मंदिर से भगवान का पैसा ही ले उड़े चोर, 1 किमी दूर दानपेटी को खाली कर फेंका

मंदिर के फाटक का ताला तोड़ दानपेटी का गायब होना
कहीं सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश तो नही ?

आरा. मंदिर की दानपेटी का ताला तो़ड हजारोे की चोरी कर ली गई. न तो पुजारी को इसकी भनक लगी और न हीं स्थानीय लोगों को. पुलिस अब अज्ञात चोरों की शिनाख्त में जुटी है. पुलिस के हाथ अब तक ताला टुटी दानपेटी और कुछ चिल्लर हीं लग सका है.




यह घटना है बिहार के भोजपुर जिला मुख्यालय आरा स्थित शिवगंज दुर्गा मंदिर का. शहर के बीचों-बीच स्थित इस मंदिर में हर रोज सैकड़ों की संख्या में भक्त जुटते हैे. देवी का आशीर्वाद लेते हैे. दान पेटी में चढ़ावा चढ़ाते हैें और चले जाते हैे. चढ़ावे की रकम हजार-लाख में होती है. पेटी की सुरक्षा के लिए दो ताले लगे होते हैे. बीती रात दोनो ताले टुटे मिले और दान पेटी गायब मिली. किसी को भनक तक नहीं लगी. चोर दानपेटी को लगभग एक किलोमीटर दूर तक लेते गये. रकम निकालने के बाद दानपेटी को लावारिस हालत में छोड़ फरार हो गये. अचंभे की बात यह है कि शिवगंज में मंदिर के पास एक पुलिस पिकेट भी है और यहाँ गस्ती पुलिस की जीप हमेशा रहती है. पास में आईडीबीआई बैंक और अन्य जगह लगे कैमरों के फूटेज का सहारा लिया जा रहा है. पुलिस CCTV का फुटेज खंगाल रही है.

मंदिर के पुजारी को अहले सुबह इसकी सूचना तब मिली जब वो नित्य पूजा-पाठ के लिए मंदिर में पहुंचे.

इसके बाद मंदिर कमिटि और फिर पुलिस को सूचना मिली. पुलिस ने हालांकि राहगीरों की सूचना पर दानपेटी भी बरामद कर ली है. मंदिर कमिटी के अध्यक्ष जितेन्द्र यादव ने लिखित तहरीर भी पुलिस को थमा दी है.

उन्होंने दावा किया है कि चोरी गई रकम सत्तर अस्सी हजार के आस-पास हो सकती है. परन्तु इस मामले में अब तक कुछ ठोस नहीं हो सका है. स्थानीय लोगों को शक है कि यह उकसावे की कार्रवाई हो सकती है जिसे जान-बूझकर अंजाम दिय़ा गया है. चूंकि अयोध्या पर फैसला अभी आना बाकी है और उसके पहले सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने का यह प्रयत्न हो सकता है. लोगों ने पुलिस से जल्द से जल्द मामले का पटाक्षेप करने का आग्रह भी किया है. इस संबंध में पुलिस सभी बिंदूओं पर गहराई से छानबीन कर रही है. मंदिर समिति के सचिव अधिवक्ता रमण कुमार ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने उम्मीद जताई है कि जल्द हीं चोर गिरफ्तार कर लिए जाएंगे.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट