‘संसदीय परंपरा और नैतिकता के विरूद्ध है ये बजट’

केंद्रीय बजट को लेकर बिहार में विपक्ष ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि अंतरिम बजट के नाम पर मोदी सरकार ने गैरसंवैधानिक पूरा बजट पेश किया है. जो भी घोषणाएँ है उन्हें आगामी सरकार ने लागू करना है। यह जनता के साथ छलावा है. अगर जनता की इतनी ही फ़िक्र थी तो विगत 5 साल से क्या पकौड़े तल रहे थे? तेजस्वी यादव ने कहा कि अंतरिम बजट में पूरी तरह से दूरदर्शिता का अभाव है, चुनावी भाषण से अधिक कुछ नहीं, अपनी योजनाओं का बखान और अपने कार्यकाल के बाहर के सपने ही दिखाए गए- किसानों की आय बढ़ाने, कृषि को मुनाफे की ओर ले जाने का कोई रोडमैप नहीं दिखा. कृषकों की आय को दुगना करना इस सरकार के पूरे कार्यकाल में एक जुमला ही सिद्ध हुआ. सिंचाई और किसानों के लिए बिजली की बात, उर्वरकों व खादों के बढ़ते दामों से निपटने के बात को नजरअंदाज कर दिया गया. फसल बीमा योजना की विफलता को भी सफलता सिद्ध करने की ज़िद में सरकार. ₹500/माह की राशि किसानों के साथ एक मजाक है. शिक्षा व स्वास्थ्य क्षेत्रों की पूर्णतः अनदेखी की गई है। रोजगार के सृजन जैसे गम्भीर मुद्दे पर बजट विज़न विहीन है. दलित, पिछड़ों व अन्य कमज़ोर वर्गों के उत्थान, उनके लिए स्कॉलरशिप योजना इत्यादि का कोई उल्लेख नहीं. OROP के तथाकथित समाधान से पूर्व सैनिक नाखुश फिर भी सरकार कर रही है अपनी वाहवाही.

Read more

क्या स्थापना दिवस समारोह में शामिल होंगे तेजप्रताप!

राजद आज अपना 22वां स्थापना दिवस मना रहा है. इस मौके पर पार्टी के पटना स्थित ऑफिस में समारोह का आयोजन किया गया है. ये पहली बार है जब लालू यादव अपनी पार्टी के स्थापना दिवस समारोह में शामिल नहीं होंगे. लालू फिलहाल मुंबई में अपना इलाज करा रहे हैं. इस बीच राजद परिवार में एका रखने की कवायद जारी है. आज सभी नजरें इस ओर होंगी कि तेजप्रताप इस समारोह में शामिल होंगे या नहीं. दो दिन पहले पार्टी की ओर से जारी मीडिया के आमंत्रण में तेजप्रताप का नाम नहीं होने को लेकर काफी बवेला मचा था. इसके बाद पार्टी के नेताओं को सफाई देनी पड़ी थी कि ऐसा भूल वश हुआ था. पार्टी प्रवक्ता चितरंजन गगन ने कहा कि तेजप्रताप पार्टी के बड़े नेता हैं और वे जरुर शामिल होंगे और समारोह को संबोधित भी करेंगे. इस बीच राजद दफ्तर और 10 सर्कुलर रोड के बाहर लगे पोस्टरों ने भी लोगों का ध्यान खींचा है. इन पोस्टर्स में पहली बार लालू की बहू ऐश्वर्य का फोटो भी नजर आया. राजद तमाम बड़े नेताओं के साथ बहू ऐश्वर्य की फोटो देखकर ऐसी चर्चा है कि जल्द ही ऐश्वर्य भी राजनीति में एंट्री ले सकती हैं. राजेश तिवारी

