अखिल भारतीय सुनैना वर्मा मेमोरियल क्रिकेट प्रतियोगिता 18 जनवरी से

पटना (राजेश तिवारी की रिपोर्ट) | पुतुल फाउंडेशन के तत्वावधान में 5वीं अखिल भारतीय सुनैना वर्मा मेमोरियल क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन पटना के राजवंशी नगर स्थित उर्जा स्टेडियम में होगा. यह प्रतियोगिता दिनांक 18 जनवरी से 25 जनवरी तक चलेगा. बृहस्पतिवार को इस प्रतियोगिता के दौरान दी जाने वाली विजेता एवं उपविजेता ट्रॉफी का अनावरण अजय सिंह, संयुक्त आयकर आयुक्त ने किया. टूर्नामेंट आयोजन के सचिव, मनीष वर्मा ने बताया कि इस प्रतियोगिता में देश की चुनिंदा 8 टीमों के बीच मुकाबला होगा. प्रतियोगिता नॉक आउट आधार पर खेली जाएगी. प्रतियोगिता का फाइनल मैच 25 जनवरी को खेला जाएगा. टूर्नामेंट विजेता टीम को 1 लाख रूपये का पुरस्कार दिया जायेगा वहीँ उप-विजेता टीम को 50 हजार रूपये का पुरस्कार दिया जायेगा. प्रतियोगिता में भाग लेने वाली टीमों के नाम हैं – पुतुल फाउंडेशन एकादश, बिहार एकादश, मैकॉन, फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (नई दिल्ली), ऑल इंडिया सर्विसेज, लाल बहादुर शास्त्री क्लब (नई दिल्ली), एयर इंडिया स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड एवं सेंट्रल सेक्रेटेरिएट (नई दिल्ली). प्रतियोगिता का उद्घाटन मैच पुतुल फाउंडेशन एकादश एवं बिहार एकादश के बीच खेला जाएगा तथा प्रत्येक मैच 50-50 ओवरों का होगा. पुतुल फाउंडेशन एक पंजीकृत पब्लिक चैरिटेबल ट्रस्ट है और ट्रस्ट अधिनियम 1882 के तहत एक गैर-लाभकारी संगठन है. टूर्नामेंट का कार्यक्रम – 18/01/2019 – फाउंडेशन एकादश वनाम बिहार एकादश (पहला क्वार्टर फाइनल), 19/01/2019 – मेकॉन वनाम एफसीआई (नई दिल्ली) (दूसरा क्वार्टर फाइनल), 20/01/2019 – विश्राम का दिन 21/01/2019 – ऑल इंडिया सर्विसेज वनाम लाल बहादुर शास्त्री क्लब (नई दिल्ली) (तीसरा क्वार्टर फाइनल), 22/01/2019 – एयर इंडिया स्पोर्ट्स

Read more

‘बाबा’ ने कर दिया है ऐलान… कौन होगा ‘2019 का PM!’

आरा, 13 जनवरी | आरा में एक अजूबे बाबा का अवतरण हुआ है ये बाबा राजनीति के बाबा हैं. बाबा अब कोई भी बयान बिना कथा कहे नही देते हैं. बाबा की खुद की कई कहानियां प्रचलित रही हैं. इसके पहले भी बाबा बयानों से विवादों में बने रहे हैं. हम बात कर रहे हैं भोजपुर जिले के संदेश के राजद विधायक अरुण यादव की. जी हाँ चौंकिए मत हमारे बाबा कहने का मतलब तब साफ होगा जब आप इनके दिए बयान वाले इस वीडियो को देखिएगा. 2019 के PM को लेकर चल रहे अभी से घमासान के बीच जब अरुण यादव से पत्रकारों ने यह पूछा कि देश का आगामी प्रधानमंत्री कौन होगा तो उन्होंने इसका साफ-साफ जवाब देने से पहले एक कथा का वाचन किया जिसमें यह कहा कि एक साधु थे जो जमीन देखते थे. उन्होंने एक जमीन मालिक को मकान बनाने से पहले बताया कि उसके जमीन के लगभग 20 फीट अंदर हड्डी है. इसपर जमीन मालिक ने कहा कि ठीक है उसको निकलवा लिया जाएगा और उस संत के लिए एक कटोरी में दही खाने के लिए लेकर आया. साधु ने दही खाया और कहा कि बाबू दही खट्टा है थोड़ा चीनी लेकर आओ. इसपर जमीन मालिक भड़का और कहा कि आपके कटोरे के गहराई में चीनी है वह नही दिखा और जमीन की गहराई में हड्डी दिख गया. फिर क्या था डंडा लिए उस साधु को पीटने के लिए जमीन मालिक के साथ कई लोग दौड़ पड़े और साधु अपनी जान हथेली पर ले

