कलाकारों ने 35 वें दिन भी भोजपुरी पेंटिंग के लिए आंदोलन जारी रखा

कई मांगों पर आज हुई चर्चा
5 जुलाई 2021
आंदोलन के 35वें दिन जन-संवाद के दौरान लिए गए निर्णय

भोजपुरी पेंटिंग (लोक-कला चित्रशैली) के संरक्षण और संवर्धन हेतु आंदोलनरत भोजपुरी कला सरंक्षण मोर्चा के एजेण्डे में पूर्व से शामिल निम्नांकित मांग को भी लेकर संघर्ष अब और तेज होगा ।




प्रत्येक कलाकार और खिलाड़ी को मासिक बेरोजगारी भत्ता दिया जाए।

कलाकारों और खिलाड़ियों को आयुष्मान योजना के अंतर्गत आच्छादित किया जाए।

आरा के सांस्कृतिक भवन एवं नागरी प्रचारिणी सभा को अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित किया जाए और न्यूनतम शुल्क पर कलाकारों को उपलब्ध कराया जाए साथ ही इसके देखरेख और संचालन की जिम्मेदारी सरकारी पदाधिकारियों के नेतृत्व में सांस्कृतिकर्मियों की कमिटि को दी जाए।

भोजपुर के मुख्यालय आरा में पेंटिंग के लिए कला दीर्घा का निर्माण किया जाये।

संगीत,चित्र और नृत्य के साथ नाट्य कलाकारों की बहाली जल्द हो

आरा के वीर कुँवर सिंह मैदान एवं वीर कुँवर सिंह स्टेडियम के मैदान एवं भवन का आधुनिकीकरण और बेहतर रखरखाव किया जाए। साथ ही इसके देखरेख और संचालन की जिम्मेदारी सरकारी पदाधिकारियों के नेतृत्व में सांस्कृतिकर्मियों की कमिटि को दी जाए।

वीर कुँवर सिंह विश्वविद्यालय से पूर्व से सम्बद्ध कला महाविद्यालय को पुनर्जीवित किया जाये।
अन्य जिलों/जगहों के स्थानिय प्रज्जवलंत मुद्दों के समाधान हेतु शुरू होने वाले पहलों को भी सहयोग व समर्थन प्रदान किया जाएगा।

छाता पर पेंटिंग करते कलाकार