बिहारी लॉकडाउन की खास बातों पर एक नजर

बिहार में संक्रमण की बेलगाम रफ्तार ने आखिरकार सरकार को टोटल लॉकडाउन करने पर मजबूर कर दिया है. बिहार में मंगलवार को 1432 नए केस सामने आए हैं. इनमें से बड़ी संख्या में सरकारी अधिकारी, कर्मचारी और कई राजनीतिक पार्टियों के नेता भी शामिल हैं. पटना में 162 नए केस आए हैं जबकि 100 से ज्यादा मामलों को लेकर कई जिलों में हड़कंप मचा हुआ है. इन सबके बीच बिहार सरकार ने आज 16 जुलाई से 31 जुलाई तक टोटल लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. इस दौरान इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर बाकी सब कुछ बंद रहेगा. हालांकि इस बिहारी लॉकडाउन में कुछ अहम बदलाव भी हुए हैं जो पिछले अनुभव के आधार पर किया गया है. अहम बातें– निर्माण क्षेत्र को छूट,मालवाहक वाहनों को लॉकडाउन में पूरी छूट , ई कॉमर्स, ,कोल्ड स्टोरेज, वेयरहाउस भी खुले रहेंगे. फ्लाइट और ट्रेनों पर रोक नहीं, प्राइवेट व्हीकल्स पर भी जरूरी वजह के लिए पूरे राज्य में कोई रोक नहीं रहेगी.बसों का परिचालन रहेगा बंदऑटो टैक्सी चलते रहेंगेलॉकडाउन में सरकारी कर्मी, मेडिकल कर्मी और अन्य इमरजेंसी सेवा से जुड़े हुए लोग आई कार्ड के माध्यम से आवागमन करेंगे. होटल और रेस्टोरेंट खुले रहेंगे लेकिन सिर्फ होम डिलीवरी होगी. फल, दवा, सब्जी और राशन की दुकानें खुलेंंगी. दवा की दुकानों पर कोई रोक नहीं है. लेकिन बाकी दुकानों के लिए समय तय होगा. सिर्फ सुबह और शाम में राशन और दूध की दुकान खोलने की अनुमति होगी. Lockdown 16-31 जुलाई1.आवश्यक केंद्र सरकार के अधीन सभी दफ्तर लॉकडाउन के दौरान पूरी तरह बंद रहेंगे.2. डिफेंस,

Read more

पटना समेत इन जिलों में लगा लॉकडाउन

बिहार में जिस तेजी से कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ रहा है. उसने सरकार को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है. सरकार ने बिहार के सभी जिलों के डीएम को यह अधिकार दिया है कि वे परिस्थिति के मुताबिक अपने जिले में लॉकडाउन लगा सकते हैं. पटना में डीएम कुमार रवि ने 10 जुलाई से 16 जुलाई तक लॉकडाउन की घोषणा की है. हालांकि इस दौरान ना सिर्फ इमरजेंसी सेवाओं को बल्कि परिवहन को भी मुक्त रखा गया है. पटना के अलावा कई अन्य जिलों में भी लॉकडाउन की घोषणा की गई है. भोजपुर में 11 से 15 जुलाई तक; कैमूर में 10 से 17 जुलाई तक, भागलपुर में 9 से 15 जुलाई तक, मुंगेर और पूर्णिया 10 से 16 जुलाई, बक्सर और नवादा 10 से 12 जुलाई, मोतिहारी और खगड़िया 10 से 14 जुलाई तक लॉकडाउन रहेगा.