Read more

तेजप्रताप यादव के इस बयान से आरजेडी में बवाल होना तय

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव लगातार जनता दरबार लगाकर उनकी शिकायतों को सुनने के क्रम में अपने पुराने रंग में लौटने की कोशिश में लगे हैं. इसी क्रम में गुरुवार को वे अपनी पार्टी के ही सीनियर नेता भाई वीरेंद्र से जुड़े एक सवाल पर भड़क गए. इस बात की भनक है कि मनेर से आरेजडी के विधायक और सीनियर नेता भाई वीरेंद्र पाटलिपुत्र सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ना चाहते हैं. जब इसको लेकर तेज प्रताप यादव से सवाल किया गया तो वे भड़क गए. उन्होंने कहा कि पाटलिपुत्र सीट मीसा दीदी का है, भाई वीरेंद्र की क्या औकात है. तेज प्रताप ने कहा कि मीसा भारती अगर चुनाव लड़ती हैं तो वे जरूर जीतेंगी. भाई वीरेंद्र को मंत्री नहीं बनाया गया इसलिए उन्हें घबराहट हो रही होगी. तेज प्रताप ने कहा कि उनकी बहन मीसा भारती रात-दिन मेहनत कर रही हैं. तेज प्रताप ने कहा कि इस बार मीसा भारती को पाटलिपुत्र से उम्मीदवार बनाया जाएगा और वह इस बार चुनाव जरूर जीतेंगी. तेज प्रताप ने कहा कि पाटलिपुत्र की जनता चाहती है कि मीसा भारती ही उम्मीदवार बने और वह खुद भी अपने बहन के समर्थन में पूरी तरीके से खड़े हैं.तेज ने कहा कि वे अपनी बहन को पूरा सपोर्ट करते हैं. गौतलब है कि अभी मीसा भारती राज्यसभा की सदस्य हैं. जब तेज प्रताप से ये पूछा गया कि मीसा राज्यसभा सांसद हैं तो क्या वो पाटलिपुत्र से लोकसभा का चुनाव लड़ेंगी तो उन्होंने कहा कि क्यों नहीं

Read more

सूर्यनन्दन कुशवाहा के निधन से राजनीति और शिक्षा जगत को अपूरणीय क्षति – मुख्यमंत्री

पटना (अरुण की रिपोर्ट) | भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं बिहार विधान परिषद के सदस्य प्रो०सूर्यनन्दन कुशवाहा का शनिवार 29 दिसंबर अहले सुबह ह्रदय-गति रुक जाने से आकस्मिक निधन हो गया. प्रो०सूर्यनन्दन कुशवाहा शुक्रवार को ही श्रीलंका से पटना लौटे थे. पटना वापस आने के बाद वे एक निजी समारोह में भाग लिया था. रात ढाई बजे उन्हें सीने में तेज दर्द हुआ और कुछ ही देर के बाद उनकी मौत हो गई. वे 55 वर्ष के थे. उनकी मौत की सूचना मिलते ही राजनीति गलियारे में शोक की लहर दौड़ पड़ी. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव समेत कई मंत्री व् अधिकारी प्रो०सूर्यनन्दन कुशवाहा के घर पहुँचे और उनके पार्थिव शरीर पर नम आँखों से श्रधांजलि अर्पित की. इन लोगों ने कुशवाहा के परिवार वालों को ढांढस बढ़ाया. प्रो०सूर्यनन्दन कुशवाहा राजनीति के साथ-साथ शिक्षा जगत में भी अपना कृतिमान स्थापित किया था. वे गुरु गोविंद सिंह महाविद्यालय में प्रोफेसर के रूप में कार्यरत रहे थे. उनके अचानक निधन से राजनीति और शिक्षा जगत को अपूरणीय क्षति हुई है. मुख्यमंत्री ने जताया शोक, कहा राजकीय सम्मान के साथ होगा अंतिम संस्कार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विधान पार्षद सूरजनंदन कुशवाहा के असामयिक निधन पर गहरी शोक-संवेदना प्रकट करते हुये उनके प्रति श्रद्धांजलि प्रकट की है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनके आवास पर पहुँच कर उनके परिवार को हरसंभव मदद देने तथा इस दुख की घड़ी में हमेशा साथ रहने की बात कही. मुख्यमंत्री ने कहा कि सूरजनंदन कुशवाहा के निधन के समाचार से

Read more

जल्द ही भोजपुरी को प्राथमिक शिक्षा सिलेबस में लाने की कोशिश करेंगे – शिक्षा मंत्री, बिहार

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | भोजपुरी साहित्यांगन द्वारा बुधवार 26 दिसम्बर को पटना के भारतीय नृत्य कला मंदिर के प्रांगण में स्थित ललितकला अकादमी बहुद्देशीय सांस्कृतिक परिसर में मॉरीशस के उच्चायुक्त जगदीश्वर गोवर्द्धन के सम्मान में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में उच्चायुक्त द्वारा प्राथमिक विद्यालय के विद्यार्थियों के लिए भोजपुरी भाषा की एक पुस्तक, पूर्व प्राथमिक भोजपुरी पाठ्य पुस्तक माला का विमोचन हुआ. इस अवसर पर इस पुस्तक का उपस्थित विद्यार्थियों एवं शिक्षकों के बीच वितरण भी किया गया. यह कार्यक्रम ‘इंडियन डायस्पोरा एंड वर्ल्ड भोजपुरी सेंटर, वर्ल्ड भोजपुरी इंस्टीट्यूट एवं आर्ट एंड कल्चर ट्रस्ट ऑफ़ इण्डिया’ के सहयोग से आयोजित किया गया. पूर्व प्राथमिक भोजपुरी पाठ्य पुस्तक माला  को स्वयं उच्चायुक्त ने प्राथमिक स्तर के बच्चों को उनकी मातृ भाषा भोजपुरी सिखाने के लिए मॉरीशस की टीम द्वारा तैयार करवाया है. भोजपुरी भाषा के उत्थान के लिए वे कटिबद्ध हैं और मॉरीशस से लेकर भारत तक उन्होंने इसके लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है. वे भोजपुरी क्षेत्रों में घूम-घूम कर मातृभाषा के प्रति जागरूकता फैला रहे हैं. उन्हें यह आश्चर्य होता है कि जब मॉरीशस भोजपुरी के लिए इतना कुछ कर सकता है तो भोजपुरी के मूल क्षेत्र में अपनी ही मातृ भाषा के प्रति इतनी उदासीनता और हीनत्व-बोध क्यों है. उनका कहना है कि जबतक हमलोग छोटे छोटे बच्चों को भोजपुरी नहीं सिखाएंगे भोजपुरी का विकास नहीं होगा. दुनिया की कोई संस्कृति और सभ्यता बिना मातृभाषा के अपने को बचा नहीं सकती और न विकास कर सकती है. उन्होंने कहा कि मॉरीशस एवं भारत के भोजपुरी क्षेत्र के

Read more

परसों हाजीपुर, आज दरभंगा | कल किसकी बारी | खौफ में बिहार

पटना / दरभंगा (ब्यूरो रिपोर्ट) | बिहार में हत्याओं का दौर थमता नजर नहीं आ रहा है. शनिवार को दरभंगा में दिन दहाड़े एक और कारोबारी को गोलियों से छलनी कर दिया गया. ऑफिस के लिए निकले एस के शाही कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक के पी शाही पर एनएच 57 पर घात लगाकर बैठे अपराधियों ने हमला किया और उन पर गोलियां बरसा दीं. घायल के पी शाही को स्थानीय लोगों ने अस्पताल में भर्ती कराया जहां डॉक्टरों ने उनको मृत घोषित कर दिया. बिहार में तीन दिनों के अंदर तीसरे कारोबारी की नृशंस हत्या कर दी गई है.    

Read more

शाहजहाँपुर रंग महोत्सव का शानदार आगाज

पहले दिन ही प्रस्तुत 4 नाटकों और 7 नृत्यों ने दर्शको का दिल मोहा शाहजहाँपुर,17 दिसम्बर. पांचवे शाहजहांपुर रंग महोत्सव का शुभारंभ रविवार को शानदार रंग उत्सव के प्रदर्शन से हुआ. कार्यक्रम की शुरुआत संध्या लगभग 6:00 बजे हुई जिसमें देश के कई भागों भागों से पहुंचे कलाकारों ने हिस्सा लिया. दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया. शास्त्रीय नृत्य से कार्यक्रम की शुरुआत हुई. उसके बाद 7 नृत्य और 4 नाटकों की प्रदर्शन की गई, जिसकी प्रस्तुति शानदार रही. कार्यक्रम में कांगड़ा से उत्तम कुमार,मध्य प्रदेश के द्वारिका दहिया,रविंद्र जी, ललिता कुंजू, किरण कश्यप निर्णायक के रूप में पहुंचे हैं जो नाटक और नृत्य का निर्णय करेंगे. निर्णायक मंडल में पहुंचे लोग राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय और शास्त्रीय नृत्य के चर्चित नाम है. नाटक की शुरुआत दिल्ली से आई टीम ने “अत्याचारी औरत” नाटक से की. वहीं मानसी गुरुकुल आर्ट, शाहजहांपुर ने “इंकलाब जिंदाबाद” की प्रस्तुति से काकोरी-कांड की शहादत में शामिल लोगों की जीवनी को जीवंत प्रस्तुति की. तीसरे नंबर पर आरा बिहार से पहुंचे संस्कार कला आश्रम की प्रस्तुति “तेतू” ने मनोशारीरिक शैली में अपने नाटक से दर्शकों पर अपना विशेष प्रभाव छोड़ा. आखरी और चौथे नंबर पर प्रस्तुत नाटक “अरे शरीफ लोग” ने प्रेक्षागृह में उपस्थित दर्शकों हंसा-हंसा कर लोटने पर मजबूर कर दिया. इस नाटक की प्रस्तुति राजस्थान की अलवर से आई टीम ने की. शाहजहांपुर से ओ पी पांडेय की रिपोर्ट

Read more

छात्राओं ने ऐलुमिनाई मीट 2018 में यादें ताज़ा की | नोट्रेडेम एकेडमी, पटना

पटना (अजित की रिपोर्ट) | रविवार को नोट्रेडेम एकेडमी छात्र संघ के तत्वाधान में नोट्रेडेम एकेडमी के पूर्ववर्ती छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का मिलन समारोह 2018 का आयोजन किया गया. इसमे करीब 120 पूर्ववर्ती छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने भाग लिया. सिस्टर बीना, प्रोवेंशियल सुपीरियर सिस्टर टेस्सी एवं नोट्रेडेम एकेडमी की प्रिंसिपल सिस्टर जेस्सी ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उदघाटन किया. ऐलुमिनाई मीट में पूर्ववर्ती छात्र -छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं की नजरें जैसे ही कैम्पस में एक दूसरे से मिली तो सभी गले अपनी पुरानी यादों में खो गये. छोटों ने बड़ो के पैर छूकर आशीर्वाद लिया वहीं बड़ो ने गले लगाकर अभिवादन भी किया. इस दौरान अपनी अपनी यादें साझा करते हुए सभी भावुक हो गए. सबों ने एक दूसरे की वर्तमान गतिविधियों के बारे में जानकर रोमांचित भी होती रही. संघ की अध्यक्ष सुमन चौबे ने कार्यक्रम में शामिल होने आये पूर्ववर्ती छात्र -छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं का आभार जताते हुए कहा कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य यह है पुराने और नए छात्रो के बीच आपसी सामंजस्य पैदा हो तथा सभी लोग सामाजिक गतिविधियों में बढ़ चढ़कर भाग ले. संघ की सचिव सना फहीम ने बताया की इस सत्र में संघ ने छात्राओं, शिक्षक एवं शिक्षिकाओं, और छात्रों के अभिभावकों के लिए स्वास्थ्य शिविर, कैरियर परामर्श इत्यादि का आयोजन किया गया. उन्होंने कहा कि संघ चालू कैलेंडर वर्ष में छात्र छात्राओं, शिक्षकों, सिस्टरों और कर्मचारियों के लिए कई और कार्यक्रम का आयोजन करेगा. कार्यक्रम में नोट्रेडेम एकेडमी स्कूल के लिए लंबे समय तक समर्पित सेवा भाव के लिए

