सरकारी अस्पतालों के बाद खाद्य गोदामों की भी खुली पोल

रोज खुल रही किसी ना किसी की पोल

जिले के 23 SFC गोदामों का औचक निरीक्षण




डीएम के निरीक्षण से कई महकमों में मचा हड़कंप

जल्द ही PDS दुकानों का भी होगा निरीक्षण

मंगलवार को सरकारी अस्पतालों की बारी थी तो बुधवार को सूबे के खाद्य गोदामों की. बुधवार को पटना जिले के 23 SFC गोदामों का औचक निरीक्षण हुआ तो कई गड़बड़ियां पकड़ी गई. पटना डीएम संजय अग्रवाल आज सुबह अचानक सचिवालय के पास स्थित बिहार राज्य खाद्य निगम (BSFC) के गोदाम पहुंच गए. यहां कई अनियमितताएं देखने को मिली. SFC के गोदाम से संबंधित कोई भी बोर्ड या सूचना पट्ट कहीं नजर नहीं आया. इसके अलावा गोदामों में लगे CCTV कैमरे भी गायब पाए गए.

 

 

दुल्हिन बाजार में बंद पाया गया गोदाम

DM ने R ब्लॉक गोदाम की खराब हालत को देखते हुए इसकी मरम्मत करने आदेश दिया है. गोदाम का तीन चौथाई हिस्सा अवैध कब्जे में पाया गया जिस पर DM ने नाराजगी जताते हुए उसे अतिक्रमण मुक्त कराने का निर्देश दिया है. इसके साथ ही पटना के 23 गोदामों की जांच अपर जिला दंडाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी स्तर के पदाधिकारियों द्वारा की गई जिसमें गोदामों के स्टॉक एवं स्टॉक पंजी का सत्यापन किया गया.

क्या कहा डीएम ने –

DM संजय अग्रवाल ने कड़ी चेतावनी दी है कि गड़बड़ी पाए जाने पर, पीडीएस में काला बाजारी या उसके प्रयास करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी. डीएम ने कहा कि स्टॉक मे कमी अथवा अन्य कमियाँ पाए जाने की स्थिति में गोदाम प्रबंधक, जिला प्रबंधक,राज्य खाद्य निगम तथा सम्बंधित आपूर्ति निरीक्षक एवं पणन पदाधिकारी पर जिम्मेवारी निर्धारित कर की कार्रवाई जायेगी .

पटना के बाढ़ में SFC गोदाम का निरीक्षण करते अधिकारी

बुधवार को SFC के गोदामों के निरीक्षण के बाद स्टॉक वेरिफिकेशन का काम चल रहा है. डीएम ने कहा कि इसकी रिपोर्ट में किसी के खिलाफ कमियां पाए जाने पर कार्रवाई होगी.