तो क्या ऐसे बढ़ेगा स्वरोजगार?

कनेशनल साईंटिफिक रिसर्च सेंटर ने अपने ट्रस्ट में प्रशिक्षितो को बुलाकर बांटी मिठाईयां

ट्रस्ट के अध्यक्ष ने प्रशिक्षितों से कहा आप अपने आसपास की महिलाओं को करें प्रशिक्षित, तो बढ़ेगा स्वरोजगार




आरा, 2 जनवरी. महिलाओं को स्वावलंबी व रोज़गारपरक बना उन्हें अपने पैरों पर खड़ा करने के उद्देश्य से नव वर्ष के अवसर पर,महिला सशक्तिकरण,हस्त शिल्प कला व असहायों के प्रति समर्पित संस्था नेशनल साइंटिफिक रिसर्च एंड सोशल एनालिसिस ट्रस्ट आरा के निज कार्यालय में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन पूर्वाह्न 11 बजे से किया गया. इस मौके पर ट्रस्ट में प्रशिक्षित छात्राओ को बुलाकर मिठाइयां बांटी गयी. इस मौके पर ट्रस्ट द्वारा प्रशिक्षितों को अपने पैरों पर खड़ा होने में क्या मदद मिली विषय पर अपने विचार सांझा करने और अपने नजदीकी महिलाओ को प्रशिक्षित करने को कहा गया. शालिनी, विभूति, अनामिका,पल्लवी,रजनी,कामिनी,नीलम, बीना,अनुष्का, रागिनी,गरिमा,सरिता व अन्य ने उपस्थित जन के बीच अपने संबोधन से ट्रस्ट के कार्यों पर प्रकाश डाला तथा अपनी उपलब्धियों की चर्चा करते हुए सभी महिलाओं को अपने पैरों पर खड़ा होने की सलाह दी.


नेशनल साइंटिफिक के अध्यक्ष श्याम कुमार ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए नव वर्ष में कुछ नया कर दिखाने की अपील की और मानवता के दीप को जलाए रखने की बात कही. उन्होंने दिनांक 21 जनवरी को ट्रस्ट के नवम वर्षगाँठ के अवसर पर सांस्कृतिक कार्य क्रम के आयोजन व हस्त शिल्प प्रदर्शनी तथा विचार गोष्ठी के आयोजन की बात कही.

कार्यक्रम में आकाश चौबे ,डॉ सुभाष,अनिल राय,अंजुम, परवेज आलम,श्रीकांत सिंह ,गोलू , संजय नाथ पाल, मनोज सिंह ,राजा बसंत बहार ,अंकुर ,अंकिता,तरुण,बिना सहाय,विभूति श्रीवास्तव, डॉ रवि रंजन कुमार व गणमान्य लोगों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की.

बयूरो रिपोर्ट पटना नाउ