भोजपुर में 6 लाख लोगों की होगी मानव श्रृंखला-डॉ वीरेंद्र

21 जनवरी को मद्य निषेध के लिए बिहारी होंगे एकजुट

सुबह 10कों पर नहीं दौड़ेगी गाड़ियाँ-2 बजे तक सड़क 




शराबबंदी के पक्ष में नशामुक्त बिहार बनाने के उद्देश्य से हर वर्ग के लोग एक दूसरे का हाथ थाम बिहारी अस्मिता की लाज बचाने के लिए लग गए है. जिले के हर ब्लॉक और पंचायत से लेकर गाँव तक लोगों में 21 को बनने वाले मानव श्रृंखला के लिए उत्सुकता है. आम नुक्कड़ और चौक-चौराहों पर इसकी चर्चाएं जारी हैं.

21 को होने वाले इस आयोजन में भोजपुर के जिलाधिकारी डॉ वीरेंद्र प्रसाद यादव भी हर दिन भोजपुर वासियो से सभाएं कर नए और कारगर तरीको पर विचार कर रहे हैं. पटना नाउ से बात करते हुए उन्होंने बताया कि इतने बृहत तौर पर किसी चीज के लिए जागरूकता पहली बार फैलायी जा रही है. यह विश्व के लिए एक ऐसा रिकॉर्ड होगा जिसे बिहार के लोग ही पूरा करेंगे. विश्व में कहीं भी नशा के खिलाफ ऐसा अभियान नहीं छिड़ा है. ये सौगात होगा बिहारियों की रिकॉर्ड बनना तो तय है पर अब यह देखना है बिहारी लोग इसे सफल बना इतिहास में खुद को सुनहरे अक्षरों में अंकित कराते हैं या असफल हो काले अक्षरों में.

314 किमी की भोजपुर में होगी मानव श्रृंखला

भोजपुर जिले में बनने वाले इस मानव श्रृंखला की कुल लंबाई 314 किमी की होगी जिसमें मेन रुट की दुरी 60 किमी और सबरुट की दुरी 254 किमी की होगी. इस दौरान इस दिन 6 लाख लोगों द्वारा मानव श्रृंखला बनाने का अनुमान है जिसमें 1600 कॉर्डिनेटर, और 315 मजिस्ट्रेट नियुक्त होंगे.

मेन रूट कुछ यूँ होगा

60 किलोमीटर की बनने वाली इस मानव श्रृंखला का रूट का पहला सिरा कोईलवर पुल से प्रारंभ होगा जो कायम नगर, धरहरा पुल,आरा बाईपास,स्टेशन,कतीरा मोड,ओभर ब्रीज,मिशन स्कुल,न्यू पुलिस लाईन, चँदवा मोड़,बीबीगंज,गजराजगंज,बिहियाँ चौरस्ता, बिलौटी, शाहपुर,रानीसागर, और कुंडेश्वर पुल से होकर अपने दूसरे और अंतिम छोर महाराजगंज तक होगा.

सबरुट में ये जगहें होंगी शामिल

256 किमी के सबरुट में 14 रुट होगी शामिल जो निम्न हैं

*  बड़हरा-केशोपुर-फरना से गाँगी तक

* सिन्हा-सरैयां-पिरौटा-सिनही से गाँगी पुल तक

* गंगीपुल-मीरगंज-शीशमहल चौक-सिंडिकेट-पुलिस क्लब मोड़-जिला परिषद-जज कोठी-पकड़ी चौक-गिरजा मोड़ से चँदवा तक

* ओवर ब्रीज- बाजार समिति-जीरो माइल-तेतरिया मोड़-उदवंतनगर-गड़हनी-सेमराँव-चरपोखरी-नगरी-पीरो से हसन बाजार तक