Read more

मिस बिहार 2018 का ऑडिशन शुरू | ‘बेटी बचाओ – दहेज हटाओ’ है इसका थीम

पटना (ब्यूरो रिपोर्ट) | रविवार 16 दिसंबर को ब्‍यू‍टी पीजेंट मिस बिहार 2018 का ऑडिशन पटना में होटल गार्गी ग्रैंड में शुरू हुआ. ऑडिशन के पहले दिन बिहार के विभिन्‍न जिलों से आयीं कंटेस्‍टेंट का जलवा कारपेट पर देखने को मिला. इस दौरान सभी परिचय, डांस, आईक्‍यू टेस्‍ट से ज्‍यूरी मेंबर को रिझाती नजर आयीं. ओसियन विजन द्वारा ‘बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ – दहेज हटाओ’ अभियान’ के तहत आयोजित मिस बिहार 2018 के ऑडिशन में आज 110 कंटेस्‍टेंट ने हिस्‍सा लिया, जबकि इस बार मिस बिहार के लिए 900 कंटेस्‍टेंट ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन कराया है. ऑडिशन सोमवार को भी जारी रहेगा. ये जानकारी ओसियन विजन के डायरेक्‍टर प्रवीण सिन्‍हा ने दी. उन्‍होंने बताया कि मिस बिहार 2018 के ऑडिशन राउंड में ज्‍यूरी मेंबर में मिस मिस बिहार 2017 सान्‍या राज, फर्स्‍ट रनर अप मिस बिहार 2017 रूपाली, फैशन कोरियोग्राफर मनीष चंदेश, डांस कोरियोग्राफर अनिल राज और फैशन डिजाइनर आशीष अग्रवाल हैं, जिन्‍होंने ऑडिशन में सभी कंटेस्‍टेंट से खूबसूरती, कम्यूनिकेशन स्किल, आई क्यू, पर्सनालिटी के पैमाने पर कई सवाल पूछे. प्रवीण ने बताया कि मिस बिहार 2018, मिस बिहार का यह 12वां सीजन है, जहां बिहार की बेटियां अपने टाइलेंट का जलवा बिखेर रही हैं. ऑडिशन के पहले दिन मुकाबला नेक टू नेक देखने को मिल रहा है. उन्‍होंने बताया कि रूफ फाउंडर इस इवेंट को सोशल सपोर्ट दे रहा है और स्‍पांउसर अन्‍नू अनांद कंस्‍ट्रक्‍शन है. मिस बिहार 2018 का फिनाले दिसंबर के अंतिम सप्‍ताह में संभावित है, जिसमें मिस इंडिया, मिस बिहार 2017 के अलावा बॉलीवुड और फैशन इंडस्‍ट्री

Read more

“बेबी शो प्रोग्राम” का आयोजन; थिरके बच्चे और उनके पेरेंट्स

पटना (निखिल के डी वर्मा की रिपोर्ट) | अल्पना मार्केट, पाटलिपुत्रा के समीप स्थित एएच आईवीएफ सेंटर में बेबी शो प्रोग्राम हुआ। पटना सेंटर पर यह तीसरी बार आयोजित किया गया. ज्ञातव्य है डॉ० जयाश्री भट्टाचार्य के नेतृत्व में 27 जुलाई 2003 से पटना में एएच आईवीएफ सेंटर का सञ्चालन किया जा रहा है. यहां आईवीएफ ट्रीटमेंट किया जाता है. इन 15 वर्षों में डॉ.भट्टाचार्य के इस सेंटर से सैकड़ों नि:संतान दंपतियों को संतान सुख की प्राप्ति हुई है. डॉ०भट्टाचार्य ने इंग्लैंड में 20 साल तक स्त्री रोग विशेषज्ञ के रूप में काम किया है. वे डॉक्टरों के उस टीम की भी सदस्य रही है जिसके प्रयास से विश्व में सर्वप्रथम 1978 में कैंब्रिज, ब्रिटैन में प्रथम टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म हुआ था. उस प्रथम टेस्ट ट्यूब बेबी का नाम लोईस ब्राउन था. कुछ दिनों पहले लोईस ब्राउन ने भी नार्मल डिलीवरी से एक स्वस्थ बेबी को जन्म दिया है. रविवार को एएच आईवीएफ सेंटर, पटना में बच्चों और उनके परेंस्ट ने जमकर मस्ती की. डांस ट्रूप ने भी फ़िल्मी गानों पर डांस से उपस्थित लोगों एवं बच्चों को थिरकने पर मजबूर कर दिया. इस अवसर पर सेंटर द्वारा बच्चों को आकर्षक खिलौने भी दिए गए. प्रोग्राम की शुरुआत गणेश वंदना से हुई जिसे डांस ट्रूप ने प्रस्तुत किया. उसके बाद फिल्मी धुनों पर पेरेंट्स के साथ बच्चों ने भी धमाल मचाया. इस अवसर पर सेंटर की ओर से फोटो सेशन, रक्तदान एवं उपस्थित बच्चों की मुफ्त जांच हुई. एएच आईवीएफ सेंटर के इस प्रोग्राम में पटना नगर की मेयर

Read more