शिव शिष्यता के जनक और शिव चर्चा के संस्थापक साहबश्री हरीन्द्रानंद जी का निधन

रांची में में ली अंतिम साँसे

तीन करोड़ से अधिक शिव सदस्यों ने में शोक की लहर




शिव शिष्य हरिंद्रानंद फाउंडेशन ने जताया शोक

शिव शिष्यता के जनक और शिव चर्चा के संस्थापक साहबश्री हरीन्द्रानंद

शिव शिष्यता के जनक और शिव चर्चा के संस्थापक साहबश्री हरीन्द्रानंद जी ने अपना शरीर त्याग दिया है. हरीद्रानंद जी के लाखों की संख्या में शिव गुरु शिष्य है. कल अस्पताल में उनके दर्शन को हजारों की भीड़ उमड़ पड़ी थी उनके ज्येष्ठ पुत्र अर्चित आंनद, ने बताया कि सांस में दिक्कत होने के कारण उन्हें रांची के अस्पातल में भर्ती कराया गया था जहाँ उन्होंने आज सुबह तीन बजे अंतिम सांस ली. साहब  का पार्थिव शरीर उनके निवास स्थल ए-17,सेक्टर-2,एचईसी, धुर्वा,(पुरानी विधानसभा के पीछे, गेट  नंबर -1) राँची में आज सुबह 11 बजे से संध्या 5 बजे तक लोगों के दर्शनार्थ रखा जायेगा, पुनः कल यानि पांच सितम्बर को सुबह 6 बजे से 11 अपराह्न तक लोगों के दर्शनार्थ रखा जायेगा.

शिव शिष्यता के जनक और शिव चर्चा के संस्थापक साहबश्री हरीन्द्रानंद
अस्पताल में उमड़ी शिव शिष्यों की भीड़

उन्होंने कहा कि साहबश्री की इच्छा हमेशा से रही थी कि शिव शिष्यों कि वजह से किसी को परेशानी नहीं हो, इसका स्मरण करें और आज साहब को सच्ची श्रद्धांजलि देनी है तो सभी गुरुभाई /बहनों से अनुरोध है कि सभी लोग अपने घर और पास के मंदिरों में आज 4 संध्या से बजे 6 संध्या तक हर भोला संकीर्तन करें साथ ही कल सुबह 10 बजे से 12 पूर्वांहन तक भी हर भोला संकीर्तन करें सभी लोग अपने घरों में.साहब के दाह संस्कार का सीधा प्रसारण भी इसी पेज के द्वारा किया जायेगा अतः सभी से अनुरोध है कि जो जहाँ है वहीं से हर भोला संकीर्तन के माध्यम से श्रद्धांजलि अर्पित करें.

PNCDESK