* तेतरिया मोड़-दक्षिण एकौना-सरथुवा से बेलाउर तक

* सोनवर्षा-जगदीशपुर नायका टोला-बभनियाव-हरिगांव-कौंरा से जीरो माइल तक         

* जगदीशपुर-शिवपुर-बौलिटोला-धनवा-बिहियाँ- बनाही से शाहपुर तक

* शाहपुर-लिलारी-डुमरिया से भरौली तक

* पीरो-जितौरा बाजार-अकरूआँ-केशवा-दिलीपपुर से जगदीशपुर नायका टोला तक

* तेंदुनी- ककिला-हदियाबाद से बलिगांव तक

* गड़हनी- अगिआँव-नारायणपुर-एकवारी-गुलजारपुर-खैरा से सहार पुल तक

* अगिआँव से पवना तक

* बिहटा-ईमादपुर-खूटहां-सिकरहटा-कुरमुरी से पीरो तक

* तरारी-बड़का गाँव-धनगांवा-डुमरिया-सेदहा से पीरो तक

सुरक्षा और सेहत का पुख्ता है प्रबंध

मानव श्रृंखला में भागीदारी बनने वाले सभी लोगों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को देखते हुए जिला प्रशासन ने हर 1km को  5 सेक्टर में बाँट 4 कॉर्डिनेटर नियुक्त किये हैं. हर 200-400 मीटर पर एक कोर्डिनेटर और एक एएनएम  नियुक्त होगी. ये कॉर्डिनेटर और ANM मानव श्रृंखला की तारम्यता से लेकर भागीदारों के दिक्कतों को दूर करेंगे. 5 से 10किमी पर एक मोनिटरिंग वाहन(एम्बुलेंस) होगा.

कलरफुल एप्रन में दिखेंगे मजिस्ट्रेट

सुऱक्षा लिहाज से 314 किमी के दुरी पर मजिस्ट्रेट भी चप्पे-चप्पे पर दिखेंगे. आमतौर पर सुरक्षकर्मियों के साथ मजिस्ट्रेट पहचान में नहीं आते हैं पर इस बार इन्हें कलरफुल एप्रन में दूर से ही पहचान लिया जायेगा. 5 सेक्टर पर एक मजिस्ट्रेट नियुक्त किये गए हैं यानी हर एक किमी पर एक मजिस्ट्रेट सड़क पर रंगीन एप्रोन में दिखेंगे जिसे आसानी से पहचाना जा सकता है. वही सुरक्षा के लिए 200 मीटर की दुरी पर पुलिस बल की नियुक्ति भी किसी परिस्थिति से निपटने के लिए की जायेगी.

पानी और शौचालय का भी है प्रबंध

मानव श्रृंखला में आये लोगों के लिए पानी और शौचालय का भी प्रबंध किया गया है. जिलाधिकारी ने बताया कि पानी और शौचालय ले लिए रोड साइड वाले सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों का उपयोग किया जा सकता है,

10 बजे से 2 बजे दिन तक जीरो होगी ट्रैफिक

21 जनवरी को पूरे बिहार की सड़कें करेंगी आराम, क्योंकि 10 बजे से 2 बजे दिन तक सड़कों पर वाहन नहीं चलेंगे. हालाँकि मानव श्रृंखला अपराह्न 12.15 से 01:00 बजे तक ही रहेगा पर इसकी तैयारी के लिए सुबह 10 बजे से ही ट्रैफिक शून्य कर दिया जायेगा. इसके प्रचार प्रसार के लिए जिलाधिकारी ने ब्यापक जन अभियान छेड़ रखा है. स्कुल,कॉलेजो, प्राइवेट कोचिंग से लेकर सांस्कृतिक टोलियां, धार्मिक संस्थान, छात्र संगठन,ngo और कई ट्रस्ट इसके लिये लोगों से नित संपर्क में हैं. 2 बजे तक अगर गाड़िया रोड पर चलती दिखी तो प्रशासन लोगों की सुरक्षा के लिए उसे सीज करेगा. इस दौरान सड़कों पर केवल इमरजेंसी में उपयोग होने वाले वाहनों और प्रेस प्रतिनिधियों की वाहन सड़कों पर 20 किमी की रफ़्तार से ही चलेंगी. जिलाधिकारी  ने लोगो से अपील किया नशा मुक्ति के लिए बनने वाले इस मानव श्रृंखला में पूरे परिवार के साथ सम्मिलित होकर इसे दुनिया के पटल पर बिहारियों के सकरात्मक पहल का उदाहरण पेश करें. अपने घर और मोहल्ले के आस पास जहाँ भी मानव श्रृंखला का रूट मिलें वहां शामिल होकर इसे एतिहासिक बनावें. उन्होंने सभी लोगों से अपील किया कि रुट चार्ट को अपने स्तर से भी सोशल मीडिया से लेकर अपने साथी और परिवार के लोगो तक शेयर करें.

रिपोर्ट आरा से ओ पी पाण्डेय