स्कूल का वह प्रयास जो अनूठा बन गया !

‘विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस’ पर बच्चों के संग उनके माता-पिता ने लगाये पौधे

बी एस डी ए वी स्कूल में पौधारोपण-सह-मेधा सम्मान कार्यक्रम




कभी-कभी कुछ प्रयास ऐसे अनूठे बन जाते हैं जिसे हर कोई अपनाना चाहता है या उसका हिस्सा बनना चाहता है क्योंकि वो कभी भुलाया नही जाता. कुछ ऐसा ही पर्यावरण के लिए एक स्कूल द्वारा किया गया प्रयास उसे अनूठा बना दिया.

शनिवार को बी एस डी ए वी स्कूल, आरा में ‘विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस’ के अवसर पर छात्रों एवं उनके परिजनों द्वारा पौधारोपण हुआ. विद्यालय के ‘पूर्व मध्यावधि परीक्षा’ में सर्वोत्तम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों का मेधा सम्मान करते हुए उनके और उनके परिजनों द्वारा पौधारोपण करवाया गया. प्राचार्या मंजुला गुप्ता ने सभी छात्रों के उज्ज्वल भविष्य की कामना व्यक्त की. उन्होंने कहा कि विश्व में प्रकृति संरक्षण को लेकर चिंताएं बढ़ी हैं और सभी इसको लेकर सचेत हो रहे हैं. मानव जीवन की संरक्षक प्रकृति को संरक्षित करने के लिए बच्चे आगे आ रहे हैं यह ख़ुशी की बात है और हम सबको भी इस दिशा में संकल्प लेना चाहिए.

जिन छात्रों और उनके परिजनों द्वारा पौधारोपण किया गया उनमें प्रमुख हैं – परा ओजस्विनी (यू के जी बी) माता चंचला अग्रवाल, शिवम् पाण्डेय (यू के जी बी), सुकृति कुमारी माता सरिता देवी, शिवम् कुमार (यू के जी बी) माता इंदु देवी, सुधांशु कुमार (यू के जी बी) माता  सलोनी कुमारी तथा ख़ुशी सिंह (चतुर्थ सी) माता नीतू सिंह. पौधारोपण-सह-मेधा सम्मान कार्यक्रम में विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षक-शिक्षिकाओं में  रंजना चौबे, सांत्वना बनर्जी,  शशि सिंह, स्वाति कृति,  प्रभा सिन्हा, रूपं त्रिपाठी,  राजेश कुमार पाण्डेय, सुशील कुमार,  परशुराम साहू,  एन सिन्हा, अभिमन्यु सिंह आदि उपस्थित थे.

आरा से सत्य प्रकाश सिंह की रिपोर्ट