द्रौपदी मुर्मू की उम्मीदवारी पर बोले मुख्यमंत्री नीतीश

एनडीए ने ओडिशा की पूर्व मंत्री और झारखंड की पूर्व गवर्नर द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया है. द्रौपदी मुर्मू 24 जून को नामांकन करेंगी जिसमें बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद भी शामिल होंगे. वहीं विपक्ष से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवन्त सिन्हा 27 जून को नामांकन करेंगे.

इसबीच द्रौपदी मुर्मू की उम्मीदवारी पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रतिक्रिया दी है. क्या बोले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार –

श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया जाना खुशी की बात है। श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी एक आदिवासी महिला हैं। एक आदिवासी महिला को देश के सर्वोच्च पद के लिए उम्मीदवार बनाया जाना अत्यंत प्रसन्नता की बात है।
श्रीमती द्रौपदी मुर्मू उड़ीसा सरकार में मंत्री तथा इसके पश्चात् झारखण्ड की राज्यपाल भी रह चुकीं हैं। कल प्रधानमंत्री जी ने बात कर इसकी जानकारी दी थी कि श्रीमती द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री जी को भी इसके लिए हृदय से धन्यवाद।




द्रौपदी मुर्मू – एक परिचय

1997 में वह पार्षद बनीं और रायरंगपुर की वाइस-चेयरपर्सन न‍ियुक्‍त की गईं.
2000-2002 के बीच वह ओडिशा सरकार (भारतीय जनता पार्टी और बीजू जनता दल गठबंधन सरकार) में परिवहन और वाणिज्य विभाग की मंत्री रही हैं.
2002-2009 के बीच मुर्मू ने बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य के तौर पर एस.टी. मोर्चा की जिम्‍मेदारी संभाली.
2002-2004 के बीच उन्‍होंने ओडिशा सरकर के पशुपालन विभाग की जिम्‍मेदारी संभाली.
2004-2009 के बीच मुर्मू ओडिशा के रायरंगपुर से विधानसभा सदस्य थीं.
2006-2009 के बीच वह बीजेपी की एस.टी. मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष रहीं.
उन्‍हें 2007 में सर्वश्रेष्ठ विधायक के लिए ‘नीलकंठ पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया था.
2010 में उन्‍होंने मयूरभंज (पश्चिम) से बीजेपी की जिला अध्यक्ष की कमान संभाली.
2013 से 2015 तक मुर्मू बीजेपी की एस.टी. मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य रहीं.

#2015-2021 के बीच वह झारखंड की गवर्नर रही हैं.

pncb