लॉकडाउन नहीं अनलॉक होगा भारत जी हां अब लॉकडाउन की बजाय अनलॉक 1.0 के बारे में सोचिए और काम पर चलिए. कुछ ऐसा ही संदेश दे रही है केन्द्र सरकार. एक तरफ लॉकडाउन को 30 जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है. दूसरी तरफ बारी-बारी से सभी पाबंदियां खत्म करने की बात कही गई है. हालांकि हर राज्य को अपनी स्थिति देखकर फैसला लेने का अधिकार दिया गया है. बिहार में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए फिलहाल छूट मिलने की गुंजाइश कम है. केन्द्र सरकार की नई गाइडलाइंस के अनुसार आठ जून से धार्मिक स्थलों को खोलने की तैयारी है. लॉकडाउन 5.0 में ग्रीन, रेड और ऑरेंज जोन की कैटेगरी को खत्म करके सिर्फ एक जोन होगा. यह जोन कंटेनमेंट जोन होगा. 8 जून से सभी धार्मिक स्थलों को खोला जा सकेगा. लॉकडाउन 5.0 में मिलेंगी ये रियायतें: – सबसे महत्वपूर्ण ये कि एक जून से आप बिना किसी पास के एक से दूसरे जिला या राज्य आ-जा सकते हैं. फिलहाल स्कूल-कॉलेज नहीं खुलेंगे लेकिन अगले महीने से स्कूल कॉलेज और कोचिंग इंस्टीट्यूट खोले जाएंगे. स्कूल-कॉलेज खोलने का फैसला राज्य सरकारों पर छोड़ा गया है. 8 जून से होटल रेस्टोरेंट मॉल खोलने की इजाजत दी गई है लेकिन ये सोशल डिस्टेंसिंग के सभी मानकों को पूरा करेंगे एक जून से रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. दुकानों पर सिर्फ 5 लोग एक साथ सामान ले सकेंगे. सिनेमा हॉल, मेट्रो रेल, जिम और स्वीमिंग पूल बंद रहेंगे. कंटेनमंट जोन के अलावा कोई और

Read more

समाहरणालय और सर्किट हाउस के निर्माण कार्य का जायजा

आरा,28 मई. covid-19 के कारण चल रहे लॉक डाउन के कारण जहां सभी निर्माण कार्यों में विलंब हो रहा है उसमें भोजपुर जिले के समाहरणालय का नया भवन भी प्रभावित हुआ है. वर्तमान में निर्माण कार्यों को पुनः प्रारंभ किया जा रहा है एवम इसकी प्रगति को देखने के लिए जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा ने गुरुवार को स्थल का निरीक्षण किया. चल रहे कार्यो को मुयायना करने के बाद उन्होंने कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के समुचित निर्देश दिए. PNC

Read more

सब्जी बेचते हैं पापा, बेटा बिहार टॉपर

96% मार्क्स के साथ रच दिया इतिहास बिहार में मैट्रिक परीक्षा 2020 का फाइनल रिजल्ट जारी हो गया. शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा ने मैट्रिक का रिजल्ट जारी किया. 15 लाख 29 हजार 393 विद्यार्थी इस साल मैट्रिक परीक्षा में शामिल हुए थे. इनमें से 80.59% विद्यार्थियों ने मैट्रिक परीक्षा पास कर ली है यह अब तक का सबसे बढ़िया रिजल्ट है. इस बार का रिजल्ट बिहार के सरकारी स्कूलों के लिए गर्व का विषय बन गया है. सरकारी स्कूलों में ज्यादातर गरीब परिवारों के बच्चे पढ़ते हैं इनकी पढ़ाई का पूरा खर्च सरकार उठाती है. इस बार जिस बच्चे ने मैट्रिक की परीक्षा में सबसे पहला स्थान हासिल किया है उसका नाम है हिमांशु राज. रोहतास के हिमांशु ने 500 अंकों में से 481 अंक अर्थात 96% अंकों के साथ बिहार टॉपर का स्थान हासिल किया है. आपको बता दें कि बिहार मैट्रिक परीक्षा के टॉपर हिमांशु राज के पिता सब्जी बेचते हैं. हिमांशु भी पिता के साथ सब्जी बेचने में मदद करता था. हिमांशु की सफलता में उनकी मेहनत और गरीबी के बावजूद आगे बढ़ने की ललक साफ झलकती है. पटनानाउ टीम की ओर से उनके परिवार को बहुत बधाई. District wise Toppers Details राजेश तिवारी

Read more

बिहार बोर्ड मैट्रिक रिजल्ट @12.30

15.29 लाख स्टूडेंट्स के भविष्य का फैसला BSEB मैट्रिक परीक्षा 2020 का रिजल्ट मंगलवार 16 मई को जारी करने वाला है. बिहार के शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन वर्मा मैट्रिक का रिजल्ट ऑनलाइन जारी करेंगे. बिहार मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट देखने के लिए यहां क्लिक करें 26 मई को दोपहर 12.30 के बाद http://onlinebseb.in याhttp://biharboardonline.com

Read more