सरकार ने बढ़ाई टीइटी-एसटीइटी सर्टिफिकेट की वैलिडिटी

आखिरकार छात्रों और टेट अभ्यर्थियों के प्रदर्शन के बाद सरकार की आंख खुली है. बुधवार को बिहार सरकार के शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव ने घोषणा की है कि वर्ष 2011-12 में टेट और एसटेट पास अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्र अगले दो साल के लिए वैलिड रहेंगे। बता दें कि बिहार में पहली बार शिक्षक पात्रता परीक्षा(TET-STET) वर्ष 2011 में हुई थी. वर्ष 2012 में मई-जून महीने में शिक्षक पात्रता परीक्षा में पास हुए अभ्यर्थियों को प्रमाणपत्र दिया गया था. जिनकी वैधता सात साल थी. यानि ये वैधता इस साल मई-जून में समाप्त हो रही थी. अभ्यर्थी लगातार सरकार से इसकी वैधता बढ़ाने की मांग कर रहे थे क्योंकि शिक्षकों की बहाली कई साल से नहीं हो पाई थी.

बिहार सरकार ने बढ़ाई टेट-एसटेट प्रमाणपत्र की वैधता