Read more

हाईकोर्ट से तेजस्वी को मिला स्टे

बिहार में बंगले को लेकर कई महीनों से चल रहा विवाद थमता नहीं दिख रहा है. एक ओर बिहार सरकार पूर्व मंत्रियों को बंगला खाली करने का दबाव बना रही है वहीं बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम इस मामले में हाईकोर्ट पहुंच गए हैं. और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी को वहां से राहत भी मिल गई है. पटना हाईकोर्ट ने बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को बड़ी राहत दी है. पटना हाईकोर्ट ने सरकार के उस आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है जिसमें तेजस्वी यादव को 5, देशरत्न मार्ग का बंगला खाली करने का नोटिस जारी किया गया था. दरअसल जुलाई 2017 में बिहार में सत्ता परिवर्तन के साथ ही सरकार ने पूर्व मंत्रियों को बंगला खाली करने का नोटिस जारी किया था. इनमें से कई ने बंगला खाली कर दिया लेकिन अब भी तेजस्वी यादव अपने बंगले में टिके हैं. सरकार ने तेजस्वी यादव को नेता प्रतिपक्ष के नाते दूसरा बंगला आवंटित किया है लेकिन वे पहले की तरह डिप्टी सीएम के लिए आवंटित बंगले में ही रह रहे हैं.  जब लगातार नोटिस देने के बाद भी तेजस्‍वी यादव ने बंगला खाली नहीं किया तो पिछले महीने भवन निर्माण विभाग ने पटना जिला प्रशासन को पत्र लिखकर उनका बंगला बलपूर्वक खाली कराने का पत्र जारी किया.  शुक्रवार को जस्टिस डी के सिंह की एकल बेंच ने पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव की याचिका पर सुनवाई करते हुए ये अंतरिम आदेश जारी किया. साथ ही इस मामले को किसी अन्य जस्टिस की एकल बेंच में सुनवाई के लिए ट्रांसफर कर

Read more

‘बिहार में भी सबसे बड़े दल को मिले सरकार बनाने का मौका’

बिहार में राजभवन में शुक्रवार को विपक्षी एकता एक बार फिर देखने को मिली जब राजद, कांग्रेस, हम और सीपीआई एमएल ने मिलकर राज्यपाल सत्यपाल मलिक को ज्ञापन सौंपा. राजद नेता तेजस्वी यादव के मुताबिक महागठबंधन के 111 विधायकों के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंपा गया है. ज्ञापन में कर्नाटक में राज्यपाल के फैसले के आधार पर बिहार में भी सबसे बड़े दल होने के कारण राजद को सरकार बनाने का मौका दिए जाने की मांग की गई है. राजद ने वर्तमान सरकार को बर्खास्त करने की मांग करते हुए राज्यपाल से राजद को सरकार बनाने का न्योता देने का अनुरोध किया है. राजद की इस मांग का समर्थन कांग्रेस, हम और वाम दल ने किया है. राज्यपाल से मिलने के बाद बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि जब कर्नाटक में सबसे बड़े दल को बहुमत नहीं होने के बावजूद सरकार बनाने का मौका मिल सकता है तो बिहार में क्यों नहीं.   पटना से राजेश तिवारी

Read more

‘राबड़ी, तेजस्वी की सुरक्षा में नहीं हुई कोई कटौती’

पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के निवास से सुरक्षा कम किए जाने को लेकर मचे बवाल पर आज बिहार पुलिस ने सफाई दी. एडीजी हेडक्वार्टर एस के सिंघल ने दावा किया कि पूर्व सीएम राबड़ी देवी और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की सुरक्षा में कोई कमी नहीं की गई है. बल्कि उन्हें तो कहीं ज्यादा सुरक्षा मिली हुई है. एडीजी ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को जेड प्लस के साथ कुल 56 ,लालू यादव को जेड प्लस  के साथ 3 पुलिस पदाधिकारी के साथ 2-8 सी आरपीएफ बल, तेजस्वी यादल के साथ 27 और तेजप्रताप यादव के साथ 10 सुरक्षाकर्मी अब भी तैनात हैं. पुलिस मुख्यालय के अनुसार राबड़ी देवी और लालू प्रसाद जेड प्लस की श्रेणी में आते हैं और दोनों एसएसजी एक्ट 2010, बिहार के तहत प्रोटेक्टिव हैं. एडीजी ने बताया कि सुरक्षा के लिये विशेष कमिटी बनी है और कमिटी के फैसले के अनुसार सुरक्षा हटायी गयी है. एडीजी ने बताया कि लालू प्रसाद जेल में हैं इसलिए उनकी सुरक्षा में लगे 15 पुलिसकर्मियों को हटाया गया है.

