तेजस में चड्डी बनियान में घूम रहे जदयू विधायक गोपाल मण्डल

जदयू विधायक गोपाल मण्डल तेेेजस में

विधायक की प्रतिक्रिया हां मैं ही था फांसी पर चढ़ा दोगे क्या

पहले भी कह चुके हैं सारे पुलिस अधिकारी शराब पीते है और प्रशासनिक अधिकारी भ्रस्ट है




पटना: अब कोई चड्डी बनियान में भी नई ट्रेन तेजस राजधानी एक्सप्रेस में घूम सकता तो आप कहेंगे नहीं.. लेकिन ऐसा किया जदयू के विधायक गोपाल मंडल ने । वे आईआरसीटीसी की तेजस राजधानी एक्सप्रेस में चड्ढी-बनियान में घूमते दिखे । नीतीश कुमार के MLA ट्रेन के अन्य यात्री के विरोध पर गालियां देने लगे। यह मामला दिलदारनगर के पास का है।
विधायक गोपाल मंडल सिर्फ चड्ढी-बनियान पहनकर बाहर निकले । जिसके बाद ट्रेन में मौजूद दूसरे यात्री ने विरोध किया और उन्हें कपड़े पहनने के लिए कहा लेकिन जेडीयू विधायक नहीं माने और यात्री के साथ गाली-गलौज करने लगे।

बिहार की सत्तारूढ़ पार्टी जनता दल यूनाइटेड (JDU) के विधायक गोपाल मंडल का विवादों की एक लम्बी फेहरिस्त है । उन्होंने एक बार फिर एक बेहद शर्मनाक हरकत जिसके बाद वे एक बार फिर विवादों में आ गए हैं। राजेन्द्र नगर (पटना) से नई दिल्ली को जाने वाली 02309 तेजस राजधानी एक्सप्रेस में गोपाल मंडल यात्रा कर रहे थे। इस दौरान वे कपड़े उतारकर चड्ढी-बनियान में ट्रेन में घूमते दिखे। उनके केबिन में यात्रा कर रहे अन्य यात्री जो परिवार के साथ सफर कर रहे थे उसके विरोध करने पर गालियां देने लगे।

वहां मौजूद आरपीएफ की टीम ने मामले को शांत करने की कोशिश की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरपीएफ़ जवान ने बताया कि यह घटना दिलदारनगर स्टेशन को पास हुई।
गोपाल मंडल तेजस राजधानी एक्सप्रेस के A-1 कोच में सफर कर रहे थे। अपने परिवार के साथ जहानाबाद के एक यात्री नई दिल्ली जा रहे थे। तभी उन्होंने जेडीयू विधायक को कपड़े उतारकर चड्ढी-बनियान में घूमते देखा। गोपाल चड्ढी-बनियान में टॉयलेट गए थे। जिसके बाद प्रहलाद ने आपत्ति जताई और महिला यात्री साथ में होने का हवाला दिया। बस इतनी सी बात का बवाल मच गया अगर जेडीयू विधायक गाली नहीं देते तो शायद बात नहीं बढ़ती उन पर तो सत्ता का नशा चढ़ा था ।
आरपीएफ़ की टीम ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन की रेल पुलिस को सूचना दी। जब ट्रेन वहां पहुंची तो उत्तर प्रदेश की रेल पुलिस आई मामले की जांच की।हालांकि किसी प्रकार की कोई लिखित शिकायत नहीं होने के कारण रेल पुलिस ने दोनों को समझाया ।उसके बाद ट्रेन वहां से खुली। इसके पहले भी वो अपने गांव में कई लोगों के साथ जमीन के लिए लोगों के साथ उलझ चुके है।कुछ दिन पहले भी उन्होंने बयान दिया था कि बिहार के सभी पुलिस अधिकारी शराब पीते हैं और सारे अधिकारी भ्रस्ट हैं तब उनकी बयान से भी जदयू के नेताओं को शर्मिंदा होना पड़ा था ।