भोजपुरी की पढ़ाई शुरू कराने के लिए छात्र जदयू की कवायद

भोजपुर में भोजपुरी की पढ़ाई बंद कर देने के बाद एक साल के बाद भी उसे शुरू नहीं करने के मुद्दे पर पूरा छात्र महकमा ही नही बल्कि बिहार के भोजपुरिया जनपद में रोष है. अगर इसे जल्द शुरू नहीं किया गया तो सरकार को बड़े आंदोलन का सामना करना पड़ेगा. इस संदर्भ में आज पहली झलक ही मिल गयी जब आरा में शिक्षा मंत्री के आते ही छात्रों ने उनसे मिलते ही सबसे पहले इसी मुददे पर बात की.




बिहार सरकार के शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा को छात्र जदयू वीर कुँवर सिंह विश्वविद्यालय अध्यक्ष अविनाश राव के नेतृत्व में एक ज्ञापन सौंप कर वीर कुँवर सिंह विश्वविद्यालय आरा के सभी सरकारी महाविद्यालयों में स्नातक एवम स्नातकोत्तर स्तर तक पढ़ाई शुरू करने की मांग की. ज्ञात हो कि वीर कुँवर सिंह विश्वविद्यालय आरा में विगत एक वर्ष से भोजपुरी की पढ़ाई पर पूर्ण रूप से रोक लगा दी गयी है. जिसको लेकर छात्र जदयू ने कुलपति से भी मिलकर वार्ता की थी ताकि जल्द से जल्द भोजपुरी की पढ़ाई शुरू की जाए. विश्वविद्यालय में आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन करने के बाद भी विश्वविद्यालय प्रशासन के कान तक जूँ नही रेंगा. विश्वविद्यालय अध्यक्ष अविनाश राव ने कहा कि बिहार के शिक्षा मंत्री से काफी उम्मीद है, भोजपुरी की पढ़ाई जल्द शुरू कराये. मौके पर मौजूद छात्र जदयू बिहार के प्रदेश उपाध्यक्ष चिकू सिंह एवम प्रदेश सचिव रोहन कुशवाहा ने पटना नाउ से बात करते हुए कहा कि भोजपुरी की पढ़ाई भोजपुरी की गढ़ भोजपुर में बंद करा देना यह बात हजम नही होती. जल्द से जल्द भोजपुरी की पढ़ाई शुरू हो इस पर माननीय शिक्षा मंत्री को पहल करने की जरूरत है. इस मौके पर विश्वविद्यालय उपाध्यक्ष चन्दन सिंह, उपाध्यक्ष विकाश जौहर, विश्वविधालय महासचिव किशोर कुणाल,सचिव राहुल राय सन्नी जी,सचिव अविनाश जी,जैन कालेज अध्यक्ष अमित सम्राट,जगजीवन कॉलेज अध्यक्ष सत्यजीत सरकार,जगजीवन कॉलेज उपाध्यक्ष विकाश राय सहित दर्जनों छात्र जदयू के कार्यकर्ता उपस्थित थे.

 

आरा से ओपी पांडे