सशक्त बेटियां, सशक्त समाज: विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस पर एडोलसेंट सेल

पटना (राजेश तिवारी की रिपोर्ट) | विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस के अवसर पर सोमवार 28 मई को पटना में महिला विकास निगम और यूनिसेफ के संयुक्त तत्वधान में अधिवेशन भवन में एक विशेष जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया.  इस कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए समाज कल्याण मंत्री कुमारी मंजू वर्मा ने कहा कि आज पूरे विश्व में माहवारी की चर्चा हो रही है. हमारी केंद्र की सरकार हो या राज्य की सरकार हो, सभी बेटियों की बेहतरी के लिए बहुत सी योजनाएं चला रही है. उन्होंने कहा कि बिहार सरकार महिलाओं व बच्चों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है. कन्या विवाह योजना, कन्या साइकिल योजना, कन्या सुरक्षा योजना और कन्या धन योजना जैसी योजनाएं हमारी बेटियों को सशक्त करने के लिए है क्योंकि जब बेटियां सशक्त होंगी तभी एक सशक्त समाज का निर्माण हो पायेगा.
यूनिसेफ के अब्दुर रहमान ने बताया कि 2011 की जनगणना के अनुसार बिहार में 10 से 19 वर्ष के किशोरों की कुल जनसंख्या 22.47 प्रतिशत है जिनमें से 59.50 प्रतिशत, 10 से 14 वर्ष एवं 40.50 प्रतिशत, 15 से 19 वर्ष के हैं.
वही महिला विकास निगम के प्रबंध निदेशक एन० विजयालक्ष्मी ने विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस पर किशोर किशोरियों की बेहतरी के लिए चलाए जाने वाले कार्यक्रमों एवं योजनाओं की चर्चा की. विश्व माहवारी स्वच्छता दिवस पर महिला विकास निगम द्वारा एडोलसेंट सेल की स्थापना भी की गई. इस सेल के माध्यम से महिला विकास निगम द्वारा माहवारी से जुड़ी योजनाओं का संचालन किया जाएगा. कार्यक्रम में एडोलसेंट सेल का लोगो लॉन्च किया गया जिसका है – “सशक्त किशोर, विकसित बिहार“. यह लोगो किलकारी के बच्चों द्वारा तैयार किया गया है,
इस अवसर पर समाजसेवी पद्मश्री सुधा वर्गीज ने कहा कि पहले माहवारी या उससे सम्बंधित मुद्दों पर खुल कर बात नहीं की जाती थी परन्तु अब इसकी चर्चा विश्व स्तर पर हो रही है.