‘लग्न’ के आते ही…इन्हें नशे सी चढ़ गई…

नशे में ड्राइवर ने बस पलटा, आधा दर्जन बाराती घायल

आरा, 19 अप्रैल.भोजपुर में शराब और शराबियों पर रोक नही लग रही है. वैसे तो शराबबन्दी की धज्जियाँ जिले में हर रोज उड़ती है लेकिन लग्न का मौसम आते ही इसमें इजाफा हो जाता है. शादी-लग्न के मौसम में भारतीयों के साथ सबसे ज्यादा चांदी तो ड्राइवरों की हो जाती है जो पूरे लग्न के मौसम तक शराब में तर रहता है. अभी एक दिन पूर्व ही 1 दर्जन लोगों को रौंदने का मामला अभी शांत नही हुआ था कि बुधवार की रात आरा-बक्सर हाईवे पर गजराजगंज और नावानगर गांव के पास नशे में धुत चालक का संतुलन बिगड़ गया और बस खाई में लुढ़क गई. 24 घण्टे के अंदर नशे में टुल्ल ड्राइवर द्वारा यह दूसरी दुर्घटना है. उक्त घटना गजराजगंज ओपी थाना क्षेत्र के आरा-बक्सर NH- 84 पर घटी जहां बारातियों से भरी एक बस अनियंत्रित होकर खाई में लुढ़क गई और बस में सवार आधा दर्जन बाराती गंभीर रूप से घायल हो गए.




बस के दुर्घटनाग्रस्त होते ही कोहराम मच गया. कई बारातियों ने तो बचने के लिए बस से छलांग लगा दी. जिसमें रामनारायण राम का पुत्र कमलजीत राम, रामअसन का पुत्र मंटू राम एवं स्वर्गीय दिनेश्वर राम का पुत्र शिवनाथ राम गंभीर रूप से घायल हो गए. बस में सवार बाराती गजराजगंज ओपी के कारीसाथ गांव निवासी चन्द्रमा राम के पुत्र अक्षय कुमार की शादी में बक्सर के ब्रह्मपुर थाना के कांटे गांव जा रहे थे. घायलों में से तीन को इलाज के लिए सदर अस्पताल आरा में भर्ती कराया गया है एवं अन्य का इलाज निजी क्लिनिक में चल रहा है. घायलों के अनुसार चालक शराब के नशे में धुत था. पुलिस ने फिलहाल बस को जब्त कर लिया है. इधर सदर अस्पताल के प्रबंधक ने घायलों के इलाज की भरपूर व्ययवस्था की बात कही है और इस तरह के किसी भी दुर्घटना से लिये अस्पताल को सक्षम बताया है.

आरा से सत्य प्रकाश सिंह की रिपोर्ट