BJP के बंद से ठप हुआ शहर

सड़क पर उतरे भाजपा कार्यकर्ता, बंद करायी दुकानें

बक्सर में विद्युत कर्मियों के खिलाफ भाजपा का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है. घटना के सातवें दिन भाजपाई सड़क पर न्याय की मांग को लेकर डेरा डाले हुए हैं. इस आंदोलन में नेता प्रतिपक्ष से लेकर स्थानीय सांसद भी पहुंच चुके हैं. मामला दिन-प्रतिदिन तूल पकड़ते जा रहा है. भाजपा ने जहां पुलिस प्रशासन पर विद्युत कर्मियों और अधिकारियों को बचाने का आरोप लगाया है. वहीं पुलिस मूकदर्शक बनी हुई है. गुरुवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने बक्सर बंद किया. कार्यकर्ताओं ने सुबह करीब आठ बजे से हीं शहर में भ्रमण कर दुकाने बंद करने की अपील किया. कार्यकर्ताओं ने कहा कि जब तक अधिकारियों की गिरफ्तारी नहीं हो जाती तब तक आंदोलन किया जाएगा.





आज केवल बक्सर बंद किया गया है. अगर गिरफ्तारी नहीं हुई तो पूरे जिले में पहले चक्का जाम किया जाएगा. जिलाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह ने कहा कि आज बक्सर बंद किया गया है. कार्रवाई नहीं हुई तो पूरे राज्य में चक्का जाम किया जाएगा. वहीं गुरुवार को भी भाजपाई विद्युत कार्यालय के गेट पर धरना पर बैठे हुए हैं. भाजपा नेताओं का कहना है कि लाठी के बल पर कब तक उनकी आवाज को यूं ही दबायी जाती रहेगी. दोषी अभियंताओं और कर्मियों की गिरफ्तारी व निलंबन की मांग पर अड़े हुए हैं. धरना की अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह ने कहा कि न्याय जब तक नहीं मिलेगा. यूं ही सड़क पर हम लोग आंदोलन करते रहेंगे.

कार्यकर्ताओं को देखते ही दुकानदारों ने बंद की दुकानें

बक्सर बंद को लेकर भाजपा ने जब सड़क पर उतरे तो दुकानदारों ने अपनी दुकाने बंद कर दी. कार्यकर्ताओं को देखते ही दुकानदारों में हडकंप मच गयी. कार्यकर्ताओं ने पहले दुकानदारों से दुकाने बंद करने की अपील की. उसके बाद पुलिस चौकी पर कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम कर बैठ गये. कार्यकर्ताओं ने अधिकारियों की गिरफ्तारी की मांग की. वहीं जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. कार्यकर्ताओं जैसे जैसे सूरज निकलता गया वैसे वैसे कार्यकर्ता बढ़ते गये. धीरे-धीरे कार्यकर्ता के मुख्य मार्ग को जाम कर गिरफ्तारी की मांग करने लगे.

बक्सर से ऋतुराज

ये भी पढ़ें-