’30 दिसंबर के बाद बर्बादी के लिए तैयार रहें बेईमान’

मुंबई में एक बार फिर ‘बेईमानों’ पर बरसे पीएम मोदी

‘ईमानदारों की परेशानी घटेगी, बेईमानों की बढ़ेगी’




प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को चेताया है कि 30 दिसंबर के बाद बेइमानों को बर्बादी का सामना करना पड़ेगा. मोदी ने कहा, ‘बेईमान लोगों, आपको सवा सौ करोड़ लोगों के मिजाज को कमतर करके नहीं आंका जाना चाहिए. आपको भयभीत होने की जरूरत है. बेईमान लोगों की बर्बादी का समय आ गया है. यह स्वच्छता अभियान है’. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आठ नवंबर से 50 दिनों के बाद ईमानदार लोगों की परेशानियां कम होना शुरू होंगी और बेईमान लोगों की समस्याएं बढ़ने लगेंगी’.

मुंबई में कई परियोजनाओं का शिलान्यास करने के बाद बांद्रा कुर्ला परिसर में MMRDA मैदान में लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ‘हमने 8 नवंबर को कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़ा निर्णय लिया था और 125 करोड़ भारतीयों ने पीड़ा को सहा, लेकिन मेरा समर्थन करना नहीं छोड़ा. मैं देश के लोगों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि जब तक हम जीत नहीं जाते तब तक यह लड़ाई खत्म नहीं होगी’.

नोटबंदी का विरोध करने वाले दलों पर प्रहार करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, ‘यह सामान्य लड़ाई नहीं है. जिन लोगों ने मलाई खाई है, वे इसे विफल बनाने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ी’. पीएम मोदी ने कहा, ‘भ्रष्ट लोगों ने नोटबंदी को विफल बनाने के लिए सभी तरह के प्रयास किए. उन्होंने यहां तक कि बैंक के अधिकारियों से मिलीभगत करके कालेधन को सफेद बनाने की सोची और इस कार्य में काफी लोग पकड़े गए’.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैंने कहा था कि 50 दिनों तक (नोटबंदी की घोषणा के बाद) परेशानी रहेगी’. उन्होंने कहा कि लोग देशहित में इस पीड़ा को सहने को तैयार हैं. लोग आगे भी ऐसा करने को तैयार हैं. मोदी ने आरोप लगाया कि पूर्व की सरकारों के दौरान पिछले 70 वर्षों में जिन लोगों ने भ्रष्टाचार से फायदा उठाया, वे लोग यह सुनिश्चित करने के लिए पूरा जोर लगा रहे है कि नोटबंदी को विफल बनाया जाए. जो लोग 70 वर्षों तक भ्रष्ट कार्यो में लिप्त रहे, उन्हें ऐसे कार्यों के लिए कीमत चुकानी पड़ेगी. उन्होंने कहा, ‘समय बदल गया है और 30 वर्षों के अंतराल के बाद पूर्ण बहुमत की सरकार सत्ता में आई है. इसे नहीं भूला जाना चाहिए’. मोदी ने कहा कि देश बदलेगा, आगे बढ़ेगा और दुनिया में सिर ऊंचा करके आगे बढ़ेगा’.