जानिए 25 मई भोजपुर के लिए होगा खास

जिले के प्रत्येक पंचायत का खुलेगा भाग्य, हर पंचायत का एक गाँव होगा ODF

DDC का कड़ा तेवर, कहा- दोषियों पर होगा मुकदमा
4 प्रखंडों के आवास सहायकों पर होगा FIR




आरा, 23 मई. 25 मई भोजपुर के लिए ऐतिहासिक बनने वाला है क्योंकि जिले के प्रत्येक प्रखंड के एक गांव को उस दिन ODF घोषित किया जाएगा. जिसके साथ ही भोजपुर भी खुले में शौच से मुक्त की दिशा में अग्रणी हो जाएगा.इसके लिए युद्ध स्तर पर कार्य जारी है. ODF के नामों की लिस्ट में जगदीशपुर का काकिला, गड़हनी का कुरकुरी, संदेश का रामसागर, चरपोखरी का मुकुंदपुर, बड़हरा का विशुनपुर, अगिआंव का कोसवां, आरा का महुली, उदवंतनगर का उदवंतनगर, बिहियां का फिनगी, शाहपुर का झौवां-बेनवलिया, तरारी का इमादपुर, सहार का चौरी, कोईलवर का धनडीहा पंचायत ODF की ओर अग्रसर है. प्रदत आदेश का अवहेलना के कारण जिला समन्वयक से कारणपृच्छा की गई है. स्वच्छता कार्यो में गंभीर नही रहने के कारण प्रखंड समन्वयक गड़हनी को सेवामुक्त करने का आदेश दिया गया है तथा जिओ टैगिंग में निम्न प्रदर्शन के कारण जीविका के बीपीएम सहार का वेतन बंद किया गया है. जीविका के डीपीएम से प्रखंडवार ग्राम संगठन का नाम, पता मांग की गई है ताकि ग्रामीण स्वच्छता हाट के लिए रिवाल्विंग निधि का हस्तानांतरण किया जा सके.

उक्त बातें 22 मई को आयोजित एक समीक्षा बैठक में उप विकास आयुक्त शशांक शुभंकर ने कही. DDC की अध्यक्षता में इस बैठक में सरकार के सात निश्चय योजना के तहत नल-जल, नाली-गाली, स्वच्छता योजना सहित प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा बैठक कृषि भवन सभागार में सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रखंड समन्वयक के साथ की गई. बैठक में स्वच्छता के तहत प्रखंड वार समीक्षा में शौचालय निर्माण, जियो टैगिंग, मोटिवेटर का पदस्थापना, मॉर्निंग-इवनिंग फॉलोअप आदि बिंदुओ पर पूछताछ करते हुए कार्य मे तेजी लाने का निर्देश दिया गया.  ग्रामीण जनता को स्वच्छता का महत्व, शौचालय की उपयोगिता एवं लाभ तथा ODF के बारे में लोगो को जागरूक एवं शिक्षित करने हेतु पंचायतवार मोटिवेटर की नियुक्ति की जायेगी. इसके लिए सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी के वर्तमान में कार्यरत एवं रिक्त पदों की सूची मांगी गई है.

नल-जल, नाली-गली योजना की समीक्षा करते हुए DDC ने कहा कि कार्यो की गुणवत्ता हर हाल में सरकारी मानक के अनुरूप होगी. उन्होंने इन दोनों योजनाओं का पंचायतवार विशेष टीम का गठन कर जांच कराने का निर्देश दिया. शीघ्र ही विशेषज्ञों की टीम पंचायतों का औचक निरीक्षण कर जांच रिपोर्ट सौपेंगी.

रिक्त पदों पर पंचायतवार मोटिवेटर की काउंसलिंग प्रखंड कार्यालय में ही कि जायेगी. जिसके लिए प्रखंडवार सूची का निर्धारण किया गया है, ताकि योग्य अभ्यर्थियों का चयन कर स्वच्छता कार्य को आगे बढ़ाया जा सके.

इन तिथियों को होगी काउंसलिंग

23 मई को पीरो, बिहियां, 25 को शाहपुर, तरारी, जगदीशपुर और चरपोखरी, 26 मई को सहार, गड़हनी, 28 मई को उदवंतनगर, कोईलवर आदि में काउंसिलिंग हेतु तिथि निर्धारण किया गया है

4 प्रखंडों के आवास सहायकों पर होगी FIR दर्ज

DDC ने कहा कि दोषी पाये जाने वाले वार्ड सदस्य, मुखिया, अभियंता एवं पंचायत सेवक पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में जगदीशपुर, कोईलवर, बड़हरा, शाहपुर प्रखंडों के आवास सहायको पर प्राथमिकी इंदिरा आवास हेतु गलत लाभुक का चयन करने की वजह से की जाएगी. यह कारवाई जांच पदाधिकारी द्वारा की गई रिपोर्ट के आधार पर की गई है. उप विकास आयुक्त ने कहा कि इसी तरह सभी योजनाओं की जांच कर दोषी पाये जाने वालो पर कठोर कारवाई की जायेगी. बैठक में जिला पंचायतीराज पदाधिकारी प्रमोद कुमार तथा डीआरडीएस राजीव रंजन प्रकाश उपस्थित थे.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट