कैसे टूटा 7वें दिन छात्रों का अनशन !

प्रशासन के आश्वासन पर 7वें दिन छात्रों का अनशन टूटा‘लीड’ के लीडरशिप में अगले हफ्ते आरा हाउस से विवि तक निकलेगा शांति मार्चशामिल होंगे छात्रों के साथ शिक्षक व आम जन भी आरा,9 मार्च(ओ पी पांडेय/रवि प्रकाश सूरज). VKSU के जमीन पर सरकार द्वारा जबरदस्ती 25 एकड़ 14 डिसमिल जमीन को दखल कर मेडिकल कॉलेज बनाने के निर्णय के बाद से विवि के स्तीत्व पर गहराए संकट ने छात्रों और शिक्षकों के साथ जिलावासियों की नीद उड़ा दी. इस खबर ने सबको इतना बेचैन किया कि संवेदनशील छात्रों ने विवि को बचाने के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा आमरण अनशन पर बैठ गए. आमरण-अनशन में हर रोज लोग लोगों का सहयोग मिलना शुरू हुआ और एक के बाद एक जब छठे दिन तक अनशन पर बैठे छात्र अनिरुद्ध का  स्वस्थ्य बिगड़ना शुरू हुआ तो प्रशासन की नींद खुली और फिर मंगलवार छात्रों और शिक्षकों के के साथ हुए बातों के बाद प्रशासन द्वारा जब आश्वासन मिला तब छात्रों ने अपना अनशन तोड़ा. वीर कुँवर सिंह विवि को बचाने के संघर्ष की लड़ाई तेज करने के संकल्प के साथ ही लीडरशिप फ़ॉर एजुकेशन एंड डेमोक्रेसी (लीड) के सदस्य अनिरूद्ध सिंह ने आज अपना आमरण अनशन एडीएम कुमार मंगलम और कुलपति देवी प्रसाद तिवारी की उपस्थिति में तोड़ा. छात्र अनिरुद्ध सिंह, अमित गौतम, वैभव कुमार पाठक को जूस पिलाने के साथ ही विवि परिसर वीर कुँवर सिंह अमर रहे के नारों से गुंजायमान हो उठा. लीड कार्यकारिणी सदस्यों ने एडीएम के साथ लंबी वार्ता की जिसमें जिला प्रशासन ने बताया कि

Read more

महिला दिवस पर महिला शक्ति का मिला साथ

अनशन की बागडोर छठे दिन महिला शक्ति के हाथमहिला दिवस पर विवि को बचाने आगे आईं शाहाबाद की बेटियाँकल होगी कुलपति और जिलाधिकारी के साथ समन्वय समिति की वार्ता आरा, 8 मार्च(रवि प्रकाश सूरज). लीड संगठन के सदस्य अनिरूद्ध सिंह के आमरण अनशन के छठवें दिन विवि को बचाने की लड़ाई में शाहाबाद की 4 बेटियाँ और विवि की छात्राएं संध्या सिंह, सोनाली कुमारी, सुरभि लता और रूपाली कुमारी भूख हड़ताल पर बैठी. इनके अलावा आज छात्राओं स्नेहा कुमारी, अंकिता सिंह, प्रिया कुमारी ने भी अनशनस्थल पर अपनी मौजूदगी दर्ज कराई. आज छठे दिन अनिरुद्ध का रक्तचाप अब तेजी से गिर रहा है और इसको देखते हुए लीडरशिप फ़ॉर एजुकेशन एंड डेमोक्रेसी की कार्यकारिणी ने सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पारित किया कि अनिरुद्ध सिंह के साथ अप्रिय घटना हुई तो लीड सदस्य अमित सिंह गौतम इस आन्दोलन के नेतृत्व को निर्णायक बिंदु तक ले जाएंगे. इसी बीच अब इस आमरण अनशन को छात्र राजद का समर्थन मिल जाने से प्रशासन पर दबाव बढ़ गया है. विवि प्रशासन ने अनशन तोड़ने की गुजारिश की एक महत्त्वपूर्ण घटनाक्रम में कुलपति देवी प्रसाद तिवारी के साथ विवि के रजिस्ट्रार कैप्टेन श्रीकृष्ण सिंह, सीसीडीसी हीरा प्रसाद, छात्रकल्याण डीन के के सिंह और पूर्व परीक्षा नियंत्रक रामतवाक्या सिंह आज शाम अनशनस्थल पर आए और छात्रों से आमरण अनशन तोड़ने की गुजारिश की. लीड कार्यकारिणी सदस्यों ने इस मुद्दे पर समन्वय समिति बनाकर कुलपति के साथ कल वार्ता करने का प्रस्ताव रखा जिसे विवि ने मंजूर कर लिया। कुलपति ने छात्रों के साथ जिलाधिकारी को भी