Read more

CBI के सामने फिर पेश नहीं हुए लालू-तेजस्वी

रेलवे के 2 होटलों के टेंडर घोटाला मामले में लालू और तेजस्वी यादव एक बार फिर सीबीआई के सामने पेश नहीं हुए.  लालू ने फिर से सीबीआई से समय मांगा है. File Pic लालू यादव पर उनके रेल मंत्री रहते रेलवे के 2 होटलों के रख रखाव के टेंडर में हेराफेरी का आरोप है. रांची और पुरी स्थित इन होटलों के टेंडर में एक खास कंपनी को फायदा पहुंचाने का आरोप भी लालू पर है. जानकारी के मुताबिक अब लालू और उनके बेटे तेजस्वी यादव 5 और 6 अक्टूबर को CBI के सामने पेश होंगे. इधर लालू और तेजस्वी को लेकर संशय की स्थिति को देखते हुए राबड़ी देवी ने बुधवार को पार्टी के नेताओं, विधायकों और जिलाध्यक्षों की आपात बैठक बुलाई है.

Read more

इनकम टैक्स ने तेजस्वी और राबड़ी से पूछे तीखे सवाल

राबड़ी तेजस्वी और मीसा से हुई पूछताछ पटना में आज पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी से इनकम टैक्स अधिकारियों ने पूछताछ की. सुबह करीब साढ़े दस बजे पटना स्थित आयकर विभाग के ऑफिस पहुंचे तेजस्वी शाम 5 बजे तक बाहर नहीं आए थे. इनके अलावा पूर्व सीएम राबड़ी देवी को भी आईटी ने करीब डेढ़ बजे बुलाया औऱ उनसे अलग से पूछताछ हो रही है. तेजस्वी, मीसा और राबड़ी को आईटी ने पहले ही नोटिस जारी किया था. इन दोनों को बेनामी संपत्ति और आय से ज्यादा संपत्ति मामले में पूछताछ के लिए बुलाया गया था. जानकारी के मुताबिक तीनों ने अपनी रैली के बाद हाजिर होने के लिए आयकर विभाग से आग्रह किया था. File Pic इस पूरे कार्यक्रम को अत्यंत गोपनीय रखा गया था. इसके लिए दिल्ली से आयकर विभाग के अधिकारी पटना पहुंचे थे. सूत्रों के मुताबिक आयकर विभाग ने इन तीनों से अलग-अलग पूछताछ की. बता दें कि पिछले दिनों पटना और दिल्ली सहित कई जगहों पर लालू, मीसा और तेजस्वी यादव से जुड़े ठिकानों पर ईडी, आयकर और सीबीआई की टीमों ने छापेमारी की थी. आई टी की पूछताछ के बाद शाम करीब 5.30 बजे तेजस्वी तो 6.45 बजे राबड़ी देवी और मीसा बाहर निकले.

Read more

”बड़-बड़ मोदी गड़बड़ मोदी”

तमाम राजनीतिक दांव-पेंच और अदालती परेशानियों के बीच लालू यादव ने एक बार फिर पटना की रैली के जरिए दिखाने की कोशिश की क्यों उन्हें जनता का नेता कहा जाता है. पूरा तो नहीं लेकिन आधा गांधी मैदान जरुर लालू समर्थकों से पटा नजर आया. पटना की सड़कों पर लोगों की भीड़ भी खूब दिखी. इस दौरान राजद समर्थकों की पटाखेबाजी, फायरिंग और पुलिस के साथ झड़प भी आज खूब चर्चा में रहा. इन सबके बीच पटना के गांधी मैदान में रविवार को नेताओं ने नीतीश और बीजेपी पर जमकर भड़ास निकाली. बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी खासकर नीतीश कुमार पर विशेष मेहरबान दिखे. तेजस्वी ने कहा,’नीतीश पहले भी मेरे चाचा थे औऱ आज भी चाचा हैं, लेकिन अब वे अच्छे चाचा नहीं रहे.’ तेजस्‍वी ने कहा कि वे हमारा साथ छोड़कर भले ही चले गये, लेकिन महागठबंधन टूटा नहीं है. असली जदयू के नेता हमारे चाचा शरद यादव हैं. तेजस्वी ने पीएम मोदी पर भी हमला किया. पूर्व डिप्टी सीएम ने कहा कि यह असल में ”बड़-बड़ मोदी, गड़बड़ मोदी” है. नीतीश कुमार ने सृजना का पाप छिपाने के लिए भाजपा के गोद में बैठना स्वीकार कर लिया. तेजस्वी ने कहा कि सृजन घोटाले में जदयू और भाजपा के नेता शामिल हैं और उन्‍हें बचाने के लिए लीपापोती की जा रही है. नीतीश जी भागलपुर गये थे ताकि सबूतों को मिटा दिया जाये. सृजन में भी दो मौत हो चुकी है, जो मुख्‍य आरोपी था, उसकी रहस्‍यमय तरीके से मौत हो गई. तेजस्‍वी ने कहा कि

