किसका था कॉल, जिसने दी मौत ?

रानीपुर गली में एक युवक को मारी गोली, अस्पताल में मौत

दिन दहाड़े हत्या से सनसनी




मौके पर पहुंची पुलिस छानबीन में जुट गयी है 

फुलवारी शरीफ, 16 मई. राजधानी में पुलिस के सारे दावे हवा हो जा रहे है. अपराधी कभी ग्रामीण तो कभी शहरी इलाक़े में गोलीबारी कर अपना वर्चस्व दिखा रहे है. पटना में गोलीबारी का सिलसिला रुक ही नही रहा है. फुलवारी शरीफ के रानीपुर गली इलाके में एक युवक को अपराधियों ने गोली मार कर घायल कर दिया, जिसका इलाज के दौरान पारस हॉस्पिटल में मौत हो गयी. गोली चलते ही इलाके में मची अफरा-तफरी का फायदा उठाकर अपराधी फरार होने में कामयाब हो गए. दिन दहाड़े भीड़- भाड़ वाले इलाके में हत्या की वारदात से सनसनी फैल गयी. जिसे गोली लगी है उसका नाम सूरज चौधरी बताया जा रहा है और गोली मारने वाले अपराधी भी स्थानीय बदमाश बताये जा रहे हैं. सूत्रों की माने तो यह घटना शराब बेचने के अवैध कारोबारियों के बीच आपसी विवाद का बताया जा रहा है. बहरहाल घटना का स्पष्ट कारण पुलिस की जांच के बाद ही हो पाएगी. गोलीबारी में गंभीर रूप से घायल युवक को पीएचसी से प्राथमिक उपचार के बाद पटना रेफर कर दिया गया. मौके पर पहुंची फुलवारी शरीफ थाने की पुलिस जाँच करने में जुटी है. घटना फुलवारी डीएसपी कार्यालय से नजदीक के इलाके में हुई है.

फुलवारी में गोलीबारी में घायल युवक सूरज की मौत  पारस हॉस्पिटल में इलाज के दौरान हो गयी. घटना के बाद सूरज के घर संगत पर लोगों की भीड़ जमा है. परिवार के लोगों ने बताया कि कॉल कर मिलने के लिए बुलाया और गोली मार दी. सुरज की मौत की खबर मिलते ही परिजनों ने चीत्कार मच गया. मृतक के पिता अरुण चौधरी राजमिस्त्री का काम करते हैं. सूरज की माँ सुषमा, दो बहने और तीन भाई बताये जा रहे हैं. सूरज की हत्त्या में पैसे का लेन देन की बात सामने आ रही है. हत्या करने वाला शेखर मृतक सूरज का दोस्त बताया जा रहा है.

 

फुलवारी से राजेश कुमार की रिपोर्ट