बिहार में क्यों 50 फीसदी से भी कम है सीडी रेशियो!

राज्य स्तरीय बैंकिंग समिति की बैठक में सीएम नीतीश कुमार ने बैंकों को जमकर फटकार लगाई है. सीएम ने साफ कहा कि आप बिहार के लोगों से पैसे जमा कराते हैं और उसी पैसे को साउथ और वेस्ट के राज्यों में जाकर बड़े-बड़े लोगों को लोन दे देते हैं. लेकिन बिहार के लोगों को लोन देने में आनाकानी करते हैं. बैंकों से लोन लेकर कई लोगों ने हजारों करोड़ का चूना लगा दिया लेकिन बिहार के लोग लाख-दो लाख का लोन मांगते हैं तो आप बहाने बनाते हैं. बिहार में क्रेडिट-डिपोजिट रेशियो 50% से भी कम रहने पर सीेएम ने नाराजगी जताई और कहा कि बिहार के लोग बैंकों पर इतना भरोसा करते हैं कि अपनी सारी जमा पूंजी बैंकों में ही जमा करते हैं, फिर आप लोन देने में क्यों उन्हें परेशान करते हैं. सरकारी योजनाओं का लाभ भी लाभुकों के खाते में समय पर नहीं पहुंचने की शिकायत भी मिल रही है जिसे बैंकों को गंभीरता से देखना चाहिए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को पटना में राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति द्वारा आयोजित 64वीं त्रैमासिक समीक्षा बैठक में बोल रहे थे. इस मौके पर एसबीआई के महाप्रबंधक ने बैंकों से संबंधित समस्या बताई, राज्य सरकार की तरफ से वित्त मंत्री एवं विभाग के प्रधान सचिव ने बैंकों से संबंधित पक्ष रखा. वहीं रिजर्व बैंक के महाप्रबंधक ने आंकड़े के मिलान में गड़बड़ी के बारे में जिक्र किया और भी बैंकों से जुड़ी समस्याओं को विस्तार से रखा. मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के समय में बैंकों की सेवा महत्वपूर्ण होती जा रही

Read more