Read more

साहिर के गीतों से गुलजार रहा अनशनस्थल

पटना नाउ फॉलोअप- अनशन का 5वां दिनहौसलों से बुलंद अनशनकारी छात्र“हमी को नज्मे-गुलिस्ता पे इख्तियार नहीं” आरा,7 मार्च(सत्य प्रकाश सिंह). VKSU की भूमि पर मेडिकल कॉलेज बनाने को लेकर छात्रों द्वारा जारी भूख हड़ताल आज पांचवे दिन भी जारी रहा. छात्रों से मिलने समाजसेवी,शिक्षकों और साहित्यकारों का ताँता दिनभर जारी रहा. अनशनकारी छात्रों का हौसला बढ़ाने के लिए आज युवा संस्कृतिकर्मियों ने भी शिरकत किया. शहर के युवा गीतकार सिद्धार्थ वल्लभ ने किसी को उदास देखकर व ये किसका लहू है, संस्कृतिकर्मी खुशबू स्पृहा ने परछाईयाँ व रद्दे अमल, रंगकर्मी,निर्देशक व पत्रकार ओ पी पांडेय ने तुमने कितने सपने देखे व रात के राही थक मत जाना और साहित्यकार रवि प्रकाश सूरज ने मौत कभी भी मिल सकती है गाकर साहिर की जन्मशती पर उन्हें याद किया. काव्यपाठ के बाद सभी ने विवि की जमीन पर सरकार के लिए गलत फैसले के प्रति कड़ा रोष प्रगट किया. इससे पहले आज दिन में नगर की महापौर रूबी तिवारी, नगर के माले नेता कयामुद्दीन, राजद नेता रघुबर चंद्रवंशी ने धरनास्थल पर आकर अनशनकारी छात्रों का हौसला बढ़ाया. धरने पर बैठने वाले शिक्षकों में अमरेंद्र नारायण भारत और प्रो विजय सिंह प्रमुख थे. अनशन पर आज साथ देने वालों छात्रों में पूर्व छात्र नेता प्रकाश सिंह, अमित सिंह गौतम,पवन सत्यार्थी, रवि प्रकाश,मनमीत ओझा,चंदन ओझा,रविश बाबू, अमरजीत बिहारी,नारायण जी,दुर्गेश कुमार,मंगलमय जी,आशुतोष ओझा, प्रिया कुमारी,सोनाली कुमारी प्रमुख रहे.

Read more

‘सरकार’ को होश में आने की छात्रों ने भरी हुंकार,कई जगह प्रदर्शन

विवि गंवाकर मेडिकल कॉलेज छात्रों को नामंजुर, कई जगह प्रदर्शन अनशनकारी छात्र का स्वास्थ्य गिरा, प्रशासन मौनआमरण अनशन के तीसरे दिन भी शासन-प्रशासन की चुप्पी आरा,6 मार्च(ओ पी पांडेय/रवि प्रकाश सूरज). वीर कुँवर सिह विश्वविद्यालय के नूतन परिसर की भूमि मेडिकल कॉलेज को दिए जाने के विरोध में लीडरशिप फ़ॉर एजुकेशन एंड डेमोक्रेसी (लीड) के सदस्य छात्र अनिरुद्ध सिंह का स्वास्थ्य शुक्रवार को आमरण अनशन के तीसरे दिन से गिरना शुरु हो गया. विवि के चिकित्सक ने स्वास्थ्य जाँच के बाद बताया कि उनका रक्तचाप अत्यंत निम्न स्तर पर चला गया है और तीन किलो वजन में गिरावट दर्ज हुई है. मगर शासन-प्रशासन की चुप्पी ने जनपद की जनता को आंदोलित करके रख दिया है. दूसरी तरफ तीसरे दिन भी अनशन स्थल पर छात्रों-शिक्षकों और समाजसेवियों का तांता लगा रहा. आज अनशनस्थल पर साथ देने वालों में बी एड कॉलेज के छात्र आगे रहे. भोजपुरी विभागाध्यक्ष प्रो दिवाकर पांडेय ने विवि की समस्या के प्रति सरकार की उदासीनता पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि जिले के एक नौजवान का इस तरह आमरण अनशन पर बैठना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है और शाहाबाद के छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा चाहिए. बिहार कांग्रेस के प्रतिनिधि डॉ एस पी राय और आरएसएस के विक्की सिंह ने भी सरकार द्वारा विवि की भूमि को जबरिया खंड-खंड करने को तानाशाही रवैया बताया. गणित विभाग के प्रो विजय सिंह और हिंदी विभाग के व्याख्याता प्रो निलाम्बुज सिंह ने कहा कि लगता है सरकार शिक्षा के प्रति गम्भीर नहीं है, ना ही वो ढंग का विश्वस्तरीय मेडिकल कॉलेज बनाना

