विभाग ने सुन ली शिक्षकों की परेशानी

शिक्षा विभाग ने आखिरकार जाति गणना कार्य में लगे शिक्षकों की परेशानी को समझते हुए महत्वपूर्ण आदेश जारी किया है. दरअसल जिन शिक्षकों को जाति गणना के कार्य में लगाया गया है उन्हें शिक्षण कार्य के बाद यानी स्कूल अवधि के बाद जाति गणना कार्य करने को मजबूर किया जा रहा था.

भीषण ठंड में इस तरह के आदेश को लेकर शिक्षक पसोपेश में थे. शाम 4:00 बजे के बाद घर-घर जाकर जाति गणना का कार्य करना काफी मुश्किल हो रहा था. इसे देखते हुए शिक्षक संघों ने सरकार से गुहार लगाई थी और विभाग से शिक्षकों की परेशानी को देखते हुए कोई एक ही कार्य करने देने का अनुरोध किया था.




11 जनवरी को शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने सभी जिला पदाधिकारियों को पत्र लिखकर शिक्षकों की इस परेशानी की ओर ध्यान दिलाया है और यह स्पष्ट किया है जाति गणना कार्य में किसी भी स्कूल के सभी शिक्षकों को प्रतिनियुक्त नहीं किया जाए और जो शिक्षक जाति गणना कार्य में हैं उन्हें स्कूल अवधि के दौरान जाति गणना कार्य करने दिया जाए. ऐसे शिक्षक अपनी सुविधानुसार किसी भी वक्त आकर स्कूल में अपना अटेंडेंस बना सकते हैं. जाति गणना कार्य में लगे शिक्षकों के लिए यह बड़े राहत की बात है.

क्या बोले शिक्षा मंत्री

pncb