Read more

सरकार का आदेश जारी, देखिए कौन-कौन सी दुकान है खुलने वाली

लॉक डाउन के बीच बिहार सरकार ने 6 मई को बड़ा आदेश जारी किया है. गृह विभाग ने सभी डीएम और एसपी को पत्र लिखकर जानकारी दी है कि अब बाजार खुलेंगे. विशेष रूप से हर तरह के निर्माण कार्य, मरम्मत और रिपेयरिंग वर्क आदि दुकानों को खोलने की अनुमति दे दी गई है. बिहार सरकार ने इलेक्ट्रिक गुड्स, पंखा, कूलर, एयर कंडीशनर दुकान खोलने एवं मरम्मत करने वाली दुकान शुरू करने के आदेश दिए हैं. इसके अलावा मोबाइल दुकान, कंप्यूटर दुकान, लैपटॉप, यूपीएस और बैटरी विक्रय और मरम्मत दुकान चालू होगी. निर्माण सामग्री के भंडारण एवं बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान जैसे सीमेंट,स्टील,बालू-गिट्टी, सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंटिंग सामान खोलने की इजाजत भी दी गई है. इनके अलावा ऑटोमोबाइल्स, टायर, ट्यूब, मोटर वाहन, मोटरसाइकिल, स्कूटर मरम्मत गैरेज सहित ऑटोमोबाइल स्पेयर पार्ट्स की दुकान प्रत्येक एक दिन के अंतराल पर खोली जा सकती हैं. गैराज एवं वर्कशॉप प्रतिदिन खोले जाएंगे. हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट की दुकान प्रमंडलीय मुख्यालय स्तर पर दो तथा जिला स्तर पर एक दुकान खोली जा सकती है. इसके अलावा प्रदूषण जांच केंद्र खोलने का भी आदेश दिया गया है. हालांकि इन सभी के लिए परिस्थितियां देखकर निर्णय लेने का अधिकार जिलाधिकारी के पास होगा. राजेश तिवारी

Read more

लॉकडाउन 3.0 में क्या है छूट का दायरा

केंद्र सरकार ने आखिरकार एक बार फिर लॉक डाउन बढ़ा दिया है. तीसरा लॉकडाउन 4 मई से शुरू होगा और 17 मई तक चलेगा. तीसरे लॉक डाउन में केंद्र सरकार ने देश भर में रेड जोन औरेंज जोन और ग्रीन जोन किए हैं. बिहार के 38 जिलों में से भी रेड जोन, ऑरेंज और ग्रीन जोन में विभिन्न जिलों का रखा गया है. जोन के आधार पर ही तीसरे लॉक डाउन में लोगों को विभिन्न तरह की छूट मिलेगी. हालांकि देशभर के स्कूल-कॉलेज और कोचिंग संस्थान 17 मई तक पूरी तरह बंद रहेंगे. इसके साथ ही रेल सर्विसेज और हवाई सेवाएं भी पूरी तरह बंद रहेंगी. विशेष प्रावधान के तहत राज्यों के अनुरोध पर रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाएगा, जिसके जरिए अन्य राज्यों में फंसे मजदूर, छात्र, पर्यटक और अन्य लोगों को अपने राज्यों में पहुंचाया जाएगा. यह सिलसिला मजदूर दिवस के दिन 1 मई से शुरू हो चुका है. बिहार के 5 जिलों को कोविड-19 के तहत रेड जोन में रखा गया है. ये जिले हैं- पटना, मुंगेर, रोहतास, बक्सर और गया. रेड जोन के कंटेनमेंट एरिया में हर मोबाइल में आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप रखना अनिवार्य कर दिया गया है. रेड जोन के सभी निजी और सरकारी दफ्तर 4 मई से खुल जाएंगे. इन सभी दफ्तरों में सिर्फ 33 फ़ीसदी स्टाफ ही काम कर सकेंगे. मॉल, सिनेमा, जिम, मंदिर-मस्जिद, धार्मिक स्थल, सैलून,स्पा, रेस्टोरेंट और होटल नहीं खुलेंगे. रेड जोन में रिक्शा साइकिल रिक्शा ऑटो या कोई और सवारी गाड़ी नहीं चलेगी अंतर जिला बस भी नहीं चलेगी. रेड

Read more