केन्द्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त कर गिरफ्तार करो – राजू यादव


किसानों को रौंदने वाली मोदी सरकार को उखाड़ फेकें! -अजित कुशवाहा

आरा, 13 अक्टूबर 2021. अखिल भारतीय किसान महासभा भोजपुर ने आरा के बस पड़ाव में लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड में शहीद हुए किसानों को मोमबत्ती जला कर श्रद्धाजंलि दी और एक छोटी सभा की. श्रद्धाजंलि सभा में लखीमपुर खीरी किसान हत्याकांड के लिए उत्तरदाई केन्द्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी को बर्खास्त कर गिरफ्तार करने की मांग एकस्वर से लोगों ने की. इस श्रद्धाजंलि सभा में अखिल भारतीय किसान महासभा के महासचिव कार्यकारणी सदस्य व माले केंद्रीय कमिटी सदस्य राजू यादव,राज्य कमिटी सदस्य क्यामुदिन अंसारी, आइसा राज्य सचिव सबीर कुमार, जसम के राज्य सचिव सुधीर सुमन,वरिष्ठ साहित्यकार व प्रोफेसर बलभद्र ,साहित्यकार सुमन सिंह,इनौस जिला संयोजक शिवप्रकाश रंजन,आइसा जिला सचिव विकास कुमार,माले नेता बालमुकुन्द चौधरी,सत्यदेव कुमार,अमित कुमार बंटी,राजेन्द्र यादव,कृष्ण रंजन गुप्ता,अजय गांधी,मीडिया प्रभारी चन्दन कुमार, रौशन कुशवाहा,प्रमोद रजक, निरंजन केशर, अभय सिंह, बबलू गुप्ता,लक्ष्मी पासवान सभा का संचालन माले नगर सचिव दिलराज प्रीतम ने किया.




गिरफ़्तारी की मांग करते लोग


सभा को संबोधित करते हुए महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारणी सदस्य व माले केंद्रीय कमिटी सदस्य राजू यादव ने कहा कि लखीमपुर खीरी की घटना के खिलाफ आज पूरा देश खड़ा हो रहा है. देश के किसानों को बुलडोजर व जीप से रौंद देने की नीति नहीं चलेगी. गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को तत्काल मंत्रीमंडल से बाहर किया जाए. उसके बेटे आशीष मिश्रा ने जो गुनाह किया है,उसके लिए देश की जनता कभी माफ नहीं करेगी. सरकार को तीनों कृषि कानून वापस लेने होंगे. हम हिदुस्तान की खेती को कॉरपोरेट के हाथों बिकने नहीं देंगे. देश की खेत-खेती किसानों की है, न कि बेईमानों की.
सभा को सम्बोधित करते हुए इनौस राज्य अध्यक्ष व डुमराव विधायक अजित कुशवाहा ने किसानों को श्रद्धाजंलि देते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ग्यारह माह से अपनी मंगो को लेकर दिल्ली को घेरे हुए  किसानों को अंजन्दाज कर रही है अपनी हठधर्मिता दिखा रही है. इससे मन नही भर रहा तो उन्हें गाड़ियों के नीचे रौंद दिया जा रहा है. उन्होंने कहा कि इस आंदोलन की धमक केवल भारत मे नही बल्कि पूरी दुनिया  में है.मोदी सरकार को उखाड़ फेंकना ही इसका विकल्प है.