शहीदों के सम्मान में, महिलाएं उतरी मैदान में

आक्रोश मार्च में गड़हनी में महिलाएं भी आयीं आगे
कैंडल जला शहीदों की दी श्रद्धांजलि




गड़हनी | घर की चौकठ में बंद घर का चूल्हा-चौकी करने वाली महिलाओं ने भी देश के सपूतों पर कायराना हमला करने वाले पाकिस्तानी आतंकियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. गड़हनी जैसे ग्रामीण इलाके की महिलाओं ने घरों से बाहर आकर अपना प्रतिकार जताया.

शहीदों के सम्मान में हम उतरे मैदान में,पकिस्तान मुर्दाबाद जैसे विभिन्न नारो के साथ शनिवार को गड़हनी पुरानी बाजार से नया बाजार होते हुए गोला बाजार समेत गड़हनी के विभिन्न गलियों से अंशुप्रिया के नेतृत्व में पुलवामा आतंकी हमले जैसे घिनौने हरकत को लेकर कैंडल लिए आक्रोश मार्च निकाला गया.

आम लोग इस घटना से क्षुब्ध है और सरकार से कड़े एक्शन की मांग को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. महिलाओं और बच्चियों ने गड़हनी बाजार पर जब्जे के साथ सैकड़ों की संख्या में हाथ में तिरंगा झंडा लेकर मार्च में शामिल हुई.

शामिल महिलाये व छात्राओ में पूजा,अंशुप्रिया, लाभली,ज्योति, शिवानी, मिताली,जागृति,प्रिय,दीप, रूपा,सुधा,सोनाली, शोभा,पायल,पूजा,नेहा,रेवती, निशा,राधिका देवी,प्रमिला देवी,मिना देवी,आशा देवी, गुड़िया देवी समेत दर्जनों थी.

गड़हनी से मुरली मनोहर जोशी की रिपोर्ट