‘प्रकाशोत्सव का पूरा श्रेय ले रहे नीतीश’

श्री गुरू गोविन्द सिंह जी महाराज के 350वें प्रकाशोत्सव के अवसर पर पूरे राज्य की जनता एवं विभिन्न पार्टियों की कार्यकर्ता, स्वयंसेवी संस्थाएँ अपना योगदान देने में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं ताकि पूरे विश्व में इस महोत्सव को यादगार बनाया जा सके परन्तु राज्य सरकार के मुखिया इस प्रकाशोत्सव की तैयारी का श्रेय केवल अपने ऊपर लेने के लिए प्रयत्नशील है. बिहार विधान सभा में विरोधी दल के मुख्य सचेतक अरूण कुमार सिन्हा ने कहा कि शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर लगे होर्डिंग में केवल नीतीश कुमार को ही दिखलाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि प्रकाश पर्व को वन मैन शो बनाकर ओछी राजनीति की जा रही है. यहां तक कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों तक को नहीं पूछा गया है जो राज्य के मुखिया की संकीर्ण मानसिकता को दर्शाता है.




अरुण सिन्हा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भी इस प्रकाशोत्सव की तैयारी के लिए विशेष व्यवस्था सहित 100 करोड़ रुपये की राशि दी गई है और  केन्द्र के कई मंत्रियों द्वारा भी अपने विभागों के द्वारा यहां प्रकाशोत्सव में कई सुविधाएँ दी जा रही हैं. राज्य के भाजपा नेताओं एवं कार्यकत्ताओं ने भी निःस्वार्थ भाव से सभी श्रद्धालुओं को सेवा देने के लिए कमर कस ली है परन्तु किसी भी चौक-चौराहों के बैनर होर्डिंग में प्रधानमंत्री या किसी केन्द्रीय मंत्री को जगह नहीं दी गई है.