जनवरी-फरवरी में हो सकता है तीसरी लहर का खतरा

देश में ओमिक्रॉन के कुल नए मामलों की संख्या 23

ओमिक्रॉन की वजह से भारत में फरवरी तक चरम पर होगी तीसरी लहर




रोजाना 1-1.5 लाख तक आ सकते हैं नए मामले

डोंबिवली में विदेश से आए करीब 109 लोग लापता

हल्के लॉकडाउन के रूप में रात का कर्फ्यू, भीड़ पर प्रतिबंध हो

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के मामले तेजी से भारत में बढ़ते दिखाई दे रहे हैं. महाराष्ट्र की मुंबई में इस वेरिएंट के दो नए मामले सामने आने के बाद देश में ओमिक्रॉन के कुल नए मामलों की संख्या 23 तक पहुंच गई है. वहीं, महाराष्ट्र के कल्याण स्थित डोंबिवली में विदेश से आए करीब 109 लोग लापता हो गए हैं. इस बीच, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) के वैज्ञानिक मनिंद अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि सार्स-कोवी-2 के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से भारत में फरवरी तक महामारी की तीसरी लहर चरम पर होगी और इस दौरान रोजाना करीब 1-1.5 लाख तक नए मामले सामने आ सकते हैं.

वैज्ञानिक मनिंद अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि सार्स-कोवी-2 के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से भारत में फरवरी तक महामारी की तीसरी लहर चरम पर होगी और इस दौरान रोजाना करीब 1-1.5 लाख तक नए मामले सामने आ सकते हैं. कोरोना के गणितीय अनुमान के आधार पर आईआईटी के वैज्ञानिक मनिंद अग्रवाल ने चेतावनी दी है कि नए अनुमान में ओमिक्रॉन के वेरिएंट को डेल्टा से 30 गुणा ज्यादा तेज है.. प्रोफेसर अग्रवाल ने कहा ये वैरिएंट नेचुरल इम्युनिटी को ज्यादा बाईपास नहीं कर रहा है। बताते हुए कहा कि नेचुरल इम्युनिटी का मतलब जिन लोगों को एक बार कोरोना हो चुका है उनको घबराने की जरूरत नहीं है।

उधर, राजस्थान में कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से एक और मरीज की मौत हो गई, जबकि संक्रमण के 29 नए मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, बीकानेर में कोरोना से एक मरीज की मौत हुई. रिपोर्ट के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान राजस्थान में 29 और व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें सबसे ज्यादा जयपुर में 15 मामले, उदयपुर में तीन, अजमेर और जोधपुर में दो-दो पाए गए हैं. इन संक्रमितों को राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (आरयूएचएस) अस्पताल, जयपुर के कोविड सेंटर में भर्ती कराया गया है. संक्रमित पाए गए तीन और रोगियों के नमूने जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए एसएमएस मेडिकल कॉलेज भेजे गए हैं. इनमें एक युवती भी है जो सोमवार को जयपुर हवाई अड्डे पर जांच के दौरान संक्रमित मिली थी.

मध्यप्रदेश के इंदौर में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के नए मामले होने की आशंका के बीच 50 फीसदी बच्चों की संख्या के साथ खुलने वाले निजी स्कूलों को सील करने का आदेश दे दिया गया है. जिलाधिकारी मनीष सिंह ने कहा कि महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन के मामले मिल चुके हैं. मध्यप्रदेश के इन पड़ोसी सूबों से हर रोज हजारों लोग इंदौर आते हैं. ऐसे में इंदौर में भी कोरोना वायरस के इस नए वेरिएंट की मौजूदगी की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता.

कल्याण डोंबिवली नगरपालिका के प्रमुख विजय सूर्यवंशी ने कहा कि ठाणे जिले के इस महानगरपालिका क्षेत्र में हाल में विदेश से 295 लोग लौटे थे, जिनमें से फिलहाल 109 का पता नहीं चल सका है. सूर्यवंशी ने कहा कि इनमें से कुछ लोगों के मोबाइल फोन बंद आ रहे हैं, जबकि कई लोगों की ओर से दिए गए पते पर ताला लगा हुआ है.

देश के चार शहरों – बेंगलुरु, हैदराबाद, नई दिल्ली और पुणे में स्थित राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं का संघ निरंतर कोरोना वायरस की जीनोमिक निगरानी कर रहा है, जिसने वायरस के अधिक से अधिक नमूनों को अनुक्रमित करने के अपने प्रयासों को बढ़ा दिया है।

कंसोर्शियम में शामिल संस्थान

सेंटर फॉर सेलुलर एंड मॉलिक्यूलर बायोलॉजी (सीसीएमबी- Center for Cellular and Molecular Biology Hyderabad), हैदराबाद और नेशनल सेंटर फॉर बायोलॉजिकल साइंसेज (एनसीबीएस), बेंगलुरु (National Center for Biological Sciences (NCBS), Bangalore) के अलावा, कंसोर्शियम में सीएसआईआर-इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स ऐंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (आईजीआईबी), नई दिल्ली; पुणे नॉलेज क्लस्टर, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन ऐंड रिसर्च (आईआईएसईआर), पुणे; और सीएसआईआर-नेशनल केमिकल लेबोरेटरी (एनसीएल), पुणे शामिल हैं।

भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्शियम (INSACOG) के नेतृत्व में किए जा रहे कोरोना वायरस की निगरानी से जुड़े राष्ट्रीय प्रयासों का हिस्सा है। उम्मीद की जा रही है कि इस तरह के प्रयास वायरस के चिंताजनक रूपों के प्रसार को रोकने से संबंधित त्वरित प्रतिक्रिया में सहायता करेंगे। बेंगलुरु, हैदराबाद, नई दिल्ली और पुणे में जीनोमिक निगरानी करने वाली राष्ट्रीय प्रयोगशालाओं के कंसोर्शियम का हिस्सा है, द्वारा हाल में बेंगलुरु में ओमिक्रॉन के पहले दो मामलों की पुष्टि की गई थी।

PNCDESK