…तो क्या दहेजमुक्त हो जाएगा बिहार…!

दहेज विरोधी अभियान में जुटे जदयू कार्यकर्ता, बिन दहेज के कर रहे हैं शादी

आरा, 12 मई. वैसे तो दहेजमुक्त समाज के लिए भारत सरकार ने बहुत पहले से ही कानून बना रखा है लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री,विकास पुरुष नीतीश कुमार ने जब से सूबे में दहेज और बाल विवाह के खिलाफ अभियान छेड़ा है, बिहार प्रदेश के लोगों के साथ अब मुख्यमंत्री के इस सपने को साकार करने के लिए उनके पार्टी के कार्यकर्ता भी जी-जान से लग गए हैं. जी हाँ अबतक आपने मुख्यमंत्री की प्रेरणा से आमजनों को दहेजमुक्त शादी के बारे में ही सुना होगा. हाँ, इस मामले डिप्टी CM सुशील कुमार मोदी ने भी नीतीश के इस अभियान को जोर अपने बेटे की शादी दहेजमुक्त कर दिया था जिसकी चर्चा पूरे देशबमे हुई थी. लेकिन अब अपने प्रिय नेता के इस अभियान को गति की धार दे रहे हैं उनके पार्टी के कार्यकर्ता. जी हाँ, देर आये दुरुस्त आये की कहावत को चरितार्थ करते ये कार्यकर्ता अब दुरुस्त काम को अंजाम दे रहे हैं. अब कारण आप जो भी मानिए पर फ़िजां में बदलाव तो हो ही रहा है. ऐसा ही एक मामला भोजपुर जिले के जगदीशपुर प्रखंड का है. भोजपुर जिले के जगदीशपुर प्रखंड के हेतमपुर गांव निवासी अशोक कुमार चौबे (अधिवक्ता सिविल कोर्ट, आरा) के पुत्र विमलेश चौबे (शाखा प्रबंधक HDFC बैंक रांची) की शादी भोजपुर जिले के ही बड़हरा प्रखंड के रामशहर गांव निवासी कामेश्वर तिवारी की पुत्री सारिका तिवारी के साथ अगले साल यानी जनवरी 2019 में होना तय हुआ है.




चलिये आपको ये बता दें कि दूल्हा विमलेश चौबे का पूरा परिवार महाराजा हाता आरा में रहता है, वहीं दुल्हन सारिका तिवारी का परिवार धनबाद में रहता है. शुक्रवार को आरा के होटल ग्रांड में वर-वधु की सगाई बड़े ही सादगी के साथ संपन्न हुई, लेकिन खुशियों की धूमधाम जरूर दिखी. वर पक्ष विमलेश चौबे के भाई अखिलेश चौबे जदयू, जगदीशपुर प्रखंड भोजपुर के प्रखंड महासचिव हैं. दहेजमुक्त होने वाले इस शादी को लेकर जदयू,भोजपुर में खुशी की लहर है. जदयू के सभी कार्यकर्ताओं के साथ सभी जदयू नेता अखिलेश चौबे को बधाई दे रहे हैं. कार्यकर्ताओ में अब इसी तरह की शादी के लिए चर्चाएं चलने लगी है. दहेजमुक्त होने वाले इस तरह की शादियों ने अगर रफ्तार पकड़ लिया तो आने वाले दिनों में नीतीश कुमार के द्वारा लिया गया दहेजमुक्त समाज का संकल्प जरूर पूरा हो जाएगा.

दहेजमुक्त होने वाली शादी की इस सगाई के बाद बधाई देने वालों में सिविल कोर्ट आरा के लोक अभियोजक नागेश्वर दुबे,अधिवक्ता पंकज दुबे,अधिवक्ता व ब्राह्मण महासभा शाहाबाद के अध्यक्ष अंजनी तिवारी, युवा जद(यू.) बिहार प्रदेश के महासचिव नवीन कुमार, युवा जद(यू.) के नेता सुनील पाठक, अभय विश्वास भट्ट ,जनता दल (यू.), भोजपुर सेवा दल के जिलाध्यक्ष अंशु सिंह सिक्रीवाल, छात्र जदयू के पूर्व प्रदेश सचिव अभिषेक तिवारी बड़े, आदि शामिल थे.

आरा से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट