जैन समाज ने दिया शहर को सौगात, जिला मुख्यालय को मिला एक और धर्मशाला

दिगम्बर जैन धर्मशाला का हुआ भव्य उद्घाटन

आरा, 7 नवंबर. पुरातन काल में लोगों के ठहरने के लिए राजाओं और शासक द्वारा धर्मशालाओं और कुंए का निर्माण करवाया जाता था जो आधुनिक युग में खत्म हो चुका है. निर्माण तो दूर अब उसके रख रखाव के लिए भी कोई आगे नहीं आता है. ज्यादा से ज्यादा लाभ कमाने के लिए अब धर्मशालाओ की जगह होटलों ने अपना पैर पसार लिया है. लेकिन जैन समाज ही एकमात्र ऐसा समाज है जिसने हमेशा से पूरे समाज के लिए धर्मशाला दिए हैं. ये धर्मशाला धर्म के कार्यों से लेकर शादी विवाह जैसे कई पारंपरिक आयोजनों और बाहर से आए अगंतुको के लिए शरण देते आए हैं. भोजपुर जिला मुख्यालय आरा इस मामले में समृद्ध रहा है. पहले से ही यहां मैना सुंदर धर्मशाला, जैन धर्मशाला और हरखेन कुमार धर्मशाला जैसे तीन बड़े धर्मशाला हैं. आज बढ़ती आबादी के हिसाब से धर्मशाला तो नही बन रहे हैं लेकिन जैन समाज ने आपसी सहयोग से इस कड़ी में एक और अपना योगदान देते हुए आरा को एक और धर्मशाला उपलब्ध कराया है जो आधुनिक सुविधाओं से लैस आधुनिक खूबियों वाला धर्मशाला है.




रविवार को बड़ी मठिया, महावीर टोला स्थित श्री 1008 दिगम्बर जैन मुनिसुव्रतनाथ मंदिर प्रांगण में श्री दिगम्बर जैन मुनिसुव्रतनाथ धर्मशाला का शुभ उद्घाटन हुआ. सुबह में जैन धर्मावलंबियों के द्वारा श्री जिनेन्द्र प्रभु का भव्य पंचामृत अभिषेक, पूजन एवं शांतिधारा हुआ. ततपश्चात स्थानीय विद्वान पं गुलाब चन्द्र जैन शास्त्री के विशेष मंत्रोच्चार के बीच धर्मशाला का शुभ उद्धघाटन हुआ. धर्मशाला का उद्घाटन समाज के वरिष्ठ व्यक्तियों के द्वारा आयोजित था जिसमें सुराजसेन कुमार जैन, अचल किशोर जैन, शील जैन, इंद्राणी जैन, राजेश्वरी जैन ने रिबन काटकर उद्घाटन किया.

जैन समाज के अध्यक्ष अजित कुमार जैन ने बताया कि धर्मशाला का निर्माण दिगम्बर जैन पंचायती मंदिर के अंतर्गत, समस्त आरा जैन समाज के विशेष सहयोग से सम्पन्न हुआ है,जो आरा जैन समाज के लिए गौरवान्वित क्षण है.

मीडिया प्रभारी निलेश कुमार जैन ने बताया कि आरा शहर में यात्रियों के लिए विशेष सुविधा से सुसज्जित,जैन समुदाय के कई धर्मशाला उनमें आज श्री मुनिसुव्रतनाथ दिगम्बर जैन धर्मशाला शामिल हो गया. इस नवीन धर्मशाला में फिलहाल 6 बड़े अटैच रूम एवं एक बड़ा हॉल है जिसमें यात्रियों के ठहरने, सभा का आयोजन या सभी प्रकार के मांगलिक उत्सव किया जा सकेगा.

मंत्री सुवीर चन्द्र जैन ने बताया कि इस शुभ अवसर पर जैन समाज के 60 वर्ष से ऊपर वरिष्ठ व्यक्तियों को मोमेंटो देकर विशेष सम्मान किया गया है. कार्यक्रम के समापन पर सामुहिक वात्सल्य (भोजन) का आयोजन परेश चन्द्र जैन के परिवार द्वारा किया गया था. कार्यक्रम को सफल बनाने में विजय कुमार जैन उर्फ मंटू जी, रौशन चन्द्र जैन, सरत कुमार जैन, अरुण कुमार जैन, शैलेश कुमार जैन, बिभू जैन, डॉ आदिय विजय जैन, प्रकाश चन्द्र जैन, धीरेंद्र चन्द्र जैन, रेणु जैन, रिना जैन, सावित्री जैन, रश्मि जैन, गीता जैन, अशोक कुमार जैन, आदेश जैन, सलिल जैन, ओंकार अग्रवाल, निशांत जैन, अजय कुमार जैन के साथ सैकड़ो की संख्या में जनसमूह उपस्थित था.

आरा से ओ पी पाण्डेय की रिपोर्ट