बिहार में एक और कोरोना मरीज की मौत

वैशाली के राघोपुर निवासी 35 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव मैरीज का पटना एम्स में मौत

21 मार्च को मुंगेर के युवक की भी पटना एम में हुई थी मौत




सबसे पहले सबसे बड़ी खबर. बिहार में सभी सरकारी कार्यालय 20 अप्रैल से खुल जाएंगे. हालांकि 3 मई तक देशव्यापी लॉक डाउन लागू है लेकिन बिहार में नीतीश सरकार ने अपने सभी सरकारी कार्यालयों को 20 अप्रैल से खोलने का फैसला किया है.

इधर बिहार में कोरोना से दूसरी मौत वैशाली के रहने वाले 35 वर्षीय युवक की पटना एम्स में हो गयी. इससे पहले मुंगेर निवासी युवक की मौत भी पटना एम्स में ही हुई थी. पटना एम्स प्रशासन ने पुष्टि की है कि वैशाली निवासी कोरोना पॉजिटिव युवक ने दम तोड़ दिया है.

एम्स के नोडल ऑफिसर डॉ नीरज अग्रवाल ने बताया कि वैशाली निवासी 35 वर्षीय मरीज को 14 अप्रैल को एम्स में लाया गया था. उसे ब्रेन में संक्रमण, इंसेफेलाइटिस ,बुखार से बेहोशी सहित अन्य तरह की शिकायतें थी. उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था. 15 अप्रैल को उसका रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आया था. उन्होंने बताया कि उसकी हालत नाजुक बनी हुई थी जिससे उसे आइसोलेशन वार्ड में वेंटिलेटर पर रखा गया था. उसके परिवार के तीन लोग अभी आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं जिनका रीपोर्ट कोरोना निगेटिव आया था.
बता दें कि पटना एम्स में जिस युवक का कोरोना का इलाज कराया जा रहा था उसका इलाज पटना एम्स से पहले राघोपुर, फिर खुसरूपुर और पटना बाइपास के पॉपुलर हॉस्पिटल में हो चुका था . इस युवक को पहले से ही ब्रेन की बीमारी थी. उसकी हालत नाजुक बनी हुई थी. पिछले एक महीने से इसका इलाज कई जगहों पर कराया गया था. पटना के कंकड़बाग स्थित पॉपुलर हॉस्पिटल से हालात बिगड़ने पर इस शख्स को इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया था.

पटना से अजीत