बाइपास के जबरन निर्माण पर भड़के ग्रामीण

सकड्डी-नासरीगंज बाइपास के जबरन निर्माण पर ग्रामीणों ने जताया विरोध
लाव लश्कर समेत जुटा प्रशासन




भोजपुर के सकड्डी-नासरीगंज पथ के सकड्डी गांव में बाइपास बनाए जाने को लेकर जिला प्रशासन ने गुरुवार को पुलिस फ़ौज साथ लिए सड़क निर्माण शुरू कराया. बिना सूचना के भारी पुलिस व्यवस्था के बीच सड़क के दोनों किनारों को चिन्हित कर जबरन धान काटे फसल हटा सड़क बनाए जाने को लेकर किसानों ने प्रशासन पर आपत्ति जताई है . सक्कड़ी-नासरीगंज पथ के सकड्डी गांव में बाइपास बनाये जाने वाले लगभग ग्यारह एकड़ जमीन पर सड़क के निर्माण को लेकर आज जिला प्रशासन पहुँच गई व मशीन लगा सड़क निर्माण शुरू करा दिया .

गांव के किसानों द्वारा बोये गए कइयों के धान जबरन हटाने व फसल काटने पर आम ग्रामीणों ने कहा कि बधार में किसानों को भगा सड़क निर्माण हेतु भूमि समतल कर प्रशासन ने सड़क निर्माण शुरू कराई है .


ग्रामीणों की माने तो पांच वर्ष पूर्व से ही ग्रामीणों द्वारा लगातार विरोध जारी है . किसानों ने बताया कि अब तक एक भी किसान अपना भुगतान नहीं ले पाये हैं . आवासीय व विकासशील जमीन की दर के बदले कृषि दर का भुगतान को लेकर ग्रामीणों द्वारा पूर्व से ही विरोध जताया जा रहा है . इधर कोइलवर के अंचलाधिकारी मृत्युंजय कुमार ने बताया कि अब तक किसानों के साथ कई बैठकें हो चुकी हैं पर किसानों द्वारा मुआवजा नहीं लिया गया जिसके मद्देनजर जिला प्रशासन ने भू धारियों को दी जानेवाली रकम को न्यायालय में जमा करा दिया गया.

विभाग द्वारा बनाये जा रहे सड़क पर टेढ़े मेढ़े एलाइनमेंट बनाये जाने पर आम लोगों ने भी विभागीय इंजीनियरों को दोषी ठहराया . स्टेट हाईवे के नक़्शे सर्पाकार बताते कहा कि महज डेढ़ किलोमीटर बाई पास में लगभग आधे दर्जन तीखा मोड़ दिए गए है. गांव के अट्ठाइस किसानों द्वारा भूमि के वर्गीकरण व मूल्यांकन को लेकर चला आ रहा मामला उच्च न्यायलय में लंबित भी है . ग्रामीणों की माने तो चार दिसंम्बर को न्यायालय इसकी सुनवाई करेगा .


इधर प्रशासन की कार्रवाई में अनुमण्डलाधिकारी अरुण प्रकाश,भू अर्जन पदाधिकारी संजीव कुमार,एसडीपीओ संजय कुमार, अंचलाधिकारी कोइलवर मृत्युंजय कुमार, सन्देश अंचलाधिकारी बच्चा प्रसाद चौधरी,कोइलवर थानाध्यक्ष पंकज सैनी,चांदी थानाध्यक्ष सुनील जयसवाल समेत पुलिस बल मौजूद रहे.

 

कोइलवर से आमोद कुमार