Read more

छात्रों की भूख हड़ताल तीसरे दिन भी जारी

दूसरे दिन विवि परिसर हुआ आन्दोलनमयछात्र-शिक्षक आये एक मंच पर आरा,5 मार्च(ओ पी पाण्डेय व रवि प्रकाश सूरज). लीड छात्र संगठन के सदस्य अनिरुद्ध सिंह आमरण अनशन का आज तीसरे दिन भी जारी रहा. ज्ञात हो कि 3 मार्च से ही विवि के स्तीत्व को बचाने और विवि की जमीन से अन्यत्र जगह वृहद और अत्याधुनिक मेडिकल कॉलेज के निर्माण की माँग को लेकर विवि परिसर में अनशन चल रहा है. बीते शाम अनशनस्थल पर सीसीडीसी और इतिहास विभागाध्यक्ष प्रो हीरा प्रसाद और प्रॉक्टर शिवपरसन सिंह आये और अनशनकारी छात्रों का मनोबल बढ़ाने के साथ ही मुद्दे से जुड़ी बातों की जानकारी दी. अनशन के दूसरे दिन सुबह यानि गुरुवार को विवि के चिकित्सक ने अनिरुद्ध सिंह के स्वास्थ्य की जांच की. उनका स्वास्थ्य अभी सामान्य बना हुआ है. दिन में मनोविज्ञान विभाग की विभागाध्यक्ष मंजू सिंह, व्याख्याता प्रतिभा सिंह, भकुस्टा के कार्यकारी अध्यक्ष प्रो वज्रांग प्रताप केसरी, भोजपुरी विभागाध्यक्ष प्रो दिवाकर पांडेय, हिंदी विभाग के व्याख्याता निलाम्बुज सिंह, नवनीत कुमार राय, जैन कॉलेज के हिंदी के पूर्व हेड डॉ बलिराज ठाकुर, दर्शनशास्त्र के पूर्व अध्यक्ष महेश सिंह और लोक प्रशासन विभाग के प्राध्यापक प्रो उमेश कुमार ने छात्रों और शिक्षकों को सम्बोधित किया. सभी ने एक सुर से विवि की जमीन को बिना सहमति के मेडिकल कॉलेज के नाम दाखिल-खारिज करने के कृत्य की घोर निंदा की और कहा कि इस फैसले से भोजपुर जिले के तीनों संस्थान विवि, मेडिकल कॉलेज और मानसिक आरोग्यशाला केवल दिखावे की वस्तु बनकर रह जायेगी. दूसरे दिन अनशन में विवि के 80 छात्रों

Read more

विवि को बचाने के लिए जान देने पर उतरे छात्र

विवि के स्तीत्व पर ग्रहण के विरोध में आमरण अनशनमेडिकल कॉलेज का विरोध नहीं, पर विवि की कीमत पर नहींछात्रों के आमरण अनशन को मिला शिक्षकों का साथ आरा, 3 मार्च(ओ पी पांडेय/रवि प्रकाश सूरज). VKSU को बचाने के लिए भुख हड़ताल कर जान देने पर वीर कुंवर सिंह विवि के छात्र आज से उतर गए हैं. उन्होंने आज से आमरण अनशन के लिए विवि के पुराने कैम्पस में डेरा डाल दिया है. अनशन से पूर्व छात्रों ने वीर कुँवर सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर शपथ लिया कि वे वीर बाँकुड़ा का अपमान कत्तई बर्दाश्त नहीं करेंगे और लंबे जनांदोलन के बाद बने इस विवि के स्तीत्व को बचाने के लिए अंतिम लड़ाई लड़ेंगे. छात्रों ने कहा कि वे मेडिकल कॉलेज खोले जाने के नाम पर खानापुर्ति का भी विरोध करेंगे. हाल ही में राज्य सरकार द्वारा वीर कुँवर सिंह विश्वविद्यालय के नूतन परिसर की जमीन को प्रस्तावित मेडिकल कॉलेज को आवंटित किए जाने और बदले में राजकीय मानसिक आरोग्यशाला, कोइलवर की जमीन को विवि को दिए जाने का विरोध अब तेज होता जा रहा है. लीड’ छात्र संगठन के सदस्य अब छात्र नेता अनिरुद्ध सिंह के नेतृत्व में विवि परिसर में वीर कुँवर सिंह की प्रतिमा के समक्ष आमरण अनशन पर बैठ गए हैं. छात्रों के इस आन्दोलन को विवि के शिक्षक भी खुलकर साथ है. बता दें कि इसी मुद्दे पर पिछले हफ्ते शिक्षक भी धरने पर थे. अनशनकारी छात्रों का कहना है कि वे मेडिकल कॉलेज का विरोध नहीं कर रहे, पर सरकार के इस एकतरफा

Read more