Read more

लालू के बाद तेजस्वी ने बोला नीतीश पर हमला

एक दिन पहले लालू ने नीतीश पर सवाल दागे थे. आज बारी उनके बेटे तेजस्वी की थी. बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने बुधवार को एक के बाद एक कई सवाल नीतीश कुमार पर दागे. तेजस्वी ने ये भी कहा कि नीतीश कुमार को मेरे सवालों का जवाब देना होगा. इस बार कोई बीमारी या गला खराब होने का बहाना नहीं चलेगा. तेजस्वी ने कहा है कि वे नीतीश की दगाबाजी के खिलाफ चंपारण से यात्रा शुरू करेंगे और लोगों को उनके बारे में बताएंगे. शरद यादव के राजद में आने की संभावना वाले सवाल पर तेजस्वी ने कहा कि शरद जी नीतीश कुमार से नाराज हैं और उनकी लालू जी और हमसे लगातार बात हो रही है. सुनिेए, कैसे नीतीश पर हमलावर नजर आए पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव- तेजस्वी ने कहा कि हम लगातार सीएम से सवाल पूछ रहे हैं लेकिन वो लगातार इसका जवाब देने से भाग रहे हैं. नीतीश ने हम पर FIR को महागठबंधन तोड़ने का पैमाना बनाया लेकिन नई सरकार के 75 फीसदी मंत्री दागी हैं ऐसे में वो कैसे उनके साथ सरकार में बैठे हैं. तेजस्वी ने कहा कि केन्द्र सरकार को ऐसा कानून बनाना चाहिए कि  एक बार जिसपर FIR हो जाए, उसके बाद उस आदमी को कोई भी कुर्सी या पद ना मिले.

Read more

सत्र से पहले महागठबंधन की बैठक से परहेज क्यों!

28 जुलाई से बिहार विधनमंडल का मॉ़नसून सत्र शुरू हो रहा है. बिहार के इतिहास में इस बार ये सत्र ऐतिहासिक होने जा रहा है जब सरकार के भविष्य पर अनिश्चितता छाई हुई है. ना तो सीएम और ना ही डि्टी सीएम सदन में एक साथ बैठने की स्थिति में हैं क्योंकि दोनो के बीच तल्खी की बातें सार्वजनिक हैं. यही नहीं, सत्र से पहले राजद और जदयू अपने-अपने विधायक दल की बैठक बुधवार को कर रहे हैं लेकिन महागठबंधनव की संयुक्त बैठक की कोई चर्चा नहीं है. इसका सीधा फायदा विपक्षी दल बीजेपी को मिलता दिख रहा है. बीजेपी ने पहले ही तेजस्वी के इस्तीफे को लेकर मॉनसून सत्र नहीं चलने देने की चेतावनी दी है. अब अगर सत्र के दौरान बीजेपी तेजस्वी के इस्तीफे की मांग करती है या फिर इसपर चर्चा की मांग करती है तो क्या सरकार की तरफ से जदयू या नीतीश कोई जवाब देने की हालत में होंगे.  इन सब को देखते हुए बुधवार से लेकर आने वाले कुछ दिन बिहार की राजनीति में अहम होने वाले हैं. बता दें कि बुधवार 26 जुलाई को राजद और जदयू, दोनों ही दलों ने अपने-अपने विधानमंडल दल की बैठक बुलाई है. दोपहर 12.30 बजे से पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर राजद विधानमंडल दल की बैठक आयोजित है तो सीएम नीतीश कुमार के आवास पर शाम 5.30 बजे से जदयू विधानमंडल दल की बैठक होगी. जदयू ने पहले यह बैठक 27 जुलाई को निर्धारित किया था. राजद ने बैठक में अपने सभी विधायकों व विधान

Read more